HTML

HTML में फ्रेम टैग का प्रयोग कैसे करें

HTML में फ्रेम का प्रयोग कैसे करें (How to Use Frame in HTML)

HTML फ़्रेम का उपयोग आपकी ब्राउज़र विंडो को कई खंडों में विभाजित करने के लिए किया जाता है जहां प्रत्येक अनुभाग एक अलग HTML दस्तावेज़ लोड कर सकता है। ब्राउज़र विंडो में फ़्रेम का संग्रह फ़्रेमसेट के रूप में जाना जाता है। विंडोज को समान तरीके से फ्रेम में विभाजित किया गया है जैसे कि तालिकाओं को रो और कॉलम में व्यवस्थित किया जाता है|

Learn HTML in Hindi (Frame & Iframe tag by Video Tutorial)

अगर आप html में frame और iframe टैग के बारे में सीखना चाहतें हैं तो नीचे दिया गया विडियो जरुर देखें|

फ्रेम्स से नुकसान

  • कुछ छोटे डिवाइस अक्सर फ़्रेम का प्रयोग नहीं कर पाते हैं क्योंकि उनके पास स्क्रीन को विभाजित करने के लिए पर्याप्त आकार नहीं होता है।
  • कभी-कभी आपका पेज अलग-अलग कंप्यूटरों पर अलग-अलग स्क्रीन रिज़ॉल्यूशन के कारण अलग-अलग प्रदर्शित किया जाता है।
  • यूजर की आशा के अनुसार ब्राउज़र का बैक बटन काम नहीं कर सकता है।
  • अभी भी कुछ ब्राउज़र हैं जो फ़्रेम तकनीक का समर्थन नहीं करते हैं।

फ्रेम्स बनाना

किसी पेज पर फ़्रेम का उपयोग करने के लिए हम <body> टैग के बजाय <Frameset> टैग का उपयोग करते हैं। < Frameset > टैग परिभाषित करता है, विंडोज को फ्रेम में कैसे विभाजित किया जाए। Row की विशेषता < Frameset > टैग हॉरिजॉन्टल फ्रेम को परिभाषित करता है और Col विशेषता वर्टीकल फ्रेम को परिभाषित करता है। प्रत्येक फ़्रेम <Frame> टैग द्वारा इंगित किया गया है और यह परिभाषित करता है कि कौन सा HTML दस्तावेज़ फ़्रेम में खुल जाएगा।

नोट – HTML 5 में <Frame> टैग को हटा दिया गया है।

Row का उदाहरण

<html>

<head>

<title>HTML Frames</title>

</head>



<frameset rows = “10%,80%,10%”>

<frame name = “top” src = “image1.jpeg” />

<frame name = “main” src = “image2.jpeg” />

<frame name = “bottom” src = “image3.jpeg” />

</frameset>

</html>

Col का उदाहरण

<html>

<head>

<title>HTML Frames</title>

</head>

<frameset cols = “25%,50%,25%”>

<frame name = “left” src = “image1.jpeg” />

<frame name = “center” src = “image2.jpeg” />

<frame name = “right” src = “image3.jpeg” />

</frameset>

</html>

<Frameset> टैग की विशेषताएँ

  • कॉलम (Column)

कॉलम निर्दिष्ट करता है कि फ़्रेमसेट और प्रत्येक कॉलम के आकार में कितने कॉलम समाहित हैं। आप प्रत्येक कॉलम की चौड़ाई बदलने के लिए निम्न तरीकों में से किसी एक का प्रयोग कर सकते हैं|

  1. संख्या का प्रयोग करें उदाहरण के लिए, तीन ऊर्ध्वाधर फ्रेम बनाने के लिए, cols = “300,400,300” का उपयोग करें।
  2. प्रतिशत का प्रयोग करें उदाहरण के लिए, तीन ऊर्ध्वाधर फ्रेम बनाने के लिए, cols = “10%, 80%, 10%” का उपयोग करें।
  3. वाइल्डकार्ड प्रतीक का उपयोग करें उदाहरण के लिए, तीन ऊर्ध्वाधर फ्रेम बनाने के लिए, cols = “10%, *, 10%” का उपयोग करें। इस स्थिति में वाइल्डकार्ड विंडो के शेष लेता है।
  • पंक्तियों (Rows)

यह विशेषता भी कॉलस विशेषता की तरह ही काम करती है और समान मान लेती है, लेकिन इसका उपयोग Frameset में Rows को निर्दिष्ट करने के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, दो क्षैतिज फ्रेम बनाने के लिए, Rows का उपयोग करें = “10%, 90%”। आप प्रत्येक Row की ऊँचाई उसी तरह निर्दिष्ट कर सकते हैं जैसे कि Column के लिए ऊपर बताई गई है।

  • बॉर्डर (Border)

यह विशेषता पिक्सेल में प्रत्येक फ्रेम की Border की चौड़ाई को निर्दिष्ट करती है। उदाहरण के लिए, Border = “5”। शून्य के मूल्य का मतलब कोई Border नहीं है।

  • फ्रेमबॉर्डर (Frameborder)

यह विशेषता निर्दिष्ट करती है कि क्या फ़्रेमसेट में बॉर्डर प्रदर्शित की जानी चाहिए। यह विशेषता 1 (हाँ) या 0 (नहीं) का मान लेती है। उदाहरण के लिए Frameborder = “0” कोई सीमा नहीं निर्दिष्ट करता है।

  • फ्रेम स्पेसिंग (framespacing)

यह विशेषता फ़्रेमसेट के बीच फ़्रेम में स्थान की मात्रा को निर्दिष्ट करती है। यह किसी भी पूर्णांक मान को ले सकता है। उदाहरण के लिए framespacing = “10” का अर्थ है कि प्रत्येक फ़्रेमसेट के बीच 10 पिक्सेल का अंतर होना चाहिए।

सिलेबस के अनुसार नोट्स
DCA, PGDCA, O Level, ADCA, RSCIT, Data Entry Operator
यहाँ क्लिक करें


Rs. 50 जीतने का मौका
सब्सक्राइब करें और जीतें
यहाँ क्लिक करें