Linux Operating System

Linux file system

हार्ड डिस्क में हजारो फाईले संग्रहित रहती है इन फाईलो के  अलग- अलग समूहों को अलग अलग डायरेक्टरीयो में रखकर बनने वाली संरचना फाइल सिस्टम कहलाती है, किसी भी हार्ड डिस्क पार्टीशन में संगृहित फाईलो की hierarchy  तथा डायरेक्टरी की संरचना फाइल सिस्टम कहलाती है|

माइक्रोसॉफ्ट डॉस या विंडोज के समान ही लाइनेक्स में हार्ड डिस्क ड्राइव की प्रथम या मूल डायरेक्ट्री रूट डायरेक्ट्री कहलाती है, तथा जिस प्रकार विंडोज वातावरण में रूट डायरेक्ट्री के अंतर्गत my document, recycle bin ,programs file आदि प्रमुख सबडायरेक्टरीया मिलती है ,जिनमे से प्रत्येक डायरेक्ट्री की अपनी विशिष्ट भूमिका होती है उसी प्रकार लाइनेक्स में भी हमे रूट डायरेक्ट्री के अंतर्गत- bin, boot, dev, home, lib, user आदि सब डायरेक्टरी  बनी बनाई मिलती है जिनमे विभिन्न श्रेणियों से सम्बंधित अलग-अलग फाइल संगृहित होती है |प्रमुख डायरेक्टरी निम्न प्रकार से है –

रूट डायरेक्ट्री :-

|–bin  डायरेक्ट्री (लाइनक्स के आवश्यक यूटिलिटी प्रोग्रामो का संग्रह)

|–boot  डायरेक्ट्री  (लाइनक्स के बूटिंग सम्बंधित सूचनाओ का संग्रह)

|–dev  डायरेक्ट्री (उपकरणों जैसव हार्डडिस्क, प्रिंटर आदि से सम्बंधित फाईले )

|–etc  डायरेक्ट्री (विभिन्न कोंफिगारेशन फाईलो का संग्रह)

|–home डायरेक्ट्री (विभिन्न यूजर्स डायरेक्टरीयो का संग्रह)

|–User 1

|–Ravi

|–Ram

|–User 4

|–Lib डायरेक्ट्री (सॉफ्टवेयर  लायब्रेरीकर्नेल मोड्यूल आदि का संग्रह)

|–mnt डायरेक्ट्री (इसके अंतर्गत हम अन्य संग्रहण उपकरणों के फाइल सिस्टम माउन्ट कर सकते है  )

जैसे-:

|–cdrom    डायरेक्ट्री (CD Rom)

|–floppy   डायरेक्ट्री (Floppy drive)

|–zap        डायरेक्ट्री (Zap drive)

|–root       डायरेक्ट्री (यह एक रूट नाम से संगृहीत डायरेक्ट्री होती है जहा सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर कार्य करता है |

|–tmp     डायरेक्ट्री (इन्टरनेट सम्बंधित अस्थायी फाईले यहाँ संगृहीत होती है जिन्हें हम बाद में डिलीट कर सकते है)

|–user       डायरेक्ट्री (अतिरिक्त यूटिलिटी प्रोग्राम तथा यूजर द्धारा बनाये गए प्रोग्रामो का संग्रह)

|–games

|–local      डायरेक्ट्री (यूजर निर्मित प्रोग्राम)

|–src         डायरेक्ट्री (यूजर द्धारा बनाये गए लोकल प्रोग्रामो का सोर्स कोड)

|–ver         डायरेक्ट्री (सिस्टम लोग फाईलो का संग्रह)

.Bin डायरेक्टरी :- बिन डायरेक्ट्री लाइनक्स में उपस्थित यूटिलिटी तथा कमांड्स को संगृहीत करके रखती है | इस डायरेक्ट्री में रखे गए सभी प्रोग्राम तथा कमांड बाइनरी  फोर्मेट में होते है, इसलिए इस डायरेक्ट्री को बिन डायरेक्ट्री कहते है | इस डायरेक्ट्री के अंतर्गत आने वाली सभी कमांड्स को  हम डॉस के सामान ही लाइनक्स के कमांड प्रांप्ट (#प्रोम्प्ट/$प्रोम्प्ट) पर चला सकते है |

.dev डायरेक्टरी :- /dev डायरेक्ट्री में अधिकांश कंप्यूटर उपकरणों जैसे- प्रिंटर, माईक, श्रवण यंत्रो (Audio Devices) संग्रहण तंत्रों (Storage Device), जैसे- हार्डडिस्क, फ्लॉपी डिस्क, सी.डी.रोम आदि से सम्बंधित फाईले उपलब्ध होती है

.etc डायरेक्टरी :- जैसा की नाम से स्पष्ट है इस डायरेक्टरी में विविध प्रकार की मिश्रित एवं अतिरिक्त फाईले (miscellaneous) एवं डायरेक्टरीया रहती है |

./lib डायरेक्टरी :- इस डायरेक्टरी में सिस्टम लाइब्रेरी होती है जिसमे कम्पाइलर के लिए आवश्यक डाटा होता है विभिन्न कमांड तथा प्रोग्राम फायलो के क्रियान्वन के लिए कम्पाइलर को इस डाटा की आवश्यकता होती है |

.home डायरेक्टरी :- इस डायरेक्ट्री में अधिकांशतः यूजर के द्धारा बनायीं गई डायरेक्टरीया होती है |

./user डायरेक्टरी :- इस डायरेक्ट्री में  हार्ड डिस्क के अतिरिक्त अन्य संग्रहण उपकरणों जैसे-गेम्स आदि तथा स्वयं यूजर द्धारा बनाये गए प्रोग्राम संलग्न होते है |जैसे /user/bin डायरेक्टरी में यूजर के लिए उपयोगी अतिरिक्त यूटिलिटी प्रोग्राम है |

./mnt डायरेक्टरी :-इस डायरेक्ट्री का उपयोग हार्ड डिस्क के अतिरिक्त अन्य संग्रहण उपकरणों जैसे- सी.डी रोम आदि को डायरेक्ट्री का हिस्सा बनाने के लिया जाता है | तथा इसमें इन संग्रहण उपकरणों के फाइल सिस्टम अलग से संलग्न रहते है |

.tmp डायरेक्टरी:- इस डायरेक्ट्री में अस्थायी वर्क फाईले संगृहीत होती है ,जब हम यूटिलिटी प्रोग्रामो को चलाते है, तो क्रियान्वित  होते समय ये प्रोग्राम इन अस्थायी फाईलो को बनाते है| इस डायरेक्ट्री की फाईलो को लाइनक्स स्वयं समय समय पर अपने आप डिलीट करता रहता है|

Types of file in Linux

लाइनक्स में फाईलो के प्रकार :- लाइनक्स में प्रोग्राम डाटा फाइल तथा कुछ विशेष फाइल  भी होती है लाइनक्स की इन सभी तरह की फाइल्स को मुख्य रूप से दो  श्रेणियों में बाँट सकते है |

Ordinary Files:-(साधारण फाइल )इसमें यूजर द्धारा बनायीं गई फाइल्स  सम्मिलित होती है जैसे –डाटा फाइल , प्रोग्राम फाइल , ऑब्जेक्ट फाइल ,करणीय फाइल (executable file) डायरेक्टरी फाइल आदि | लाइनक्स में डायरेक्ट्री भी अपने आप में एक फाईल होती है | जिसमे दूसरी फाइल्स  तथा सब डायरेक्टरी रखी जाती है जब भी हम डायरेक्ट्री बनाते है तो लाइनक्स उससे सम्बंधित डायरेक्ट्री फाईल बनाता है |

Special device file :-(विशेष फाइल )अधिकांश  सिस्टम फाइलें स्पेशल फाइलें होती है ये फाइलें सिस्टम की  भौतिक संरचना को
प्रदर्शित करती है। अर्थात् इन फाइलों के अन्तर्गत विभिन्न भोैतिक यंत्रों जैसे प्रिंटर ,मॉनिटर  से संबंधित फाइलें होती है इन फाइलों का उपयोग आपरेटिंग सिस्टम को हाडवेयर से सम्बन्धित करने के लिए किया जाता है।

 

Add Comment

Click here to post a comment

अति आवश्यक सूचना

यदि आपको कंप्यूटर विषय से सम्बंधित कोई नोट्स नहीं मिल रहे हैं तो हमें सूचित करें

Request Form / निवेदन फॉर्म 


जिनके नोट्स बन गए हैं वो अपने नोट्स नीचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं
Requested notes / अनुरोध किए गए नोट 

CPCT Computer Objective Questions