कैसे करें

अपनी टाइपिंग की गति को कैसे बढाएं

अपनी टाइपिंग की गति को कैसे बढाएं (How to increase your typing speed)

टाइपिंग अब एक कला की तरह उभर रही है, इसमें जितनी आप मेहनत करेंगे उतना अच्छा आपको परिणाम प्राप्त होगा| टाइपिंग अब कई सारी नौकरियों में एक जरुरी कौशल के रूप में माँगा जाने लगा है| इसलिए यही आप अपने काम में अधिक कुशल बनना चाहते हैं तो आपको अपनी टाइपिंग की गति में सुधर करना पड़ेगा| इस बाद का हमेशा ध्यान रखें की टाइपिंग की स्पीड एक दिन में नहीं बढ़ने वाली इसलिए आपको निरंतर अभ्यास करने के लिए अपने आपको प्रतिबद्ध करना पड़ेगा|

औसत टाइपिंग गति लगभग 35-40 शब्द प्रति मिनट है, सबसे तेज टाइपिंग गति के लिए विश्व रिकॉर्ड स्टेला पायजुनास के पास है, जिनकी आईबीएम के इलेक्ट्रिक टाइपराइटर पर टाइपिंग की गति 216 शब्द प्रति मिनट थी|

ध्यान रहे की टाइपिंग में तेजी से ज्यादा जरुरी उसका सटीक होना अति आवश्यक है, तो आप जब भी टाइपिंग का अभ्यास कर रहे हैं तो आपको अपनी सटीकता का भी ध्यान रखना पड़ेगा| यदि आपकी टाइपिंग की सटीकता अच्छी नहीं है तो तेजी किसी काम की नहीं रहेगी| आपको हमेशा तेज और सटीक टाइपिंग के लिए सोचना चाहिए|

टाइपिंग के लिए आपकी बैठने की मुद्रा

  • आपको ये याद रखना चाहिए की आप सीधे बैठे हों और आपकी पीठ भी सीधी हो|
  • अपनी कोहनी को थोडा दायें कोण पर झुकाएं रहना चाहिए।
  • स्क्रीन की तरफ आपका सिर थोडा आंगे तरफ झुका होना चाहिए|
  • अपनी आंखों और स्क्रीन के बीच कम से कम 45 – 70 सेमी दूरी रखें।
  • आपकी कलाई अगर कीबोर्ड के पास टेबलटॉप को छू रही है तो उसमे कोई समस्या नहीं है है।
  • अपने शरीर के वजन को आंगे तरफ न झुकाएं अर्थात वजन को अपनी कलाइयों तक ना ले जाएँ|

होम पंक्ति की स्थिति

अपनी उँगलियों को थोडा सा घुमाव देकर टेढ़ा करें और उन्हें ASDF और JKL; कीस जो की कीबोर्ड की मध्य पंक्ति में स्थित हैं पर रखें, इस पंकित को होम रो (Home Row Keys) कहते हैं| ऐसा इसलिए क्यूंकि आप हमेशा इन कीस से शुरुवात करते हैं और हर अक्षर को टाइप करने के बाद वापिस भी इन्ही कीस पर आते हैं|

कीबोर्ड टाइपिंग पद्धति

नीचे दिया गया रंग-कोडित कीबोर्ड आपको यह समझने में मदद करेगा कि कौन सी ऊँगली किस कीस (Key) को दबाएगी|

टाइपिंग करते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें

  • केवल उन अंगुलियों के साथ कुंजी दबाएं जिनके लिए वे आरक्षित हैं।
  • हमेशा कोई भी अक्षर टाइप करने के बाद सभी उँगलियों को होम रो कीस की स्थिति पर पहुचाएं|
  • टाइप करते समय कीबोर्ड पर हर कीस के सही स्थान की कल्पना करें|
  • टाइप करते समय ताल (rhythm) स्थापित करें और बनाए रखें। आपके हर की स्ट्रोक के बीच अंतराल बराबर होना चाहिए।
  • SHIFT कुंजी को हमेशा दुसरे हाथ की कनिष्ठ उंगली से दबाएँ, अर्थात पहले हाथ की उँगलियों से आपको कोई कुंजी दबा रहे हैं तो SHIFT कुंजी दुसरे हाथ की कनिष्ठ उंगली से दबाएँ|
  • स्पेस बार कुंजी को दबाने के लिए आप किसी भी अंगूठे का प्रयोग कर सकते हैं, जो आपके लिए सुविधाजनक हो|

उँगलियों की गति

  • जब आप टाइप करते हैं तो कुंजियों की तरफ न देखें। बस अपनी अंगुलियों को तब तक स्लाइड करें जब तक आप वापिस होम पंक्ति कुंजियों तक न पहुँच जाए।
  • किसी भी कुंजी को दबाने के लिए अपने हांथों और उँगलियों को जितना कम इधर उधर करने की जरुरत पड़े उतना ही करें|
  • अपने हांथों और और उँगलियों को हमेशा होम पंक्ति कुंजियों के करीब ही रखें| यह आपके टाइपिंग की गति को बदने में मददगार होता है और हांथों पर तनाव को कम करता है|

टाइप करने की गति

जब आपने अभी टाइपिंग सीखना शुरू किया है तो ज्यादा गति में टाइप करना की होड़ में मत लगें| जब आपका बहुत अभ्यास हो जाये और कुंजियों पर आपकी ऊँगली स्वत: ही जाने लगे तभी अपनी गति को बढ़ाने के बारे में सोंचें| आराम से टाइप करें जिससे गलतियाँ कम से कम हो पायें, टाइपिंग स्पीड तो अपने आप बढ़ जाएगी| टाइप करने के पहले आंगे के 2 या 3 शब्द पहले से सोच या पड़ लें|