सी++ प्रोग्रामिंग

C++ एक मध्यम स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा (Medium Level Programming Language) है। जिसे 1980 की शुरुआत में बेल लेबोरेटरीज में किया गया, सी + + प्रोग्रामिंग भाषा का विकास बजर्नी स्त्रौस्त्रूप(Bjarne Stroustrup) ने किया था। यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ‘C प्रोग्रामिंग भाषा‘ (C Programming Language) पर आधारित है। यह पहले से उपलब्ध C प्रोग्रामिंग भाषा का एक उन्नत रूप है, जिसे हम C ++ प्रोग्रामिंग भाषा के रूप में जानते है।
नीचे सी++ प्रोग्रामिंग से सम्बंधित नोट्स दिए गए हैं हम आशा करते हैं की आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आयेगी|

Type Conversion

किसी व्‍यंजक में जब Constructor या Variable अलग-अलग प्रकार के use किये जाते हैं। तब C और C++ में basic operator स्‍वत: ही convert हो जाते हैं, इसी प्रकार Assignment …

Type Conversion Read More »

Inline Functions in C++

फंक्शन निर्देशों का समूह होता हैं जिसे इसके नाम के द्वारा अन्‍य फंक्शन में Call किया जाता हैं। जिस फंक्शन में फंक्शन (Function) को Call किया जाता हैं, वह Calling …

Inline Functions in C++ Read More »

ऐरे (Array) क्या होता है?

एक जैसे data के समूह को Array कहते हैं। जो Computer की Memory में क्रमबद्ध Memory Location में संग्रहित रहते हैं। यह एक प्रकार का data structure होता हैं जिसमें …

ऐरे (Array) क्या होता है? Read More »

पॉइंटर्स और फंक्शन

Pointer to Function Function Declaration में Pointer का प्रयोग होता हैं। Pointer के प्रयोग से कठिन फंक्शन को असानी से Define एवं Access किया जा सकता हैं। फंक्शन Definition में …

पॉइंटर्स और फंक्शन Read More »

पॉइंटर्स क्या है?

पॉइंटर एक विशेष प्रकार का वेरिएबल होता है, जिसका उपयोग दूसरे वेरिएबल या ऑब्जेक्ट के एड्रेस को स्टोर करने के लिए किया जाता है। Pointer Variable Address को प्रदर्शित करने …

पॉइंटर्स क्या है? Read More »

C और C++ प्रोग्रामिंग में फंक्शन्स

फंक्शन (Function) in C++ C++ में C language के सभी inbuilt Function का प्रयोग किया जा सकता हैं तथा User अपने अनुसार भी फंक्शन (Function) का निर्माण कर सकता हैं …

C और C++ प्रोग्रामिंग में फंक्शन्स Read More »

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन (Library files and In-Built Functions) ‘सी’ प्रोग्रामिंग भाषा में दो प्रकार के फंक्शन प्रयोग किए जाते हैं। प्रथम प्रयोगकर्ता द्वारा फंक्शन एवं द्वितीय बिल्ट-इन-फंक्शन जैसे- scanf(), …

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन Read More »

C++ प्रोग्रामिंग में कन्ट्रोल फ्लो स्टेटमेंट्स

C++ प्रोग्रामिंग में कन्ट्रोल फ्लो स्टेटमेंट्स Control Flow Statements in C++ Programming प्रोग्राम Structure का समूह होता हैं। Structure प्रोग्राम में Row Wise लिखे जाते हैं परन्‍तु Execution के समय …

C++ प्रोग्रामिंग में कन्ट्रोल फ्लो स्टेटमेंट्स Read More »

error: Content is protected !!