सी++ प्रोग्रामिंग

C++ प्रोग्रामिंग में मेमोरी मैनेजमेंट ऑपरेटर

C++ प्रोग्रामिंग में मेमोरी मैनेजमेंट ऑपरेटर

Dynamic Memory Allocation

जब हम C++ प्रोग्राम में कोई भी वेरिएबल डिक्लेअर करते हैं तो प्रोग्राम एक्सीक्यूट होने के पहले ही कम्पाइलर और ऑपरेटिंग सिस्टम मेमोरी में हमारे वेरिएबल के लिए स्पेस allocate कर देते हैं और जब प्रोग्राम समाप्त हो जाता है तो allocate हुई मेमोरी स्वतः ही डिलीट हो जाती है,  पर अगर हम चाहते हैं यह सब पर भी हमारा कण्ट्रोल हो तो अर्थात जब प्रोग्राम चल रहा हो तो उस वक़्त कम्पाइलर हमारे लिए जगह allocate करे, तो हमें C++ प्रोग्रामिंग में मौजूद new और delete ऑपरेटर का प्रयोग करना पड़ेगा| इसे विधि को हम डायनामिक मेमोरी एलोकेशन (Dynamic Memory Allocation) भी कहते हैं|

C++ में Execution के समय memory कर dynamically (गतिक) management करने के लिये दो Unary Operator new एवं delete का प्रयोग किया जाता हैं। New तथा Delete Operator का प्रयोग क्रमश: Memory में स्‍थान लेने तथा Memory से वेरिएबल को समाप्त करने के लिये किया जाता हैं।

Memory Management Operator

New Operator

New का प्रयोग कर के runtime में वेरिएबल या ऑब्जेक्ट का निर्माण किया जा सकता हैं। New के प्रयोग से हम built in data type object एवं user defined data type object का निर्माण कर सकते हैं। इसका Syntax निम्‍न हैं।

Syntax :- variable_name = new DataType;

Example :-

a = new int;
b = new float;

यहाँ a और b दो variable हैं जिनका निर्माण new ऑपरेटर द्वारा किया गया हैं। तो जब हमारा प्रोग्राम एक्सीक्यूट होगा तभी a और b के लिए मेमोरी allocate हो पायेगी|

Delete Operator

इसका उपयोग हम data item को memory से हटाने हेतु करते हैं। वैसे जब हम डिलीट ऑपरेटर का प्रयोग ना भी करें तो भी मेमोरी से सभी वेरिएबल और ऑब्जेक्ट को डिलीट कर दिया जाता है|

Syntax :- delete variable_name

 

Example:

delete a, b;

 

ये भी जरुर देखें