Multimedia

मल्टीमीडिया कई सारे elements जैसे.टैस्क्ट इमेज आर्ट साउण्ड animation and video इत्यादि का combination है। इन elements को किसी computer या किसी दूसरी इलैक्ट्राॅनिक डिवाइस के माध्यम से डिलीवर किया जाता है। मल्टीमीडिया आज के समय मे information तथा technology का अत्याधिक महत्वपूर्ण तथा पाॅपुलर एरिया है। मल्टीमीडिया दो शब्देा से मिलकर बना है। मल्टी़मीडिया, मल्टी का अर्थ है बहुत सारे तथा मीडिया का अर्थ है। पैकेज या elements जैसेः टैक्स्ट, इमेज, आॅडियो, वीडियो, एनीमेशन आदि।
मल्टीमीडिया का अर्थ है कि कम्प्यटर information को आॅडियो , वीडियो , इमेज, एनीमेशन इत्यादि के माध्यम से रिप्रजेन्ट किया जा सकता है। कम्प्यूटर के क्षेत्र मे हार्डवेयर के साथ.साथ साफ्टवेयर मे भी काफी संशोधन हुये है। पहले हम कम्प्यूटर के माध्यम से still पिक्चर या इमेजो को ही एक स्थान से दूसरे स्थान अर्थात एक कम्प्यूटर के पास भेजे जा सकते है। परन्तु आज के समय मे हम एनीमेट्रिड आॅडियो क्लिप, वीडियो क्लिप इत्यादि को मैसेज के रूप मे एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर के पास भेज सकते है। इसके अतिरिक्त हम किसी भी आॅडियो या वीडियो क्लिप मे उपलब्ध है जिनके माध्यम से हम किसी भी एलीमेन्ट मे किसी तरह का संशोधन कर सकता है। अतः मल्टीमीडिया, इनफाॅमेशन टेक्नोलाॅजी का वह क्षेत्र है जिसमे टैक्स्ट,ग्राफिक्स,आॅडियो, वीडियो, एनीमेशन इत्यादि को कम्प्यूटर के माध्यम से नियंत्रित किया जाता है। तथा डिजीटल रूप मे ट्रांसमिट, प्रोसेस, स्टोर तथा रिप्रजेन्ट किया जा सकता है। एक सिस्टम को मल्टीडिया डाटा तथा डिजिटल रूप मे ट्रांसमिट, प्रोसेस, स्टोर तथा रिप्रजेन्ट किया जा सकता है। एक सिस्टम को मल्टीमीडिया डाटा तथा एप्लीकेशन को प्रोसेस करने के योग्य होता है, उसे मल्टीमीडिया सिस्टम कहते है।
02

घटक– मल्टीमीडिया system के प्रमुख घटक निम्नलिखित है-
1.picture devices- इसके अंतर्गत वीडियो कैमरा, वीडियो रिकाॅडर, इत्यादि आती है।
2.input devices- इसके अंतर्गत माइक्रोफोन की.बोर्ड, माइक ग्राफिक्स टेबलेट, 3D इनपुट डिवाइसो, VR डिवाइस से तथा डिटिटाइजिंग हार्डवेयर इत्यादि आते है।
3.storage devices- इसके अंतर्गत हार्डडिस्क, CD-ROM, DVD-ROM इत्यादि डिवाइस आते है।
4.communication network- इसके अंतर्गत लोकल नेटवर्क, इन्टरनेट मल्टीमीडिया नेटवर्क इत्यादि टाईप के नेटवर्क आते है।
5.computer system- इसके अंतर्गत मल्टीमीडिया डेस्कटाॅप मशीने आती है।
6.display devices- इसके अंतर्गत बक CD quality speakers, HDTV, SVGA, Hi-Res Monitars, color printers इत्यादि डिवाइसे आती है।
7.hardware- इसके अंतगर्त workstatons, MPEG/VIDEO/DSP हार्डवेयर आते है।
मल्टीमीडिया के उपयोग-
जब भी एक Human Interface किसी भी इलैक्ट्रानिक इनफाॅमेशन के लिये एक Human से कनेक्ट होता है। जब मल्टीमीडिया उर्पयुक्त होता है मल्टीमाीडिया का प्रयोग निम्नलिखित क्षेत्रो मे सराहनीय है.
1. बिजनेस मे मल्टीमीडिया- बिजनेस एप्लीकेशन मे प्रजेन्टेशन ट्रेनिंग मार्केटिंग एडवरटाइजिंगए simulations, database product damage, network कम्यूनिकेशन्स इत्यादि मल्टीमीडिया मे सम्मिलित होते है। डिस्ट्रीब्यूटेड नेटवर्क तथा इन्टरनेट प्रोटोकाॅल्स का प्रयोग करके voice mails and वीडियो काॅन्फ्रेसिंग को LAN AND WAN पर उपलब्ध कराया जाता है। मल्टीमीडिया की प्रजेन्टेशन को श्रोताओ के लिये Alive रूप मे बनाया जा सकता है। कई प्रजेन्टेशन साफ्टवेयर पैकेजो को स्लाइडो मे आॅडियो तथा वीडियो clips graphics and text मैटेरियल से add करने के लिये उपयोग किया जाता है। मल्टीमीडिया का प्रयोग ट्रेनिग प्रोग्रामो मे विस्तृत रूप से किया जाता है। जैसे flight attendants simulation के माध्यम से इन्टरनेशनल terrorism and security को मैनेज करने के लिये सीखते है।
आॅफिसो मे मल्टीमीडिया का प्रयोग अब सामान्य हो गया है। employee ID and video annotations के लिये image capture hardware का प्रयोग किया जाता है। इसके माध्यम से real time teleconferencing भी की जाती है। प्रजेन्टेशन डाॅक्यूमेन्टो को E-mail केे माध्यम से Attach किया जाता है। तथा video conferencing भी उपलब्ध होती है। लेपटाॅप computers and high resolution projects मल्टीमीडिया प्रजेन्टेशन्स के लिये सामान्य तरीके होते है। cell phones and PDA ब्लूटूूथ तथा Wi-Fi कम्यूनिकेशन टेक्नोलाॅजी बिजनेश के लिये उपर्युक्त कम्यूनिकेशन के लिये सम्मिलित होते है।
2.स्कूल मे मल्टीमीडिया- स्कूलो मे मल्टीमीडिया का प्रयोग अत्याधिक रूप से किया जाता है। स्कूलो मे विद्यार्थी मल्टीमीडिया के माध्यम से इंटरएक्टिव मैग्जीन समाचार पत्र इत्यादि को पढ सकते है। तथा मैनीपुलेशन साॅफ्टवेयर टूल्स के प्रयोग के द्वारा आॅरिजनल आर्ट को बनाते है। विद्यार्थी तथा अध्यापक मूवी देख सकतें है। तथा मूवी बना सकते है। यहाॅं इसमे संसेाधन भी कर सकते है। मल्टीमीडिया के माध्यम से बेबसाइट को डिजाइन किया जा सकता है। तथा रन भी किया जा सकता है। interactive TV के माध्यम से एक ही कैम्पस के विभिन्न लोकेशनो को एक क्लास की टीचर के साथ जोड दिया जाता है। रिमोट टूल्स computer, generators, satellite disk को रखते है। अब students अपनी-अपनी class मे बैठकर अपने college की information को देख सकते है। मल्टीमीडिया के माध्यम से आज के स्कूलो मे विद्याथियो को आॅनलाइन या रिमोट क्लासो की सुविधा उपलब्ध करायी जाती है। मल्टीमीडिया के माध्यम से स्कूलो मे बच्चो को 3D games खेल की सुविधा तथा weekend पर मूवी दिखाने को उपलब्ध कराया जाता है।
3. घरो मे मल्टीमीडिया- आज के समय मे मल्टीमीडिया घरो मे भी प्रवेश कर चुका है। इसके माघ्यम से कुकिंग होम डिजाइन रिमाॅडलिंग आदि की व्यवस्थाएॅ घर बैठे ही उपलब्ध करायी जाती है। अधिकतर मल्टीमीडिया प्रोजेक्टस घरो मे टेलीविजन सेट या माॅनिटरो के माध्यमो से पहुचें है। आज के समय मे मल्टीमीडिया के कम्प्यूटर या तो अपने कम्प्यूटर के माध्यम से जुडे हुए हौ। जैसे- x-box and sany play station machine etc. computer के साथ CD-ROM and DVD Drive जुडी होती है। ग्रहणी घर घर बैठकर ही अपने कम्प्यूटर पर इन्टरनेट के माध्यम से मल्टीमीडिया को आनन्द उठाती है। इसके माध्यम से 3D games को खेलती है। मोबाइल की ringtones, wallpaper etc. को download करती है। तथा मूवीज भी देख सकते है।
4. पब्लिक  मे मल्टीमीडिया- होटलो, ट्रेनो, स्टेशनो पर, shopping mall मे लाइब्रेरी तथा grocery stores मे मल्टीमीडिया standalone terminals के रूप मे पहले से ही उपलब्ध है। जो कस्टमरो के लिये इनफाॅरमेशन को उपलब्ध कराने मे सहायता करता है। मल्टीमीडिया Cell phones and PADAS के रूप मे wireless डिवाइसो के माध्यम से pipe up होता है। इस तरह के installations पारम्परिक ब्रूथ तथा व्यक्तिगत तौर पर माॅग की परिपूर्ति करते है। और हम समय माॅग को पूरा करने के लिये उपलब्ध होते है। मल्टीमीडिया ने हमारे कल्चर के रहन सहन को पूरी तरह से परिवर्तित कर दिया है। जैसे एक supermarket kiosk, meal प्लानिग की सेवाओ को उपलब्ध कराता है। होटल kiosk list नजदीकी रेस्ट्रोरेन्ट शहर के map एयरलाइन शेडयूल्स इत्यादि को उपलब्ध कराती है।
5.virtual reality- आज के समय मे मल्टीमीडिया का virtual reality के रूप मे अत्याधिक प्रभाव है। virtual reality हमे काल्पनिक रूप मे घटनाओ का इस तरह अहसास कराती है कि जैसे-ये घटनाये वास्तविक रूप से हमारे सामने घट रही है। virtual reality के आगमन से 3D वातावरण का प्रयोग अत्याधिक रूप से किया जाने जगा है गेम्स, रिसर्च, medicines  इत्यादि के क्षेत्रो मे virtual reality ने अपना काफी प्रभाव छोडा है।

You may also like...

4 Responses

  1. manish says:

    This side is good and raise benefit each of candidate

  2. khushdeep kaur says:

    The site is very good very benefit me

  3. kratika mehto says:

    This side is very good and very benefit me

  4. Priya verma says:

    This site is vry vry good and good language it solve my problem

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *