Introduction of operating system

ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर प्रोग्रामो का सेट होता है ,जो कम्प्यूटर की समस्त क्रियाओ का एक सेट होता है जो कंप्यूटर की समस्त क्रियाओ को संचालित व नियंत्रित करता है|

कंप्यूटर सिस्टम के विभिन्न हार्डवेयर उपकरण स्वयं अपने बल पर कार्य नहीं कर सकते और न ही एक दूसरे से तालमेल स्थापित कर सकते है ये सभी उपकरण ऑपरेटिंग सिस्टम द्धारा दिये जाने वाले इलेक्ट्रोनिक सिग्नलों के द्धारा संचालित होते है ,जिस प्रकार आर्केस्ट्रा में म्यूजिक आर्गेनाइजर  के इशारे पर विभिन्न वादक वाद्य बजाते है और एक समूहिक प्रस्तुति देते है, ठीक उसी प्रकार ऑपरेटिंग सिस्टम के द्धारा दिये जाने वाले सिग्नलों के अनुसार कंप्यूटर के उपकरण अपना अपना कार्य करते हुए सयुक्त रूप से किसी निश्चित कार्य को पूरा करते है |

इसके अतिरिक्त OS यूजर और कंप्यूटर के बीच इंटरफेस भी उपलब्ध कराता है | अर्थात हम कंप्यूटर को आवश्यक कमांड ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से ही देते है और कंप्यूटर द्धारा दिये जाने वाले आउटपुट भी ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से ही आउटपुट डिवाइस तक पहुचते  है|

Operating system (OS) एक System software है जो कि computer के software और hardware service  के resources को manage करता है और common service प्रदान करता है | operating system कंप्यूटर के memory और processing को manage करता है | OS stands for Operating system. यह एक system software है जो की computer hardware and software resources को manage करने के साथ साथ computer programs को common service provide करता है | कोई भी machine बिना OS  के run नहीं हो सकती क्योकि operating system machine का most important program है जो की सभी basic और important tasks जैसे keyboard के input recognizing करना, output को display screen पर भेजना, disk पर files and directories को manage करना,  और  सभी parts से communicate करना शामिल है | सभी general-purpose computer पर programs and applications को run  और  manage करने के लिए operating system होना जरुरी है |

Operating system के बिना computer useless है

Operating system का एक उदाहरण Microsoft Windows 7 , 8 तथा XP है |

Operating system का प्रथम बार उपयोग सन् 1961 में हुआ था |

Functions के operating system:-
Operating system के तीन मुख्य function होते है :-

1:- Operating system कंप्यूटर तथा user के मध्य interface उपलब्ध करता है |
2:- Computer resources जैसे – central processing unit (CPU) memory , disc drive और printer को manage करता है |
3:- Application software के लिए execute services प्रदान करता है |

Operating system के कुछ अन्य functions निम्नलिखित है |

  • Operating system एक resources manager की तरह कार्य करता है जो की hardware और software resources को controlling और allocating करने का कार्य करता है |
    • ऑपरेटिंग सिस्टम constant application program की तरह interface करता है | जब आप एक computer पर application बनाते है तो उसे आप किसी दूसरे computer पर भी चला सकते है |
    • जब हम किसी device driver को computer से जोड़ते है तो operating system इसे कण्ट्रोल करता है |
    • यह command interpreter की तरह कार्य करता है |
    • यह memory में allocation और reallocation का कार्य करता है |
    • Input तथा output ऑपरेशन का कार्य करता है |
    • Ensuring controlled access के साधन को सुरक्षा प्रदान करता है |
    • Computer में local और remote files के स्थान को control करता है |
    • Operating system का एक और कार्य security उपलब्ध कराना है |

Classification of Operating systems

  1. Multi-User: इस type के OS मे दो या ज्यादा users को same time पर programs run करने की                            capacity होती है
  2. Multiprocessing: इस type के OS मे एक program एक से ज्यादा CPU पर run हो सकता है |
  3. Multitasking : एक से ज्यादा program concurrently run हो सकते है |
  4. Multithreading: एक program के different parts concurrently run हो सकते है |
  5. Real Time: Responds to input instantly

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *