Multimedia

Video Compression

Video Compression

Compression एक Digital प्रक्रिया है| जो Data को नॉर्मल से कम बिट्स इस्तेमाल करके store या transmit करने की अनुमति देती है| विजुअल रिकॉर्डिंग और ट्रांसमिशन में Video Compression एक तकनीक है, जो एक Video file में डेटा की मात्रा को घटा देता है ताकि इसके लिए आवश्यक bandwidth या storage space को सीमित किया जा सके| यह ऑनलाइन माध्यमों और ब्रॉडकास्टिंग में बहुत कॉमन है| Video Compression उसी सैद्धांतिक बेसिस पर काम करता है जैसे अन्य तरह के file Compression करते हैं और यहां तक की क्रिप्टोग्राफी जिसमें Data के एक ही पीस को बार-बार प्रयोग करते हैं Data के मल्टीपल पीस दिखाए जा सकते हैं|


साधारण भाषा में कहा जाए तो Video Compression, Video files को छोटा बनाने का एक तरीका है अर्थात Video Compression एक तरीका है जिससे जो पिक्सेल आसानी से हमारी आंखों से दिखाई नहीं देते हैं उन्हें अनदेखा कर दिया जाता है या दूसरों के साथ मिला दिया जाता है| Video Decompression या Decoding एक तरीका है जिससे ओरिजिनल पिक्सेल को लगभग ओरिजिनल जैसे या बिल्कुल ओरिजिनल स्टेट में वापस लाया जाता है| lossy Compression का अर्थ है Data को घटाना जिससे एक De coded Video को कभी भी ओरिजिनल स्टेट में वापस लाया जा सके इसके विपरीत Lossless Compression का अर्थ है Data reduction जिससे एक De coded Video को वापस ऑरिजिनल स्टेट में लाया जा सकता है|

विशेष रूप से Video Compression में यह माना जाता है कि एक  uncompressed Video के पीस में इससे कहीं अधिक Data होता है जितना संतोषजनक तरीके से इसे व्यक्त करने के लिए जरूरी होता है| Compression तकनीक इसलिए एक सर्वोच्च तरीका अपनाती है जो डांटा रिडक्शन को क्वालिटी के साथ बैलेंस करती है तकनीकी रूप से देखने पर, अधिकतर Video Compression के कार्य करने का तरीका यह होता है कि यह एक सिंगल फ्रेम की इससे ठीक पहले फ्रेम से तुलना करते हैं और केवल सूचना के उसी पीस को सेव करते हैं जो बहुत ज्यादा अलग होता है| इस तरह से Compression का लेवल इस आधार पर एडजस्ट किया जा सकता है कि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर में कितना अंतर होना चाहिए और इसी के अनुसार इसे घटाया या बढ़ाया जाता है| Compression तब श्रेष्ठ रूप से कार्य करता है जब केवल Video के छोटे सेक्शन ही समय के साथ बदलते जाते हैं| तेजी से मूव करने वाली ऑब्जेक्ट और इवेंट जैसे विस्फोट आदि को कंप्रेस करना बहुत कठिन होता है क्योंकि इनका कंपोजीशन लगातार बदलता रहता है|

DVD Video जैसे माध्यमों में जिसमे सर्वश्रेष्ट विजुअल क्वालिटी ही मुख्य उद्देश्य होता है, एक Video को अब भी अच्छी तरह से कंप्रेस किया जा सकता है और यह तब भी काफी sharp रह सकता है| नई तकनीक एजेंसी Blue ray जिसकी क्षमता DVD से काफी अधिक होती है में बहुत ही कम Compression की जरूरत होती है और इसलिए यह बेहतर क्वालिटी का Video प्रस्तुत कर सकता है| स्टोरेज और ट्रांसमिशन तकनीकों में होने वाले परिवर्तनों एवं प्रगति के कारण Compression के एक्सट्रीम लेबल्स की जरूरत लगातार कम होती जा रही है और अधिक क्वालिटी की तरफ जोर दिया जा रहा है|


Video Compression एल्गोरिदम “codes” Video सिग्नल्स को आश्चर्यजनक तरीके से मैनिपुलेट करके storage और bandwidth को घटाता है जबकि Video क्वॉलिटी को अधिकतम किया जा सकता है| file को कंप्रेस करने और उसकी साइज को घटाने के लिए इसे एक विशेष सॉफ्टवेयर जिसे CODEC कहां जाता है के द्वारा फ़िल्टर किया जाता है| CODEC Compression या De Compression या coder या Decoder का संक्षिप्त रूप है यह सॉफ्टवेयर मीडिया Data को read करता है और मैथमेटिकल एल्गोरिदम अप्लाई करके इसकी साइज को घटाता है| एल्गोरिदम मीडिया फाइल्स के भीतर डुप्लीकेट सूचनाओं को खोज लेते हैं| यह वह सूचनाएं होती हैं जिन्हें यदि हटा दिया जाता है तो यह मीडिया क्वालिटी को प्रभावित नहीं करती हैं| इससे Data को अधिक कॉन्पैक्ट रूप से एक्सप्रेस किया जा सकता है| दोनों ही केस में इससे file साइज में कमी आती है लेकिन वास्तविक कमी की मात्रा बहुत से फैक्टर्स पर निर्भर करती है जिससे मीडिया Data और इस्तेमाल होने वाला CODEC भी शामिल है|

Video codex के कार्य को समझना एंबेडेड सिस्टम्स प्रोसेसर और Video एप्लीकेशंस के टूल को डेवलप करने वाले लोगों के लिए बहुत जरूरी है| उदाहरण के लिए, Video coded की प्रोसेसिंग और मेमोरी की जरूरतों को समझने से प्रोफेसर सलेक्शन और सॉफ्टवेयर के श्रेष्ठ इस्तेमाल में मदद मिलती है|

Latest update on Whatsapp




Download our Android App

Computer Hindi Notes Android App