हमारी पूरी टीम की तरफ से दीपावली की आपको शुभकामनाएं | खेलिए साप्ताहिक क्विज कांटेस्ट और जीतिए paytm cash
php

PHP का इतिहास, संस्करण एवं उपयोग

PHP का इतिहास, संस्करण एवं उपयोग

1994 में World Wide Web का जन्म हुआ इसका प्रयोग इन्टरनेट से किसी भी तरह की जानकारी को प्राप्त करने के लिए किया जाता हैं | Tim Berners-Lee जो इसके संस्थापक है उन्होंने web स्तरों के विकास के लिये बहुत काम किया। Markup language जिनके द्वारा किसी web page को बनाया जाता है इन्ही की देन है।

शुरुवात में वेब पेज बनाने के लिए markup language ( html, xml etc. ) का इस्तेमाल किया जाता था। आपने देखा होगा पहले के वेब पेज बहुत ही सिंपल होते थे। जिसमे सिर्फ टेक्स्ट दिखाई देता था। अर्थात पहले के वेब पेज में इमेज, ऑडियो, विडियो का प्रयोग नहीं किया जाता था|

internet इस्तेमाल करने वालो की संख्या बढ़ने के साथ साथ वेब पेजों की बनावट में भी तेजी से सुधार किया गया । 1998 में CSS को बनाया गया जिसका प्रयोग web page को डिजाईन करने के लिए किया जाता हैं| एक वेब पेज पर दिखने वाले layout, font color सभी css के इस्तेमाल से ही design किये जाते है। इसी तरह वेब पेजों में सुधार के लिये कई coding language जैसे programing language, general purpose programing language, और scripting language का अविष्कार हुआ । PHP एक तरह की scripting language है। जिसका इस्तेमाल web development में किया जाता है।

PHP क्या है? (What is PHP)

PHP को पहले “पर्सनल होम पेज” नामक एक सरल स्क्रिप्टिंग प्लेटफ़ॉर्म के रूप में बनाया गया था। आजकल PHP Microsoft के एक्टिव सर्वर पेज (ASP) तकनीक का एक विकल्प है।

PHP एक ओपन सोर्स सर्वर-साइड भाषा है जिसका उपयोग डायनामिक वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है। इसे HTML में एम्बेड किया जा सकता है। PHP आमतौर पर लिनक्स / यूनिक्स वेब सर्वर पर एक MySQL डेटाबेस के साथ संयोजन में उपयोग किया जाता है। यह शायद सबसे लोकप्रिय स्क्रिप्टिंग भाषा है।



PHP एक व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली general-purpose scripting language और interpreter है जो स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है।

PHP का इतिहास (History of PHP)

  • PHP को 1994 में Rasmus Lerdorf द्वारा बनाया गया था। Lerdarf ने शुरुवात में इसे अपने Online resume को track करने के लिए बनाया था। जिसका नाम उन्होंने Personal Home Page Tool (PHP) रखा।
  • Rasmus Lerdorf ने अपनी बड़ी सोच व अधिक कार्यक्षमता के कारण PHP tool को फिर से लिखना शुरू किया और एक नया PHP model तैयार किया इसके द्वारा यूजर को एक फ्रेमवर्क उपलब्ध कराया गया। जिसकी मदद से यूजर सिंपल dynamic web application विकसित कर सकते थे।
  • June 1995 में Rasmus ने PHP tools के लिए source code जारी किया अब developer’s इस code की मदद से बनाये गए Dynamic web applications पर सुधार कर सकते थे साथ ही कोड में बग्स को भी fix कर सकते थे। एक तरह से developer’s को पूरी अनुमती थी कि वो जहा चाहे इसे अपने हिसाब से सही कर सकते है।
  • इसके बाद PHP में कई सुधार किये गए। कई programing languages भी विकसित हुई ।
  • 1997 में PHP 3.0 जारी किया गया जो PHP का first version था। यह पिछले version से काफी सक्षम था। इसके आने के बाद PHP के कई limited use खत्म हो गये और तब इसका नाम PHP home page से बदलकर PHP Hypertext Preprocessor रखा गया।
  • इसके बाद में भी PHP में सुधार होते रहे PHP 3.0 के बाद PHP 4.0 और अब PHP 5.0 released कर दिया गया है।
  • आधुनिक PHP इतना सक्षम है कि इसके इस्तेमाल से Facebook, Amazon, wordpress जैसी multitasking websites developed की गई है।

Versions of PHP (PHP के वर्जन)

Version
Release Date
1.08 June 1995
2.01 November 1997
3.06 June 1998
4.022 May 2000
4.110 December 2001
4.222 April 2002
4.327 December 2002
4.411 July 2005
5.013 July 2004
5.124 November 2004
5.22 November 2006
5.330 June 2009
5.41 March 2012
5.520 June 2013
5.628 August 2014
6.XNot Released
7.03 December 2015
7.11 December 2016
7.230 November 2017
7.312 December 2018 (Expected)

 PHP की विशेषताए (Features of PHP)

  • PHP को Html के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • PHP के द्वारा हम फाइल को अच्छी तरह से Open, Create, Read और Write भी कर सकते है।
  • आप इसमें कुछ Pages को Restrict भी कर सकते हो।
  • Execute हो जाने के बाद PHP Code Html के रूप में Show होता है।
  • डाटाबेस में जो भी Element होते है उसे PHP के द्वारा Modify, Delete, Edit किया जा सकता है।

PHP का उपयोग

PHP स्क्रिप्ट का उपयोग लिनक्स, यूनिक्स, सोलारिस, माइक्रोसॉफ्ट विंडोज, मैक ओएस और कई अन्य प्रसिद्ध ऑपरेटिंग सिस्टमों पर किया जा सकता है। यह Apache और IIS सहित अधिकांश वेब सर्वरों का भी समर्थन करता है। PHP का उपयोग वेब डेवलपर्स को अपने ऑपरेटिंग सिस्टम और वेब सर्वर को चुनने की स्वतंत्रता देता है।

PHP के फायदे (Advantages of PHP)

  • PHP सभी प्लेटफार्मों पर चल सकता हैं जैसे Solaris, UNIX, Windows और Linux शामिल हैं। उल्लेखित प्लेटफार्मों का उपयोग PHP में कोड लिखने और वेब पेज देखने या PHP आधारित एप्लिकेशन चलाने के लिए किया जा सकता है।
  • PHP आसानी से MySQL और Apache दोनों के साथ इंटरफेस करती है।
  • PHP के द्वारा कई बड़ी e-commerce websites developed (Amazon) की गई है। इन websites के पास अच्छा database होता है। जिसके कारण इन Websites को एक good database management system की जरूरत होती है। इसके लिए PHP में एक build-in module होता है। जो आसानी से database में connect करने में मदद करता है।
  • अन्य Programming Language के मुकाबले PHP इस्तेमाल करने में काफी आसान है।
  • नए यूजर को PHP सीखने के लिये किसी गहन अध्ययन की आवश्यकता नही है। PHP Command Functions आसानी से समझ मे आ जाते है। आप कमांड के नाम से ही पता लगा सकते है कि यह क्या करता है।
  • PHP एक open source programming language है। इसीलिए PHP आसानी से उपलब्ध है और पूरी तरह से free है। बाकी Scripting language में कुछ support files के लिए Pay करना पड़ता है। आप PHP को किसी भी समय कही भी use कर सकते है।
  • PHP को पहले “पर्सनल होम पेज” नामक एक सरल स्क्रिप्टिंग प्लेटफ़ॉर्म के रूप में बनाया गया था। आजकल PHP Microsoft के एक्टिव सर्वर पेज (ASP) तकनीक का एक विकल्प है।
  • PHP एक ओपन सोर्स सर्वर-साइड भाषा है जिसका उपयोग डायनामिक वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है। इसे HTML में एम्बेड किया जा सकता है। PHP आमतौर पर लिनक्स / यूनिक्स वेब सर्वर पर एक MySQL डेटाबेस के साथ संयोजन में उपयोग किया जाता है। यह शायद सबसे लोकप्रिय स्क्रिप्टिंग भाषा है।
  • PHP एक व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली general-purpose scripting language और interpreter है जो स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है।

PHP क्या कर सकता है?

PHP एक Server side scripting language है। जिसका प्रयोग Dynamic page तैयार करने के लिए किया जाता है। इसके द्वारा किसी server पर files को open, read, write, delete और close कर सकते है। PHP आपके database में data को add, delete, और modify भी कर सकता है। PHP के साथ आप Html को आसानी से embedded कर सकते है।

PHP से सभी CGI Program कर सकते है। CGI प्रोग्राम CGI Specification के अनुरूप Data accept करने और Return करने के लिए बनाया गया एक प्रोग्राम है। इसकी मदद से आप Form data collect कर सकते है। Dynamic page content बना सकते है और Cookies send और Receive कर सकते है ।

PHP कैसे काम करता है?

PHP Software वेब सर्वर के साथ काम करता है। यह सॉफ्टवेयर वेब पेज को किसी यूजर तक पहुचाता है।

उदाहरण के लिए जब आप अपने Web Browser के search bar में किसी Website का URL type करते है, तो आप उस URL को enter करके Web Server पर एक मैसेज भेजते हैं कि web server वह website आपके browser में दिखाए।

Massage read करते ही web server उस website की Html file आपके browser पर भेज देता है। आपका browser html file पढता है और website के web page को आपके सामने प्रदर्शित करता है। अब आपके मन मे एक सवाल होगा कि PHP का यहाँ क्या काम होता है। यहां PHP एक interface का काम करता है।

Interface से मतलब है कि वह server में भेजी गयी request को machine language में बदल देता है। जब कभी server के पास किसी file की request आती है तो PHP interpreter उस code को convert करके database में access करता है और वहां से file को उठाकर server तक भेज देता है । जिसके बाद server उस file को user तक पहुचाता है।

PHP Language कैसे सीखें?

PHP इन्टरनेट पर सबसे ज्यादा उपयोग होने वाली Programming language है। PHP की मदद से Powerful Website बना सकते है। PHP सीखने में ज्यादा कठिन नही है। बस PHP सीखने के लिए थोड़ा समय देना होगा। PHP सीखने के लिए नीचे बताये गए steps को फॉलो करे।

सबसे पहले PHP सीखने के लिये Web Server इनस्टॉल करें। इसके जरिये आप जितना भी काम करेंगे वह सब डाटा आपका इस server पर store रहेगा। आपको free web server व paid web server दोनों ही internet पर मिल जाएंगे।

PHP को ऑफलाइन कैसे सीखें

  • Notepad++ Install करे –

PHP Code लिखने या PHP script बनाने के लिए आपको कुछ टूल्स की आवश्यकता पड़ती हैं इसीलिए web server install करने के बाद PHP code लिखने के लिए Notepad++ भी download कर ले।

  • PHP सीखने के लिये Resources खोजे –

PHP सीखने के कई तरीके है, जैसे – Online courses, PHP Books, PHP Learning Websites, Youtube, PHP Apps और PHP Classes. इन सभी तरीको से आप PHP सीख सकते हैं| Internet पर कई websites है जो PHP की information free में share करती है। जैसे- Codecourse, PHPmanual, KillerPHP, W3school आदि |

सरल शब्दों में सारांश
  1. PHP को पहले “पर्सनल होम पेज” नामक एक सरल स्क्रिप्टिंग प्लेटफ़ॉर्म के रूप में बनाया गया था।
  2. PHP एक ओपन सोर्स सर्वर-साइड भाषा है जिसका उपयोग डायनामिक वेब पेज बनाने के लिए किया जाता है।
  3. PHP को 1994 में Rasmus Lerdorf द्वारा बनाया गया था।
  4. PHP स्क्रिप्ट का उपयोग लिनक्स, यूनिक्स, सोलारिस, माइक्रोसॉफ्ट विंडोज, मैक ओएस और कई अन्य प्रसिद्ध ऑपरेटिंग सिस्टमों पर किया जा सकता है।
  5. PHP Software वेब सर्वर के साथ काम करता है। यह सॉफ्टवेयर वेब पेज को किसी यूजर तक पहुचाता है।
  6. 1997 में PHP 3.0 जारी किया गया जो PHP का first version था।
सिलेबस के अनुसार नोट्स
DCA, PGDCA, O Level, ADCA, RSCIT, Data Entry Operator
यहाँ क्लिक करें