Category - सी प्रोग्रामिंग


सी प्रोग्रामिंग सी++ प्रोग्रामिंग

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन

लाइब्रेरी फाइल एवं बिल्ट-इन-फंक्शन (Library files and In-Built Functions) ‘सी’ प्रोग्रामिंग भाषा में दो प्रकार के फंक्शन प्रयोग किए जाते हैं। प्रथम...

सी प्रोग्रामिंग

Variables in C

Variable एक identifier होता है जो किसी program के किसी भाग में ही ख़ास तरह की सूचना को दर्शाने के लिए प्रयोग किया जाता है | Variable को हम एक container के रूप...

सी प्रोग्रामिंग सी++ प्रोग्रामिंग

प्रोग्राम का कंपाइलेशन और एग्जीक्यूशन

किसी भी Language में Program को Type करने के बाद उसमें लिखे गये Instruction को Computer के समझने योग्‍य बनाने के लिये उसे मशीनी Language में Convert (बदलना)...

सी प्रोग्रामिंग सी++ प्रोग्रामिंग

Data Type in C and C++

जब भी हम किसी भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में कोई प्रोग्राम बनाते हैं और उस प्रोग्राम में हमें कोई वैल्यू यूजर से लेकर स्टोर करनी होती है तो उसे में वेरिएबल में...

सी प्रोग्रामिंग

Data Types in C language

एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में जिस तरह का डाटा वेरिएबल में रखा जा सकता,उसे ही डाटा टाइप्स कहा जाता है | डाटा टाइप्स कई तरह के होते है जैसे integer, character...

सी प्रोग्रामिंग

Types of Variable in C Language

Variable Scope in C Programming Language कोई वेरिएबल पूरे प्रोग्राम में कहाँ-कहाँ  प्रयोग किया जा सकता है। ये उसका स्कोप होता है। स्कोप के अनुसार वेरिएबल्स को...

सी प्रोग्रामिंग

Keywords in C Language

एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में (जैसे-C) का कम्पाइलर डिज़ाइन करते समय कुछ शब्द, ख़ास कार्यो के लिए रिजर्व्ड कर लिए जाते  है | इन वर्ड्स को कीवर्ड्स या रिज़र्व वर्ड्स...