सी++ प्रोग्रामिंग

C++ एक मध्यम स्तरीय प्रोग्रामिंग भाषा (Medium Level Programming Language) है। जिसे 1980 की शुरुआत में बेल लेबोरेटरीज में किया गया, सी + + प्रोग्रामिंग भाषा का विकास बजर्नी स्त्रौस्त्रूप(Bjarne Stroustrup) ने किया था। यह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ‘C प्रोग्रामिंग भाषा‘ (C Programming Language) पर आधारित है। यह पहले से उपलब्ध C प्रोग्रामिंग भाषा का एक उन्नत रूप है, जिसे हम C ++ प्रोग्रामिंग भाषा के रूप में जानते है।
नीचे सी++ प्रोग्रामिंग से सम्बंधित नोट्स दिए गए हैं हम आशा करते हैं की आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आयेगी|

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन (Library files and In-Built Functions) ‘सी’ प्रोग्रामिंग भाषा में दो प्रकार के फंक्शन प्रयोग किए जाते …

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन Read More »

C++ प्रोग्रामिंग में कन्ट्रोल फ्लो स्टेटमेंट्स

C++ प्रोग्रामिंग में कन्ट्रोल फ्लो स्टेटमेंट्स Control Flow Statements in C++ Programming प्रोग्राम Structure का समूह होता हैं। Structure प्रोग्राम …

C++ प्रोग्रामिंग में कन्ट्रोल फ्लो स्टेटमेंट्स Read More »

C++ प्रोग्रामिंग में मेमोरी मैनेजमेंट ऑपरेटर

C++ प्रोग्रामिंग में मेमोरी मैनेजमेंट ऑपरेटर Dynamic Memory Allocation जब हम C++ प्रोग्राम में कोई भी वेरिएबल डिक्लेअर करते हैं …

C++ प्रोग्रामिंग में मेमोरी मैनेजमेंट ऑपरेटर Read More »

error: Content is protected !!