Internet and web page designing

Types of E – Commerce

Types of E – Commerce (ई कॉमर्स के प्रकार)

ई-कॉमर्स कई प्रकार का होता है हम एक प्रकार के ई कॉमर्स को दूसरे प्रकार के ई कॉमर्स से इस आधार पर अलग करते हैं कि उनमें विक्रेता कौन है और क्रेता कौन है? हालाँकि इ कॉमर्स को निम्नलिखित चार मुख्य श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है|

  1. व्यापार से उपभोक्ता (B2C)
  2. व्यापार से व्यापार (B2B)
  3. उपभोक्ता से उपभोक्ता (C2C)
  4. मोबाइल कॉमर्स (M Commerce)

व्यापार से उपभोक्ता (Business to Consumer)

इसे संक्षेप में B2C ई-कॉमर्स भी कहा जाता है केवल E Commerce कहने से वास्तव में इसी प्रकार के ई कॉमर्स का बोध होता है हालांकि इसकी मात्रा तुलनात्मक रूप से कम होती है इस प्रकार के ई कॉमर्स में कोई कंपनी अपने उत्पाद एवं सेवाएं उपभोक्ताओं को बेचती है ऐसे मामलों में कंपनी की एक वेबसाइट होती है जिसमें से ग्राहक सूचनाएं ले सकता है और किसी उत्पाद या सेवा का आदेश दे सकता है इस प्रकार का E Commerce भी प्रायः कई रूपों में किया जाता है जैसे वेब पोर्टल, ऑनलाइन रिटेलर, सामग्री प्रदाता, लेनदेन, ब्रोकर सेवा प्रदाता आदि|

व्यापार से व्यापार (Business to Business)

इसे संक्षेप में B2B E-Commerce कहां जाता है इस प्रकार के ई कॉमर्स में कोई कंपनी अपने उत्पाद और सेवाएं दूसरी कंपनियों को बेचते हैं या उनसे खरीदती हैं यह कॉमर्स का सबसे बड़ा रूप या भाग है वास्तव में ई कॉमर्स के सभी रूपों में इस ग्रुप के विस्तार की संभावनाएं सबसे अधिक है प्रारंभ में इस प्रकार के ई कॉमर्स में व्यापारियों के बीच आपसी खरीद-बिक्री या लेनदेन ही होता था परंतु समय के साथ इनमें कई मॉडल विकसित हो गए हैं जैसे ई वितरक, बी2बी सर्विस प्रदाता, मैच मेकर, सूचना दलाल आदि इनके कारण व्यापार से व्यापारी कॉमर्स विस्तृत होता जा रहा है|

उपभोक्ता से उपभोक्ता (Consumer to Consumer)

इसे संक्षेप में C2C ई-कॉमर्स भी कहते हैं इस प्रकार के ई कॉमर्स में उपभोक्ता अपनी वस्तुएं आपस में एक दूसरे को बेच सकते हैं इसमें किसी ऑनलाइन मार्केट की सुविधा उपलब्ध कराने वाली वेबसाइट जैसे नीलामी की वेबसाइट की सहायता ली जाती है इस प्रकार की कॉमर्स की मात्रा अपेक्षाकृत रूप से कम है ऐसे ई कॉमर्स में किसी वस्तु को बेचने की इच्छा रखने वाला कोई भी उपभोक्ता अपनी वस्तु का वितरण और अपेक्षित मूल्य वेबसाइट पर डाल सकता है अन्य उपभोक्ता उस वस्तु के लिए बोली लगा सकते हैं वेबसाइट का स्वामी या संचालक अपना कमीशन लेकर उस वस्तु के विक्रय और धन को लेनदेन के संभव बनाता है|
उदाहरण के लिए इंटरनेट पर नीलामी की सबसे बड़ी वेबसाइट ebay.com है


मोबाइल कॉमर्स (Mobile Commerce)

इसे संक्षेप में M Commerce भी कहा जाता है एम कॉमर्स से हमारा तात्पर्य किसी बेतार अंकीय साधन जैसे मोबाइल फोन के माध्यम से साधनों और सेवाओं के क्रय विक्रय से हैं एक बार ऐसे साधन से संपर्क जोड़ जाने पर उपभोक्ता अपनी आवश्यकता की वस्तुओं का आदेश कर सकता है और कई प्रकार के लेनदेन कर सकता है इस प्रकार के ई कॉमर्स का उपयोग मुख्यतः यूरोप के देशों और जापान में अधिक मात्रा में किया जाता है जहां सेल्यूलर फोन का उपयोग बहुत अधिक संख्या में किया जाता है|




Computer Hindi Notes Android App