ऑपरेटिंग सिस्टम

मल्‍टीप्रोग्राम्‍ड ऑपरेटिंग सिस्‍टम

क्या होता है मल्‍टीप्रोग्राम्‍ड ऑपरेटिंग सिस्‍टम? What is Multi Programmed Operating System

मल्‍टीप्रोग्राम्‍ड ऑपरेटिंग सिस्‍टम, एक से अधिक जॉब्‍स को मेमोरी में एक साथ लोड कर, उन्‍हें एक साथ (concurrently) प्रोसेस करता हैं। मल्‍टीप्रोग्राम्‍ड ऑपरेटिंग सिस्‍टम, मल्‍टीप्रोग्रामिंग नामक तकनीक का प्रयोग एक साथ एक से अधिक जॉब्‍स को मेमोरी में लोड करने तथा उन्‍हें एक साथ प्रोसेस करने के लिए करता हैं। इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्‍टम में मल्‍टीप्रोग्रामिंग टेकनीक निम्‍न तरीके से कार्य करती हैं।

  • मल्‍टीप्रोग्राम्‍ड ऑपरेटिंग सिस्‍टम एक से अधिक जॉब्‍स को मेमोरी में एक साथ लोड करता है।
  • ऑपरेटिंग सिस्‍टम इनमें से किसी एक जॉब को एक्‍जक्‍यूट करना शुरू करता हैं।
  • जब कोई जॉब्‍ एक्‍जक्‍यूट कर रहा होता है, तो ऑपरेटिंग सिस्‍टम उन सभी जॉब्‍स का एक क्‍यू (Queue) मेनटेन (maintain) करता हैं, जो CPU की उपलब्‍धता के लिए प्र‍तीक्षा (wait) कर रहे होते है।
  • जब वर्तमान में एक्‍जक्‍यूट हो रहे जॉब में इनपुट/आउटपुट ऑपरेशन की आवश्‍यकता होती है, तो ऑपरेटिंग सिस्‍टम अगले जॉब की प्रोसेसिंग के लिए CPU को उस जॉब पर स्‍थानान्‍तरित (transfer) कर देता हैं।
  • जब पहले वाले जॉब का इनपुट/आउटपुट ऑपरेशन समाप्‍त होता है, तो ऑपरेटिंग सिस्‍टम पुन: इसे क्‍यू (Queue) में रख देता है ताकि जब CPU उपलब्‍ध हो तो इसकी बाकी प्रोसेसिंग पूरी की जा सके।
  • इस प्रकार ऑपरेटिंग सिस्‍टम CPU के कंट्रोल को एक जॉब से दूसरे जॉब पर स्‍थानान्‍तरित करता रहता हैं। परिणामस्‍वरूप, CPU कभी भी आइडल स्थिति (idle stage) में नहीं रहता हैं।

अब प्रश्‍न यह उठता हैं, कि किस प्रकार एक से अधिक जॉब्‍स एक साथ ऑपरेटिंग द्वारा मेमोरी में रखें तथा प्रोसेस किए जाते हैं? इसके लिए ऑपरेटिंग सिस्‍टम, मेमोरी मैनेजमेंट (Memory Management) तथा CPU शिड्यूलिंग (CPU scheduling) के कुछ तरीकों का प्रयोग करती हैं, जिनकी चर्चा हम आने वाले अध्‍यायों में करेंगे। नीचे दिए गए चित्र में मल्‍टीप्रोग्रामिंग इनवायमेंट में मेमोरी लेआउट (memory layout) को दर्शाया गया है।

Memory Layout In a Multi programming Environment

 

 

Subject Wise Notes

error: Content is protected !!