Internet and web page designing

HTTP

1. HTTP- यह इंटरनेट पर सूचनाओ को स्थानांतरित करने का एक प्रोटोकाॅल है। इसका पूरा नाम हाइपरटैक्स्ट ट्रांसफर प्रोट्रोकाॅल है। इसी प्रोट्रोकाॅल के उपयोग ने बाद मे वर्ल्ड वाइड वेब को जन्म दिया था। इस प्रोट्रोकाॅल का विकास वर्ल्ड वाइड वेब कोंसोर्टियम तथा इंटरनेट इंजीनियरिंग टास्क फोर्स ने सम्मिलित रूप से किया था।
यह एक स्टैण्डर्ड इंटरनेट प्रोटोकॉल है । यह वेब ब्राउजर जैसे माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट एक्सप्लोरर और वेब सर्वर जेसे माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट इनफाॅर्मेशन सर्विसेस (IIS)  के बीच क्लाइंट/सर्वर इंटरेवशन प्रोसेस (आदान-प्रदान की
प्रक्रिया ) को स्पेसीफाय (वर्णित) करता है।
वास्तविक हाहपरटैक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल 1.0 एक स्टेटलेस (अवस्था रहित) प्रोटोकाॅल है, जिसके द्वारा वेब ब्राउजर वेब सर्वर से कनेक्शन (जुड़ता) करता है व उपयुक्त फाइल को डाउनलोड करता है ओर फिर कवेवशन खत्म करता है। ब्राउजर सामान्यतया एक फाइल के उपयोग के लिए HTTP से रिक्वेस्ट करता है। GET मेथड TCP पोर्ट 80 पर रिक्वेस्ट करती है, जिसमे HTTP रिक्वेस्ट हेडर की सीरीज होती है, जो ट्रांजेक्शन मेथड (GET, POST, HEAD) इत्यादि को परिभाषित करती है और साथ ही सर्वर को क्लाइंट की क्षमता को बताती है। सर्वर HTTP रिस्पोन्स हेडर की सीरीज को रिस्पोन्स देता है, जो दर्शाता है कि ट्रांजेक्शन सफल रहा है कि नहीं, किस प्रकार डेटा भेजा गया है, सर्वर का प्रकार और जो डेटा भेजा गया था, इत्यादि IIS 4 प्रोटोकॉल के उस नए वर्जन को सपोर्ट करता है, जिसे HTTP 1.1 कहा गया। नए गुणी के कारण यह ज्यादा सक्षम है।

Add Comment

Click here to post a comment

अति आवश्यक सूचना

यदि आपको कंप्यूटर विषय से सम्बंधित कोई नोट्स नहीं मिल रहे हैं तो हमें सूचित करें

Request Form / निवेदन फॉर्म 

जिनके नोट्स बन गए हैं वो अपने नोट्स नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं
Requested notes / अनुरोध किए गए नोट 

CPCT Computer Objective Questions