Multimedia

Comparison of MIDI and Digitized audio

Comparison of MIDI and Digitized audio
(MIDI और डिजिटाइज्ड ऑडियो की तुलना)

MIDI को इसलिए डेवलप किया गया था ताकि musicians सिंथेसाइजर को एक साथ कनेक्ट कर सकें| MIDI प्रोटोकॉल का प्रयोग आजकल व्यापक स्तर पर एक डिलीवरी माध्यम के रूप में हो रहा है जिसमें गेम्स और मल्टीमीडिया एप्लीकेशंस में डिजिटाइज़ ऑडियो को रिप्लेस और सप्लीमेंट किया जा सके|

MIDI सिंथेसाइजर के साथ साउंड जनरेट करने के निम्न लाभ है


  • पहला लाभ storage space का है जो डेटा फाइल से डिजिटल तरीके से सैंपल ऑडियो को PCM फॉर्मेट (जैसे .wav files) मैं स्टोर करने के लिए प्रयोग की जाती है| वह बहुत बड़ी होती हैं यह हाई सैंपलिंग रेट का प्रयोग करके स्टीरियो में कैप्चर किए गए लंबे म्यूजिकल pieces के लिए विशेष रूप से सही है|
  • दूसरी ओर MIDI डाटा फाइल्स सैंपल ऑडियो फाइल्स की तुलना में बहुत छोटी होती हैं| उदाहरण के लिए, फाइलस जिनमें हाई क्वालिटी स्टीरियो सैंपल ऑडियो होता है में करीब 10 मेगाबाइट का डाटा प्रति मिनट साउंड की आवश्यकता होती है जबकि एक सामान्य MIDI सिक्वेंस प्रति मिनट साउंड के लिए सिर्फ 10 किलोबाइट से भी कम डाटा की मांग करती है इसका कारण यह है की MIDI फाइल्स में सैंपल ऑडियो डाटा नहीं होता है इसमें सिर्फ साउंड प्ले करने के लिए सिंथेसाइज़र को जो निर्देश चाहिए वही होते हैं| यह निर्देश भी MIDI मैसेज में होते हैं जो सिंथेसाइज़र को निर्देश देते हैं कि कौन सी साउंड का प्रयोग करना चाहिए और कौन सा नोट प्ले करना चाहिए और प्रत्येक नोट कितना लाउड प्ले करना चाहिए| वास्तविक साउंड सिंथेसाइज़र से जनरेट होते हैं MIDI स्ट्रक्चर्ड या वेक्टर ग्राफिक्स के समकक्ष होता है जबकि डिजिटाइज का ऑडियो बिटमैप इमेजेस के समकक्ष है|
  • कंप्यूटर्स के लिए छोटी फाइल साइज का अर्थ है साउंड जनरेट करने वाले पेरिफेरल में इस डाटा की spooling के लिए उपयोग की जाने वाली PC बैंडविथ का कम होना|
  • MIDI उपयोग करने का एक अन्य लाभ यह है ऐसी साउंड जनरेट करना जिसमें वह क्षमता शामिल हो| जिससे म्यूजिक को आसानी से edit किया जा सके और Playback स्पीड को बदला जा सके| इसके साथ ही साउंड की pitch या key को भी स्वतंत्र रूप से बदला जा सके| डिजिटल ऑडियो में इतनी सुविधा नहीं होती है|
  • MIDI डिजिटल ऑडियो फाइल्स की अपेक्षा फ्लेक्सिबल होते हैं| इसमें स्वतंत्र रूप से उपकरण के प्रत्येक नोट जो Playback किए जाते हैं को कंट्रोल किया जा सकता है| यह फीचर डिजिटल ऑडियो में बिल्कुल भी संभव नहीं है MIDI फाइल्स डिजिटल ऑडियो फाइल से से बेहतर सुनाई देती हैं|
  • छोटी साइज की वजह से MIDI फाइल्स वेब पेजेस में एंबेडेड होती हैं और अपने डिजिटल समकक्ष की तुलना में अधिक तेजी से प्ले होती हैं|
  • MIDI फाइल्स डिजिटल ऑडियो साइज की तुलना में अधिक कॉन्पैक्ट होती हैं और MIDI की फाइल्स की साइज इसकी Playback क्वालिटी से पूरी तरह से स्वतंत्र होती हैं| MIDI फाइल Playback के लिए कम RAM और कम Processor power चाहिए|
  • MIDI म्यूजिक की क्वालिटी शुद्ध होती हैं क्योंकि सभी रिकॉर्डिंग इलेक्ट्रॉनिक रूप में होती हैं और इनमें बाहरी माध्यम जैसे हवा का कोई हस्तक्षेप नहीं होता है जिससे परिणामी डिजिटल ऑडियो फाइल की क्वालिटी degrade होती है|
  • MIDI के साथ कार्य करने के लिए म्यूजिकल स्कोर को जानना जरूरी है इसके अलावा कीबोर्ड नोटेशन और ऑडियो प्रोडक्शन की भी जानकारी होनी चाहिए|
  • MIDI ऑडियो डिवाइस पर निर्भर होता है अर्थात Playback तभी शुद्ध होगा यदि MIDI Playback डिवाइस उसी डिवाइस की तरह होगी जो प्रोडक्शन के लिए इस्तेमाल की गई थी| डिजिटल ऑडियो की Playback क्वालिटी वैसी ही होती है अर्थात डिजिटल डाटा बहुत कुछ वैसे भी सुनाई देता है चाहे Playback सिस्टम कोई भी हो|

Download our Android App

Computer Hindi Notes Android App

Latest update on Whatsapp

अति आवश्यक सूचना

यदि आपको कंप्यूटर विषय से सम्बंधित कोई नोट्स नहीं मिल रहे हैं तो हमें सूचित करें

Request Form / निवेदन फॉर्म 

जिनके नोट्स बन गए हैं वो अपने नोट्स नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं
Requested notes / अनुरोध किए गए नोट