Operating System Windows

Disk Defragmenter

डिस्क डिफ्रेगमेंटर (Disk Defragmenter):-windows में accessories में system tool उपसमूह में दी गई इस सुविधा का उपयोग हार्ड डिस्क में संगृहित फाईलो तथा डिस्क के रिक्त स्थानों को व्यवस्थित करने के लिए किया जाता है ,फाइल का डिस्क के अलग अलग स्थान पर खंडो में संगृहित होना फ्रेगमेंटेशन(fragmentation) कहलाता है जब हम एक नए डिस्क ड्राइव का उपयोग करना आरम्भ करते है तो संगृहित की जाने वाली फाईले और फोल्डर व्यवस्थित तरीके से लगातार मेमोरी ब्लॉक्स (memory blocks) में संगृहित होते है लेकिन कार्य करते करते कुछ समय बाद जब हम बनायीं गयी फाईलो एवं फोल्डरो की उपयोगिता ख़त्म होने के बाद अनुपयोगी फाईलो एवं फोल्डरो को डिलीट करते जाते है तो हार्ड डिस्क में बीच-बीच में डिलीट की गई फाईलो के मेमोरी स्थान रिक्त हो जाते है इसके बाद नयी फाईले बनाये जाने पर उन्हें संगृहीत करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे पहले इनके  बीच के खाली स्थानों में  मेमोरी ब्लाक  देखने का प्रयास करता है जिससे  एक ही स्थान पर पूरी फाईले संगृहित की जा सके।जब पर्याप्त आकार का ब्लाक नहीं मिलता तब  ऑपरेटिंग सिस्टम उपलब्ध ब्लाक में से सबसे बड़े ब्लाक में फाईल का जितना संभव हो सके उतना हिस्सा संगृहित कर देता है | तथा फाईल के बचे हुए भाग को  अगले खाली ब्लाक  में ले जाता है इस प्रकार बड़े आकार की फाईले टुकडो में कई स्थानों पर बट जाती है | यह फ्रेगमेंटेशन  डिस्क में इनपुट आउटपुट की प्रक्रिया को धीमा कर देता है क्योकि हर बार किसी फाइल को खोलने या बंद करने पर ऑपरेटिंग सिस्टम को उसे एक या एक से अधिक स्थानों से उठाना पड़ता है या एक से अधिक स्थानों पर रखना पड़ता है यह स्थिति डिस्क की कार्य क्षमता को कम कर देती है |

यह एक सिस्टम टूल है। इसकी सहायता से डिस्क को Defragment करते है अर्थात डिस्क में फैली फाइल्स को व्यवस्थित किया जाता है जिससे कम्प्यूटर की स्पीड तेज हो जाती है। इस टूल का प्रयोग कम्प्यूटर में पंद्रह दिन में एक बार जरूर करना चाहिये।

Disk Defragmenter का प्रयोग करना:-

Start-all Programs -Accessories -System Tool -Disk Defragmenter

इस विंडो में जिस drive को Defragment करना होता है। उस drive को सिलेक्ट करते है। इसके बाद Defragment Button पर क्लिक करते है। Defragment होने के पहले Drive को एनालिसिस किया जाता है इसके बाद Defragment होता है।

इसमें चार कलर होते है जो disk में फाईल एवं  स्पेस की position को दर्शाते है ।

लाल कलर Red Color):- defragment files  दर्शाता है।

नीला कलर (Blue Color) :- Continuous Files को दर्शाता है।

हरा कलर (Green color) :- unmovable files को दर्शाता है।

सफेद कलर (White Color) :- Free Space को दर्शाता है।

Add Comment

Click here to post a comment

अति आवश्यक सूचना

यदि आपको कंप्यूटर विषय से सम्बंधित कोई नोट्स नहीं मिल रहे हैं तो हमें सूचित करें

Request Form / निवेदन फॉर्म 


जिनके नोट्स बन गए हैं वो अपने नोट्स नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं
Requested notes / अनुरोध किए गए नोट 

CPCT Computer Objective Questions