कंप्यूटर सामान्य ज्ञान फटाफट

Computer GK Short Notes Part 11

कंप्यूटर के फटाफट नोट्स भाग – 11

  • Client प्रोग्राम को Front end प्रोग्राम भी कहा जाता है।
  • Client Server Architecture में सभी फाइले Server में संग्रहित रहती है।
  • डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड डाटा बेस प्रणाली में प्रयोग होने वाले कम्‍प्‍यूटर को Site कहा जाता हैं।
  • Robotics यह कम्‍प्‍यूटर आर्टिफिशीयल इंटेलीजेंस की ही एक शाखा है।
  • आर्टिफिशीयल इंटेलीजेंस का आरंभ 1950 से हुआ था।
  • हमारे मस्तिष्‍क में करोंडो Neurons का नेटवर्क होता है।
  • Simulation Technique से मानव मस्तिष्‍क की आभासी प्रतिमा बनाई जा सकती है।

 

  • रोबोट प्रणाली Expert System पर कार्य कर जोखिमों को कम करती है।
  • एक Expert System एक विषय से संबंधित कार्य के लिए प्रयोग होती है।
  • Expert System को Knowledge Based System भी कहा जाता है।
  • जिस System में if-else का बहुत अधिक प्रयोग होता है, उसे Rule Based System कहते है।
  • Mysic एक्‍सपर्ट प्रणाली रक्‍त में संक्रमण के उपचार के लिए बनाई गई है।
  • Knowledge Engineering का कार्य Expert System के लिए आवश्‍यक जानकारियों पर प्रक्रिया करना होता है।

 

  • Alan Turing को Artificial Intelligence का जनक कहा जाता है।
  • प्रणाली के कार्य के बोझ के अनुसार बढ़ने की क्षमता को Scalability कहा जाता है।
  • Computer Cluster में प्रत्‍येक कम्‍प्‍यूटर एक दूसरे से RJ-45 से जोड़े जाते है।
  • Computer Cluster में Distributed System तकनीक का प्रयोग होता है।
  • Computer Cluster का प्रयोग LAN के लिये किया जाता है ।
  • Pace Expert System इलेक्‍ट्रानिक सर्किट बोर्ड के डिजाइन के लिए बनाया गया है।

 

  • Symbolic and numeric processing के लिए Artificial Intelligence तकनीक का प्रयोग किया जाता है।
  • डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम प्रोसेसर का समूह होता है।
  • डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम प्रोसेसर कम्‍प्‍यूनिकेशन नेटवर्क द्वारा एक दूसरे से जुड़े होते है।
  • डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम प्रत्‍येक प्रोसेसर की मेमोरी होती है।
  • सीमित संसाधनो की साझेदारी और विशेष सॉफ्टवेयर एवं वितरित कंट्रोल ये सभी डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम की विशेषता होती है।

 



  • किसी सर्वर में संग्रहित विभिन्‍न वेबपेजों को, विभिन्‍न प्रयोगकर्ता अपने कम्‍प्‍यूटर में आसानी से देख सकते है, यह कार्य डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम प्रणाली के कारण संभव होता है।
  • प्रयोगकर्ताओं एवं संसाधनों को एक दूसरे से आसानी से जोड़ना डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम का एक मुख्‍य उद्देश्‍य होता है।
  • डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम में Access Transparency, Concurrency Transparency एवं Location Transparency का उपयोग होता है।
  • एक प्रयोगकर्ता को यह पता नहीं होता है कि अन्‍य प्रयोगकर्ता भी उसी डाटा को प्राप्‍त कर रहा है इस सुविधा को Replication Transparency कहा जाता है।

 

  • Client Server Architecture डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम प्रणाली की एक संरचना होती है।
  • Tire Architecture डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम प्रणाली की एक संरचना होती है।
  • Peer to Peer Architecture डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड प्रणाली की एक संरचना होती है।
  • Client-Server Architecture में जिस हिस्‍से को यूजर प्रयोग करता है, उसे Client कहते है।
  • GUI के माध्‍यम से डाटा की मांग करना Client सर्वर का एक कार्य होता है।
  • डिस्‍ट्रीब्‍यूटेड सिस्‍टम में एक प्रयोगकर्ता द्वारा फाइल पर किया गया काम दूसरे प्रयोगकर्ता को पता नही चलना चाहिए इस सुविधा को Concurrency Transparency कहा जाता है।

 

  • Peer to Peer में प्रत्‍येक कम्‍प्‍यूटर को Node कहा जाता है।
  • Peer to Peer संरचना से प्रबंधित करना आसान होता है।
  • Client-Server Model यदि सर्वर बंद हो जाये तब संपूर्ण नेटवर्क ठप्‍प हो जाता है।
  • एप्‍लीकेशन के जिस हिस्‍से को प्रयोगकर्ता प्रयोग करता है, उसे Client कहा जाता है।
  • Failure Transparency में एक समस्‍या का प्रभाव दूसरे प्रयोगकर्ताओं पर नहीं पड़ता है।
  • 3-tier Architecture में मुख्‍य रूप से तीन घटक होते है।

सिलेबस के अनुसार नोट्स
DCA, PGDCA, O Level, ADCA, RSCIT, Data Entry Operator
यहाँ क्लिक करें