मल्टीमीडिया

साउंड एडिटिंग तथा मिक्सिंग सॉफ्टवेयर

साउंड एडिटिंग तथा मिक्सिंग सॉफ्टवेयर (Sound editing and mixing software)

कुछ उपयोगी साउंड एडिटिंग सॉफ्टवेयर निम्नलिखित हैं-

  • AVS ऑडियो एडिटर (AVS Audio Editor)
  • साउंड फोर्ज (Sound Forge)

AVS ऑडियो एडिटर (AVS Audio Editor)

AVS ऑडियो एडिटर एक शक्तिशाली पूर्ण विशेषताओं वाला तथा सरलता से उपयोग होने वाला डिजिटल ऑडियो एडिटर है| AVS ऑडियो एडिटर व्यवसायियों तथा अव्यवसायियों दोनों के लिए लाभदायक है| इसको बहुत आसानी से उपयोग कर सकते हैं तथा यह आपको बिना किसी परेशानी के विभिन्न प्रकार के ऑपरेशन के कार्य करने की सुविधा देता है| जब आप इस पर कार्य करना शुरू कर देंगे तो आप इस प्रोग्राम द्वारा प्रदान की गई सुविधाओं को देख कर आश्चर्यचकित हो जाएंगे|

आप इस डाटा मैं कोई भी कार्य कर सकते हैं जैसे कट, कॉपी, पेस्ट तथा मूव अर्थात आप उन सभी परिचालनों का उपयोग कर सकते हैं जिनका प्रयोग आप वर्ड प्रोसेसर में टेक्स्ट पर करते हैं| अगर आप से कोई गलती हो जाती है तो अनडू बटन को दबाकर आप दोबारा कार्य कर सकते हैं| फ्रेंडली इंटरफेस आपको बहुत सारे परिचालनों को आसानी से पूर्ण करने की सुविधा प्रदान करता है| आप इसे अपना स्वयं का म्यूजिक, आवाज तथा अन्य ऑडियो तत्वों को रिकॉर्ड करने के लिए उपयोग कर सकते हैं| आप इसे एडिट तथा अन्य ऑडियो अथवा संगीतमय भागों के साथ मिला सकते हैं इसमें विभिन्न प्रकार के इफेक्ट जोड़ सकते हैं तथा इसे मास्टर कर सकते हैं जिससे इसे सीडी पर बर्न कर सकें| आप इसे वर्ल्ड वाइड वेब पर पोस्ट कर सकते हैं अथवा ईमेल कर सकते हैं| AVS ऑडियो एडिटर सभी मुख्य ऑडियो फाइल फॉर्मेट का समर्थन करता है| AVS ऑडियो एडिटर के पास विभिन्न प्रकार के ऑडियो इफैक्ट्स तथा डिवाइस है-Delay, flanger, reverb, phaser, amplify आदि|

AVS ऑडियो एडिटर को शुरू करने के लिए स्टार्ट मेनू पर क्लिक करें तथा निम्न चरणों का पालन करें|
  • सबसे पहले All Programs पर क्लिक करें फिर आप AVS for you पर क्लिक करें, इसके बाद Audio को सेलेक्ट करें और AVS Audio editor पर क्लिक करें|
  • ऐसा करने पर AVS ऑडियो एडिटर एप्लीकेशन विंडो AVS for you डायलॉग बॉक्स के साथ प्रदर्शित होगी|
  • Continue बटन पर क्लिक करने से निम्नलिखित बिंदु प्रदर्शित होगी-

एक नई फाइल बनाने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें
  • File Menu पर जाएं तथा New विकल्प का चयन करें या आप कीबोर्ड से ctrl + n का यूज कर सकते हैं|
  • ऐसा करने पर न्यू फाइल डायलॉग बॉक्स प्रदर्शित होगा|
  • नई फाइल बनाने के लिए Ok बटन पर क्लिक करें इसका डिफॉल्ट नाम Unknown होगा| सभी नई फाइल का नाम तब तक Unknown रहता है जब तक आप उसे सेव नहीं कर देते तथा उनके लिए कोई नाम निर्धारित नहीं कर देते|

साउंड फोर्ज (Sound Forge)

साउंड फोर्ज सॉफ्टवेयर एक शक्तिशाली पूर्ण विशेषताओं वाला तथा आसानी से उपयोग होने वाला डिजिटल साउंड एडिटर है| जो असंख्य ऑडियो प्रोफेशनल्स द्वारा उपयोग किया जाता है साउंड फोर्ज सॉफ्टवेयर वीडियो एडिटर नहीं है, फिर भी आप इसमें वीडियो फाइल को अन्य फाइल की तरह खोल तथा एडिट कर सकते हैं तथा ऑडियो ट्रेक को परिचित साउंड फोर्ज उपकरणों के साथ एडिट कर सकते हैं| आप मुख्य साउंड फोर्ज विंडो से अथवा प्रत्येक विंडो में प्ले बार का उपयोग करके ऑडियो फाइल को प्रीव्यू कर सकते हैं| इसके अतिरिक्त वीडियो प्रीव्यू विंडो आपको वीडियो फाइल को प्रीव्यू करने की अनुमति देता है तथा उन्हें बाहरी मॉनिटर पर भी भेजने की सुविधा देता है|

साउंड फोर्ज Channels Meters प्लेबैक के दौरान Peak Levels को प्रदर्शित करते हैं| स्तरों को मॉनिटर करने के लिए तथा यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप की फाइल में कोई क्लिपिंग ना आए, इसके लिए Meters का उपयोग करें| अगर आपके पास कोई ऐसा ऑडियो डिवाइस हैं जो मल्टीपल इनपुट का समर्थन करता है, तो आप मल्टी चैनल रिकॉर्डिंग पर कार्य करने के लिए साउंड फोर्ज का उपयोग कर सकते हैं| साउंड फोर्ज सॉफ्टवेयर रिकॉर्डिंग के समय MTC/SMPTE सिंक्रोनाइजेशन भी उत्पन्न कर सकता है डाटा का चयन तथा कर्सर का स्थापन अधिकतर एडिटिंग प्रक्रियाओं के मुख्य कार्य है जब आप डाटा का चयन कर लेते हैं तो आप कट, कॉपी, पेस्ट, मिक्स, ट्रिम, क्रॉप, ऐड डिफेक्ट इत्यादि का उपयोग कर सकते हैं डाटा को एक विंडो से दूसरी विंडो में ले जाने के लिए क्लिपबोर्ड का उपयोग कर सकते हैं| साउंड फाइल में होने वाले Glitches, clicks, तथा surface noise को सुधारने हेतु आप साउंड फोर्ज सॉफ्टवेयर का उपयोग कर सकते हैं साउंड फोर्ज सॉफ्टवेयर जावास्क्रिप्ट, विजुअल बेसिक स्क्रिप्ट अथवा सी हेज (C#) का उपयोग करके लिखी गई हैं|

3D साउंड

3D साउंड ऑडियो वेब्स को कैप्चर, प्रोसेस तथा प्ले करने हेतु बईनोरल साउंड सिस्टम का उपयोग होता है| 3D साउंड का उद्देश्य सुनने वाले को ऐसा ऑडियो अनुभव देना है कि उसे लगे कि वह वास्तविक जीवन है| 3D रिकॉर्डिंग मानव जैसे मस्तिष्क तथा कानों के स्थान पर दो माइक्रोफोंस माउंट करके की जाती है| माइक्रोफोंस दो चैनल्स के द्वारा समकालिक रूप से साउंड कैप्चर करते हैं तथा सॉफ्टवेयर रिकॉर्डिंग को व्यवस्थित करता है जिससे कि वह उस समय के सिग्नल में बदलाव की कॉपी कर सके जब प्रत्येक कान दिमाग को सिग्नल भेजता है इस अवधारणा को बायोमिमिकरी कहते हैं 3D ऑडियो हेतु वेंडर्स है – Dolby, 3Dio, Auro, Dysonics, Ossic, Realspace, Sennheiser, Visisonics कुछ 3D साउंड सॉफ्टवेयर हैं – NX-3D, DiscDJ 3D. Music Player.