Computer Printer History

Computer Printer History

प्रिंटर एक आउटपुट डिवाइस है, जो कंप्यूटर के द्वारा प्राप्त result को या softcopy को पेज पर print करके hardcopy के रूप में प्रदान करता है, प्रिंटर की quality को dot per inch में मापा जाता है। और प्रिंटर की स्पीड को character per second, page per minute, line per minute में मापा जाता है। इस लेख में हम प्रिंटर के इतिहास के बारे में जानेंगे| अगर आप प्रिंटर के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो आप नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक कर सकते हैं|

प्रिंटर क्या हैं उसके प्रकार

History of Computer Printer

आइये जानते है Computer printer history के बारे में

1837

  • 1837 में पहला Mechanical Printer, चार्ल्स बैबेज द्वारा design किया गया था।
  • इस printer को डिफरेंस इंजन के साथ use किया गया।
  • डिफरेंस इंजन को चार्ल्स बैबेज द्वारा 14 जून 1822 में बनाया गया था।

1868

  • Typewriter को कीबोर्ड और प्रिंटर के लिए एक precursor के रूप में define किया जा सकता है।
  • Christopher Sholes द्वारा 1868 में पहले Typewriter का आविष्कार किया गया। इसे QWERTY कीबोर्ड के साथ बनाया गया था, जिससे blind write (बिना देखे लिखना) में कुछ मदद मिल सके।
  • 14 जुलाई, 1868 को Sholes ने इस typewriter के लिए Patent कराया था।

1953

  • पहला high-speed printer 1953 में Remington-Rand द्वारा विकसित किया गया था। इसे UNIVAC (Universal Automatic Computer) कंप्यूटर के साथ उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया था।
    Note : UNIVAC कंप्यूटर को American electrical engineer & computer Scientist John Adam Presper Eckert Jr. द्वारा 31 मार्च, 1951 में develop किया गया था।

1957

  • 1957 में IBM पहला Dot Matrix प्रिंटर बनाया।
  • Alternatively Dot matrix प्रिंटर को pin प्रिंटर के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस प्रकार के प्रिंटर में किसी image या text को बनाने के लिए छोटे-छोटे सैकडों/हजारों dots का use किया जाता है।
  • Low quality images और slow print speed की वजह से present time में dot matrix printers का use बहुत कम किया जाता है।

1968

  • Shinshu Seiki Company (वर्तमान में Epson) ने 1968 में पहला electronic mini-printer बनाया।
  • EP-101 पहला ऐसा इलेक्ट्रॉनिक प्रिन्टर था, जिसका use किसी symbol या figure को प्रिंट करने के लिए किया जाता था।

1970

  • Computer और printer बनाने वाली अमेरिका की एक कंपनी Centronics Data Computer Corporation द्वारा पहला dot matrix impact printer 1970 में विकसित किया गया था।
  • इस printer में printing के लिए seven-wire solenoid impact system को include कर के एक print head का use किया जाता था।

1971

  • Gary Starkweather ने Xerox Corporation में काम करते हुए, Xerox Model-7000 copier में संशोधन करके पहला Laser Printer विकसित किया।
  • इस प्रिंटर को properly develop करके 1971 में release किया गया।
    Note:- XEROX Corporation की स्थापना 1906 में की गई थी। यह printers, copiers, scanners, faxing machines और other related products के लिए Commercial/Business Product solutions provide करता है।

1972

  • पहला Thermal Printer 1972 के आसपास market में उपलब्ध हुआ।
  • इसे मुख्य रूप से Portable machines एवं retail stores में उपयोग के लिए डिज़ाइन किया गया था।
  • इसके अलावा labels create करने, safety signs, wayfinding markers, barcodes, shipping labels तथा अन्य heavily-used items (अधिक उपयोग होने वाली वस्तुयें) में भी इस प्रिंटर का use किया जाता था।

1976

  • पहला Inkjet Printer 1976 में हेवलेट-पैकार्ड (hp) द्वारा विकसित किया गया था।
  • जब इस printer को develop किया गया, तब इसका उपयोग बहुत कम किया जाता था।
  • 1980 के दशक तक Inkjet printer ज्यादा popular नहीं हुए थे।
    NOTE:- 1 जनवरी 1939 को William Hewlett और David Packard, द्वारा स्थापित Hewlett-Packard (hp) दुनिया के सबसे बड़े Computer और peripheral devices बनाने वाले निर्माताओं में से एक है। hp द्वारा इन products के अलावा measurement instruments का production भी किया जाता है।
  • IBM-3800 प्रिंटिंग सिस्टम, को 1976 में IBM द्वारा design किया गया था। commercially best service provide करने वाला यह पहला हाई-स्पीड लेजर प्रिंटर था।

1977

  • Siemens ने 1977 में पहला DOD (Drop-on-Demand) इंकजेट प्रिंटर विकसित किया। DOD प्रिंटर Page पर आवश्कतानुसार ink को spray करता है।
  • Drop system की वजह से इसकी printing speed बहुत slow होती है।
  • इसलिए इसका उपयोग web-fed technology जैसे कि- industrial applications में नहीं किया जा सकता। घर या officially work के लिए यह printer अधिक suitable है।

1979

  • जापानी कैमरा और ऑप्टिक्स कंपनी Canon ने कम लागत वाला पहला सेमीकंडक्टर डेस्कटॉप लेजर बीम प्रिंटर, Canon LBP-10 बनाया।
  • लेकिन Canon कंपनी के पास इस printer को Computer users को sell करने का experience नहीं था, इसलिए Canon ने तीन Silicon Valley companies: Diablo Data Systems,  Hewlett-Packard (HP), और Apple Computer के साथ partnership की demand की। इनमें से Diablo Data Systems कंपनी ने Canon के साथ partnership के इस offer को reject कर दिया था।

1984

  • 1984 में Hewlett-Packard ने अपना पहला Laser प्रिंटर HP Laser Jet लॉन्च किया।
  • इस प्रिंटर की size की बात की जाए तो यह पहले के printers की अपेक्षा काफी हद तक suitable था एवं एक Desktop पर बिल्कुल fit बैठता था।
  • इसी वर्ष HP ने अपने पहले थर्मल इंकजेट प्रिंटर, HP-ThinkJet को भी लांच किया।

1988

  • 1988 में Hewlett-Packard ने एक और नए HP DeskJet इंकजेट प्रिंटर को पेश किया। उस समय इस printer को $1000 में बेचा गया था। यह पहला mass-marketing या commercial इंकजेट प्रिंटर था।
  • इस प्रिंटर की सफलता के बाद market में printers ओर भी ज्यादा popular हो गए एवं बड़े स्तर पर printers के उपयोग की एक series की शुरुआत हुई।
  • 1988 में Scott Crump ने FDM (fused deposition modeling) नाम की एक technology बनाई, और अपनी इस technology को इसी वर्ष उन्होंने Patent भी कराया।
  • आज के कई आधुनिक 3D प्रिंटर्स में FDM technology का use किया जाता है।
  • इस तकनीक में common printing के लिये मुख्य रूप से ABS (Acrylonitrile Butadiene Styrene) thermoplastic filament का use किया जाता है जिसे इसके Melting point तक गर्म किया जाता है।
  • इसके बाद three dimensional object को बनाने के लिए इस filament को layer-by-layer बाहर निकाला जाता है।

1992

  • 3D प्रिंटर्स बनाने वाली एक American-Israeli कंपनी Stratasys, Inc. ने 1992 में अपने पहले 3D प्रिंटर को market में उपलब्ध कराया।
  • इस प्रिंटर में FDM तकनीक का उपयोग किया गया था।
  • इस प्रिंटर को कंपनी के co-founder S. Scott Crump. द्वारा 1992 में Patent कराया गया।

2009

  • 2009 में FDM (fused deposition modeling)पर S. Scott Crump. का patent समाप्त हो गया।
  • इस तकनीक का उपयोग करने के लिए एक open-source-development community “RepRap” को बनाया गया।
  • RepRap ने अन्य व्यावसायिक कम्पनियों के साथ partnership की एवं नये 3D Printers बनाने के लिये FDM technology का use किया।
error: Content is protected !!