Internet and web page designing

Cloud Storage

Cloud Storage (क्लाउड स्टोरेज)

यह डिजिटल डाटा को स्टोर करने का एक ऐसा तरीका है जिसमें डाटा को विभिन्न सर्वरों पर अलग-अलग जगह स्टोर किया जाता है जिन्हें किसी होस्टिंग कंपनी या क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर द्वारा मैनेज किया जाता है कोई भी व्यक्ति या संस्था क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर कंपनी से अपने डेटा को स्टोर करने के लिए स्पेस खरीद सकती है या किराए पर ले सकती है क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर की यह जिम्मेदारी होती है कि वह User को मांगे जाने पर उनका डाटा उपलब्ध कराएं एवं उसके द्वारा प्रदान किया गया फिजिकल एनवायरनमेंट अच्छी तरह से Run हो एवं सुरक्षित रहे जिससे यूजर को कोई परेशानी ना हो|

उदाहरण – amazon S3, Microsoft Azure storage, apple iCloud, VION Capacity series, openstack swift, oceanstore, VISION cloud.


Types of Cloud Storage (क्लाउड स्टोरेज के प्रकार)

Personal Cloud Storage (पर्सनल क्लाउड स्टोरेज)

इसे “मोबाइल क्लाउड स्टोरेज” के नाम से भी जाना जाता है इसके अंतर्गत किसी व्यक्ति का व्यक्तिगत डेटा क्लाउड पर सपोर्ट किया जाता है तथा वह व्यक्ति अपने इस डाटा को कहीं से भी एक्सेस कर सकता है|
जैसे – apple’s cloud

Public Cloud Storage (पब्लिक क्लाउड स्टोरेज)

इसके अंतर्गत किसी संस्था का डाटा क्लाउड पर स्टोर किया जाता है लेकिन कोई भी क्लाउड रिसोर्स संस्था के डाटा सेंटर पर नहीं होता क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर संस्था के डाटा को पब्लिक क्लाउड पर मैनेज करता है|

Private Cloud Storage (प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज)

इसके अंतर्गत संस्था एवं क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर आपस में जुड़े रहते हैं क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर संस्था के डाटा सेंटर में अपना इंफ्रास्ट्रक्चर लगाता है|प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज महंगा पड़ता है लेकिन यह परफॉर्मेंस एवं सिक्योरिटी में बेहतर होता है|

Hybrid Cloud storage (हाइब्रिड क्लाउड स्टोरेज)

यह पब्लिक एवं प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज का सम्मिलित रुप है इसमें कुछ डाटा संस्था के डाटा सेंटर पर तथा कुछ पब्लिक क्लाउड स्टोर पर रखा जाता है|


Architecture of Cloud Storage (क्लाउड स्टोरेज का आर्किटेक्चर)

Cloud Storage

  • विभिन्न जगहों पर फैले हुए रिसोर्सेज का समूह होता है जो एक साथ मिलकर एक रिसोर्स की भांति कार्य करते हैं|
  • इसमें फेलियर रेट बहुत कम होती है यह highly fault toleranat होता है|
  • इसमें डाटा को कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है|
  • इसमें डाटा की पुनरावृत्ति मैं कमी आती है क्योंकि डाटा केबल एक जगह ही स्टोर होता है तथा कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है|
  • चूँकि डाटा एक जगह ही स्टोर होता है अतः किसी भी प्रकार का परिवर्तन करने पर यह सभी यूजर को एक जैसा दिखता है

Advantages of Cloud Storage (क्लाउड स्टोरेज के लाभ)

  1. इसमें डाटा को कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है|
  2. क्लाउड स्टोरेज की सहायता से कोई भी कंपनी बहुत सारे रिसोर्सेज जो कि किसी दूसरी संस्था में लगे हैं का प्रयोग कर सकती है|
  3. क्लाउड स्टोरेज से वर्चुअल मशीन इमेज को एक डाटा सेंटर से दूसरे डाटा सेंटर तक पहुंचाया जा सकता है|
  4. यदि किसी व्यक्ति या कंपनी को महंगे रिसोर्स केवल कुछ ही समय के लिए ही उपयोग करने हो तो कंपनी इन्हें खरीदने की जगह क्लाउड स्टोरेज पर किराए पर उपयोग कर सकती है इसके अंतर्गत कंपनी को केवल उतना ही भुगतान करना पड़ता है जितना स्पेस उसने प्रयोग किया है|

Disadvantages of Cloud Storage (क्लाउड स्टोरेज से हानियां)

  1. स्लो इंटरनेट कनेक्शन में यह उपयोगी नहीं है स्लो इंटरनेट कनेक्शन मैं इसके द्वारा फाइलों को एक्सेस करने एवं शेयर करने में दिक्कत होती हैं |
  2. कुछ GB डाटा स्टोरेज के बाद यह महंगा हो जाता है अतः जिन कंपनियों को बहुत बड़े स्टोरेज की आवश्यकता होती है उनके लिए यह महंगा साबित होता है|

Download our Android App

Computer Hindi Notes Android App

Latest update on Whatsapp

अति आवश्यक सूचना

यदि आपको कंप्यूटर विषय से सम्बंधित कोई नोट्स नहीं मिल रहे हैं तो हमें सूचित करें

Request Form / निवेदन फॉर्म 

जिनके नोट्स बन गए हैं वो अपने नोट्स नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं
Requested notes / अनुरोध किए गए नोट