Introduction to HTML 5

Introduction to HTML 5

HTML का पूरा नाम Hyper Text Markup Language है। इसे मार्कअप भाषा का उपयोग करके वेब पेज डिजाइन करने के लिए उपयोग किया जाता है। HTML हाइपरटेक्स्ट और मार्कअप भाषा का संयोजन है। हाइपरटेक्स्ट वेब पेजों के बीच की कड़ी को define करता है। मार्कअप भाषा का उपयोग टैग के भीतर टेक्स्ट डॉक्यूमेंट को define करने के लिए किया जाता है जो वेब पेजों के स्ट्रक्चर को define करता है। HTML 5, HTML का पांचवा और वर्तमान वर्जन है। इसने डॉक्यूमेंट के लिए उपलब्ध मार्कअप में सुधार किया है और application programming interfaces (API) और Document Object Model (DOM) पेश किया है।

सरल शब्दों में-

  • HTML एक Hyper Text Markup Language है|
  • HTML वेब पेज बनाने के लिए स्टैंडर्ड मार्कअप भाषा है|
  • HTML एक वेब पेज के structure का वर्णन करता है|
  • HTML में elements की एक श्रृंखला होती है|
  • HTML element ब्राउज़र को content प्रदर्शित करने का तरीका बताते हैं|

Features of HTML 5

  • HTML 5 में नए मल्टीमीडिया फीचर्स पेश किए गए हैं जो ऑडियो और वीडियो कण्ट्रोल को सपोर्ट करते है| इसके लिए <audio> और <video> टैग का उपयोग किया जाता है।
  • इसमें वेक्टर ग्राफिक्स और टैग सहित नए ग्राफिक्स एलेमेंट्स को जोड़ा गया हैं।
  • <header> <footer>, <article>, <section> और <figure> आदि को शामिल किया गया हैं|
  • Drag and Drop – यूजर्स किसी वस्तु को पकड़ सकता है और उसे खींचकर आगे किसी नए स्थान पर ले जा सकता है।
  • Geo-location services – यह क्लाइंट की भौगोलिक स्थिति का पता लगाने में मदद करता है।
  • वेब स्टोरेज सुविधा जो वेब ब्राउज़र पर डेटा को स्टोर करने के लिए वेब एप्लिकेशन मेथड प्रदान करती है।
  • यह ऑफ़लाइन डेटा स्टोर करने के लिए SQL डेटाबेस का उपयोग करता है।
  • यह triangle, rectangle, circle आदि विभिन्न आकृतियों को आकर्षित करने की अनुमति देता है।
  • यह गलत सिंटैक्स को संभालने में सक्षम हैं|
  • इसमें आसान DOCTYPE declaration यानी <! Doctype html>
  • आसान character encoding यानी < <meta charset = “UTF-8 e>

HTML History

YearVersion
1989Tim Berners-Lee invented www
1991Tim Berners-Lee invented HTML
1993Dave Raggett drafted HTML+
1995HTML Working Group defined HTML 2.0
1997W3C Recommendation: HTML 3.2
1999W3C Recommendation: HTML 4.01
2000W3C Recommendation: XHTML 1.0
2008WHATWG HTML5 First Public Draft
2012WHATWG HTML5 Living Standard
2014W3C Recommendation: HTML5
2016W3C Candidate Recommendation: HTML 5.1
2017W3C Recommendation: HTML5.1 2nd Edition
2017W3C Recommendation: HTML5.2

Advantages of HTML 5

  • यह सभी ब्राउज़रों में सपोर्ट करता हैं|
  • यह अधिक डिवाइस के अनुकूल हैं|
  • यह उपयोग में आसान हैं|

CSS, JavaScript आदि के साथ HTML 5 अच्छी और सुंदर वेबसाइटों के निर्माण में मदद कर सकता है।

Disadvantages of HTML 5

  • इसमें लंबे कोड को लिखना होता है जो अधिक समय लेता है।
  • केवल लेटेस्ट ब्राउज़र ही इसको सपोर्ट करते हैं।

Why to use HTML? (HTML का उपयोग क्यों करें?)

HTML हमारी वेबसाइट को अच्छी तरह से तैयार करने में मदद करता है। जिस तरह से एक कंकाल सिस्टम मानव शरीर को एक स्ट्रक्चर देता है उसी तरह से HTML वेबसाइट के लिए एक कंकाल के रूप में कार्य करता है, इसके बिना वेबसाइट नहीं बनाई जा सकती। यदि आप विशेष रूप से वेब डेवलपमेंट डोमेन में एक सॉफ्टवेयर डेवलपर के रूप में काम करना चाहते हैं, तो HTML सीखना आवश्यक है, क्योंकि इसके ज्ञान के बिना आप वेबसाइट नहीं बना सकते।

Base for creating websites (वेबसाइट बनाने का आधार): HTML एक बेसिक आवश्यकता है, जो एक डेवलपर को स्क्रैच से वेबसाइट बनाते समय पता होना चाहिए।

Learn web development (वेब डेवलपमेंट सीखें): HTML वेब डेवलपमेंट सीखने की दिशा में पहला कदम है। एक बार जब आप HTML सीख लेते हैं, तो आप बहुत आसानी से सरल, Static वेबसाइट बना सकते हैं।

Can become freelancer (फ्रीलांसर बन सकते हैं): चूंकि फ्रीलांसिंग में वेब डेवलपमेंट का सबसे अच्छा स्कोप है, इसलिए HTML सीखने से निश्चित रूप से आपको मार्केट डेवलपमेंट में वेबसाइट के बेहतरीन डील मिलेंगी|

Basic Format of HTML 5: यह एक साधारण वेब पेज बनाने का Basic Format है।

<!DOCTYPE html>
<html>
       <head>
           <title>title content</title>
       </head>
       <body>
           …..body content….
       </body>
</html>
error: Content is protected !!