इन्टरनेट एंड वेब पेज डिजाइनिंग इन्टरनेट और ई-कॉमर्स

ईमेल प्रोटोकॉल क्या है यह कैसे कार्य करते है ?

प्रोटोकॉल क्या है(What is Protocol) ?

प्रोटोकॉल नियमो का समूह होता है, जो इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को जोड़ने एवं उनके बीच में सूचना के आदान प्रदान के लिए बनाया गया है | प्रोटोकॉल नेटवर्क से जुड़े डिवाइस के बीच में डाटा का स्थान्तरण नियंत्रित करता है, यदि समस्या आती है तब एरर मेसेज दर्शाता है साथ ही स्थान्तरण की प्रक्रिया के अनुसार डाटा को संभालता है | एक डिवाइस से डाटा कैसे जाना चाहिए तथा दूसरे डिवाइस को डाटा कैसे प्राप्त करना है, यह प्रोटोकॉल निश्चित करता है |

“A protocol is a set of rules to govern the data transfer between the devices”

हर एक प्रोटोकॉल की अलग-अलग मेथड होती है जिसकी हेल्प से ये निश्चित होता है की उसका काम क्या है ?वो कैसे इनफार्मेशन को सेंड करेगा और कैसे रिसीव करेगा ? ,इन सब में अगर कोई एरर आती है तो उसे कैसे मैनेज करेगा ? प्रोटोकॉल दो डिवाइस को कनेक्ट करने में और डाटा को ट्रांसमिट करने में हेल्प करता है एक डिवाइस से डाटा कैसे जाना चाहिए तथा दूसरे डिवाइस को डाटा कैसे प्राप्त करना है, यह प्रोटोकॉल ही निश्चित करता है |

इंटरनेट पर सुचारू रूप से कार्य करने के लिये विभिन्न तकनीक की आवश्यकता होती है। इनमे से वेब प्रोटोकाॅल मुख्य भाग है। इंटरनेट को सुचारू व सफल बनाने मे वेब प्रोटोकाॅल का महत्वपूर्ण योगदान होता है। इंटरनेट पर विभिन्न प्रोटोकाॅल का प्रयोग होता है अतः इन्हे वेब प्रोटोकाॅल कहा जाता है।



Types of Protocol

E-Mail Protocols

इंटरनेट वातावरण में दो मुख्य ईमेल प्रोटोकॉल्‍स हैं। पोस्ट ऑफिस प्रोटोकॉल वर्शन 3 (POP3) और सिम्‍पल मेल ट्रांसफर प्रोटोकॉल (SMTP)। यद्यपि यह ई-मेल प्राप्त करने और भेजने के लिए सबसे सुरक्षित व उपयोगी प्रोटोकॉल हैं। परन्‍तु अब ऐसे कई प्रोटोकॉल है जो POP3 और SMTP की सीमाओं (कमियों) को दूर कर रहे हैं इंटरनेट मैसेज एक्‍सेस प्रोटोकॉल वर्शन4 (IMAP4) POP3 की जगह लेना, ज‍बकि एक्‍सटेंडेट सिम्‍पल मेल ट्रांसफर प्रोटोकॉल (ESMTP) SMTP की जगह ले लेगा।

सिम्‍पल मेल ट्रांसफर प्रोटोकॉल (SMTP)

यह एक स्‍टैण्‍डर्ड एप्‍लीकेशन लेयर प्रोटोकॉल है जो TCP/IP इंटरनेटवर्क जैसे इंटरनेट पर ई-मेल स्‍थानान्‍तरण करता है सिम्‍पल मेल ट्रांसफर प्रोटोकॉल (SMTP) को रिक्वेस्ट फॉर कमेंट (RFC) 821 और 822 के लिए परिभाषित किया है
SMTP एक मैकेनिज्‍म प्रदान करता है, जिनकी मदद से एक यूजर निर्धारित एड्रेस (या एड्रेसेस जब एक से रिमोट यूजर हो) प्रदर्शित कर सकता है, एक विशिष्‍ट पाथ (‍यदि जरूरी हो तो) या एक मैसेज को प्रदर्शित कर सकता है अन्य इलेक्ट्रॉनिक मेल सिस्टम्स की तरह SMTP भी भेजे गए मेल की रिटर्न रिसीप्‍ट और अन्‍य समान गुण प्रदान करता है।

SMTP प्रोटोकॉल बनाते समय, कुछ मेन्युफेक्चरर मेल में रिले या मेल स्टोर सुविधा प्रदान करते हैं ऐसे मेल को प्राप्त कर स्‍टोर करते हैं जो वर्कस्टेशन यूजर की अनुपस्थिति में प्राप्त होते हैं। यह तब तक स्टोर रहते हैं जब तक SMTP क्लाइंट उनके वर्कस्टेशन पर उसे एक्सेस न कर लें।

SMTP कैसे कार्य करता है ?

SMTP इंटरनेट पर TCP/IP होस्‍ट के बीच भेजे गए मैसेज के लिए फार्मेट परिभाषित करता है| SMTP मैसेज भेजने के लिए प्लेन-7 ASCII बिट टैक्स्ट का उपयोग करता है और मैसेज प्राप्त करने के लिए SMTP कमांड देता है मल्टिपर्पस इंटरनेट मेल एक्सटेंशन का उपयोग विशेष रूप से मल्टीपार्ट बाइनरी फाईल (जिसमें अटैचमेंट होता है) को उस रूप में एनकोड करने में होता है जिसे SMTP आसानी से नियंत्रित कर सकता है।
SMTP इंटरनेट पर ई-मेल को एक TCP/IP होस्‍ट से दूसरे तक पहुंचाने के लिए एक तकनीक प्रदान करता है SMTP सर्विसेस एक TCP/IP होस्‍ट पर चल रही है TCP (ट्रांसमिशन कंट्रोल प्रोटोकॉल) पोर्ट 25 का उपयोग करते हुए दूरस्‍थ होस्‍ट से कनेक्शन स्थापित करता है इसके बाद SMTP सेशन एक हेलो कमांण्‍ड द्वारा शुरू होते हैं और OK रिस्‍पान्‍स ग्रहण करता है इसके बाद सेडिंग कंप्यूटर मैसेज भेजने के लिए निम्‍न कमांड का उपयोग करता है-

  • Mail fr: यह मेल प्राप्त करने वाले होस्‍ट को भेजने वाले होस्‍ट का परिचय देता है
    Rcpt to: यह मैसेज प्राप्त करने वाले प्राप्तकर्ता को, डोमेन नेम सिस्टम (DNS) फार्मेट यूजर @ DNS डोमन के उपयोग द्वारा
  • पहचानता है।
  • Data: ASCII टैक्स लाईन्‍स की श्रृंखला के रूप में मैसेज बॉडी को भेजना शुरू करता है तथा इसे एक लाईन पर सिर्फ डाट (.) लगाकर खत्म करता है
  • Quit: यह SMTP कनेक्‍शन को क्‍लोज करता है।

नोट: SMTP सिर्फ एक SMTP होस्‍ट से दूसरे तक मैसेज ट्रांसफर प्रदान करता है। मेलबॉक्‍स में मैसेज संग्रह के लिए पोस्‍ट ऑफिस प्रोटोकॉल वर्शन 3 (POP3) और इंटरनेट मेल एक्‍सेस प्रोटोकॉल वर्शन 4 (IMAP4) का उपयोग करते है।

POP3 (Post Office Protocol Version 3)

यह एक इंटरनेट स्‍टैण्‍डर्ड प्रोटोकॉल है, जो मैसेज को स्टोर और रिट्रीव (प्राप्‍त करना) करता है। इंटरनेट पर ई-मेल मैसेज भेजने के लिए मुख्‍य ट्रांसपोर्ट तकनीक प्रदान करता है, किन्‍तु यह मैसेज स्‍टोरिंग और रिट्रीविंग के लिए कोई सुविधा नहीं देता है। होस्‍ट एक दूसरे से लगातार जुडें होना चाहिए किन्‍तु अधिकांश यूजर हमेशा इंटरनेट से कनेक्‍शन नहीं रखतें हैं।

POP3 प्रतीक यूजर्स से प्राप्त मैसेज को संग्रह करने के लिए तकनीक प्रदान करता है और मेलबॉक्स में मेल प्राप्त करने के लिए भी SMTP तकनीक प्रदान करता है POP3 उन मैसेज को तब तक संग्रह करता है जब तक कि उन्हें डाउनलोड कर नहीं लिया जाता और POP3 क्लाईंट जैसे माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक 98, माइक्रोसॉफ्ट आउटलुक एक्सप्रेस, या माइक्रोसॉफ्ट मेल व न्‍यूज द्वारा पढ़ नहीं लिया जाता । एक POP3 सर्वर से मैसेज पाने के लिए एक POP3 क्लाईंट TCP पोर्ट 110 का उपयोग करके एक TCP सेशन स्थापित करता है अपने आप की सर्वर को जानकारी देता है और फिर POP3 कमाण्‍ड्स : star, list, retr, quit इत्‍यादि का उपयोग करता है

IMAP 4 (Internet Message Access Protocol Version 4)

IMAP ई-मेल मैसेज प्राप्त करने के लिए नया और बहुत बढ़िया प्रोटोकॉल है, जो हमारे मेल सर्वर के ई-मेल्‍स को फोल्डर में संगठित (organize) करने में सक्षम है। हम अपने भेजे मेल को संग्रह कर सकते हैं और विभिन्न लोकेशन से उसे एक्सेस करने के लिए सर्वर पर ड्राफ्ट कर सकते हैं आउटपुट एक्सप्रेस IMAP को सपोर्ट करता है, जबकि सभी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स IMAP सपोर्ट प्रदान नहीं करते। IMAP4 ठीक POP3 के समान ही अतिरिक्त फंक्शन के साथ, फंक्शन प्रदान करता है|

POP3 सबसे उपयोगी तभी होता है, जबकि एक व्यक्ति ई-मेल के लिए एक कंप्यूटर का उपयोग करता है क्योंकि इसे ऑफलाइन मेसेज को एक्‍सेस करने में सपोर्ट के लिए डिजाइन किया है जहां पर मैसेज को डाउनलोड किया जाता है और बाद में मेल सर्वर से डिलीट कर दिया जाता है POP3 उन मोबाइल प्रोफेशनल्‍स के लिए अच्छी तरह काम नहीं कर पाता जो की विशेषत: एक नोट बुक या पामटॉप कंप्यूटर का उपयोग रोड पर करते हैं और ऑफिस और घर में डेक्सटॉप कंप्यूटर उपयोग करते हैं एक्‍सेस का यह मोड बहुत सारे कंप्यूटर से एक्सेस के लिए सक्षम नहीं है, क्योंकि यह स्प्रिंकल मैसेज सभी कंप्यूटर पर जो कि एक कॉमन फाईल सिस्टम को शेयर करती है, भेजती है एक्‍सेस के इस ऑफलाइन मोड के प्रभावपूर्ण सपोर्ट के लिए POP3 डिज़ाइन किया था, जिसमें मैसेज स्‍टोर करने और मेनिपुलेशन के लिए यूजर एक कंप्यूटर से बंधा होता है, जो कई मोबाइल प्रोफेशनल के लिए अव्‍यवहारिक है।

IMAP के द्वारा यूज़र मैसेजस (नए और सेव) के लिए रिक्वेस्ट कर सकता है, जो एक विशेष स्थिति पर आधारित होते हैं और एक से ज्यादा कंप्यूटर द्वारा मैसेज होते हैं यद्यपि IMAP 4 को 1986 मैं स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में विकसित किया गया था किन्‍तु अब जाकर कुछ मुख्‍य ई-मेल वेन्‍डर ने इसें मान्यता प्रदान की। इसका कारण यह था कि तब तक POP3 के साथ किसी भी प्रकार की समस्या नहीं आई थी। परंतु अब मोबाइल प्रोफेशनल की लगातार बढ़ोतरी, फील्ड पर्सनल, टेलीकम्‍प्‍यूटर और छोटे-छोटे ब्रांच ऑफिस स्टाफ का अधिक होना व इन लोगों द्वारा मल्टीपल कंप्यूटर उपयोग करना। तब IMAP की पुन: खोज की गई, जिससे कि बहुत अधिक फैली हुई जगहों पर ई-मेल को संग्रह, प्राप्‍त व नियंत्रित करने की समस्‍या का समाधान हो सके।

IMAP4 Vs POP3

IMAP यूजर को बहुत सारे ऑप्शन(Choice) देता है कि मैसेज की कौन सी कैटेगरी सर्वर से प्राप्त करना है उन्हें कहां स्‍टोर करना है, और सर्वर पढ़े मैसेज की विशेष कैटेगरी के साथ क्या करेगा इत्यादि। और उदाहरण के लिए मुख्‍य फंक्शन्‍स जो कि IMAP 4 द्वारा प्रदान किए जाते हैं परंन्‍तु POP3 द्वारा नहीं, इस प्रकार है-

  1. मल्टीपल मेल बॉक्स को एक्‍सेस व नियंत्रित करना (Access and control multiple mailboxes): इसमें निम्न कार्य शामिल हैं, जैसे नाम और विभिन्न इनकमिंग और आर्चिव मैसेज फोल्‍डर एक्सेस करना। साथ ही साथ किसी लिस्ट को क्रिएट, डिलीट और रिनेम करने की भी क्षमता है। यह मेलबाक्‍सेस एक समान या विभिन्न सर्वर पर हो सकते हैं एक क्लाईट को किसी भी समय मेलबॉक्स देखने की इजाजत दे सकता है और मैसेज को एक से दूसरे तक मूव करा सकता है
  2. एक साथ कई यूजर्स को शेयर्ड मेलबाक्‍सेस के एक्सेस की सुविधा (Convenience of multiple users access to shared mailboxes at once) : यह क्षमता तब उपयोगी होती है, जबकि मल्टीपल इंडीविजुअल कॉमन इन बॉक्स में आने वाले मैसेज के साथ प्रोसेसिंग करते हैं और मेलबॉक्स स्‍टेट में होने वाले सभी परिवर्तन के सभी एक्‍टीव क्‍लाईंट को देते हैं।
  3. मैसेज को फ्लैग से मार्क करना (Manipulation of Persistent Message Status Flags) : मेल बॉक्स में मैसजेस विभिन्‍न स्‍टेटस फ्लेग से मार्क हो सकते है (जैसे ‘Deleted’ या ‘Inserted) और त‍ब तक मेलबॉक्‍स में रहते हैं, जब तक कि यूजर उसे हटाता नहीं है।
  4. स्‍टोरेज फ्लेक्जिविलिटी (Storage Flexibility): यूजर मैसेजस को सीधे क्लाईंट मशीन पर, सर्वर पर या बताई गई जगह पर बताई गई परिस्थिति में सेव कर सकता है।
  5. ऑनलाइन प्रदर्शन अनुकूल करना (Online performance optimization): यह सुविधा विशेषकर कम गति की लिंक्‍स पर उपयोगी है। इसे बिना डाउनलोड किए मैसेज के स्ट्रक्चर को प्राप्त कर सकते हैं किसी मैसेज के भाग को अलग से चुन सकते हैं और क्‍लाईंट और सर्वर के बीच मिनिमाइज डेटा ट्रांसफर करने के लिए सर्वर को चुनना जब मल्‍टीमीडिया या मल्‍टीपार्ट मल्‍टीपर्पज इन्‍टरनेट मेल एक्‍सटेंशन (MIME) मैसेज हो। उदाहरण के लिए मैसेज के भाग को ट्रांसफर कर सकते है। इसका फायदा यह है कि जब एक यूजर किसी होटल में होता है, तब वह शार्ट टैक्‍स्‍ट मैसेज प्राप्‍त करता है 5 MB वीडियो क्लिप अटैचमैन्‍ट के साथ।
  6. डिस्‍कनेक्‍ट मोड (Disconnect mode): इसके अतिरिक्‍त यूजर को ऑनलाइन या ऑफ़लाइन काम करने की इजाजत देने के लिए IMAP डिस्‍कनेक्‍ट मॉड में भी सपोर्ट करता है। मेल क्‍लाईट के लिए यह एक सुविधा है कि वह ऑफ लाइन में भी मेल सर्वर से प्रोसेसिंग कर सकता है। नेटवर्क से कनेक्टिविटी के लिए इन कनेक्‍शन को दोबारा स्‍थापित किया जा सकता है।
  7. ई-मेल के अतिरिक्त अन्य डेटा तक पहुंच (Access to non-e-mail data): ई-मेल के अतिरिक्‍त यूजर डेटा की अन्‍य क्‍लासेस भी एक्‍सेस कर सकता है जैसे नेट न्‍यूज डाक्‍यूमेन्‍ट इत्‍यादि।

ESMTP (Extended Simple Mail Transfer Protocol)

ESMTP, SMTP के लिए एनहेंसमेंन्‍ट्स (विकास) का संग्रह है, जिसमें उसकी विश्‍वसनीयता और परफार्मेंस शामिल हैं। उदाहरण के लिए एक फीचर चैकपाइटिंग रूके हुए मैसेजेस का पुन: निर्माण करता है, जब कनेक्‍शन पुन: स्‍थापित किया जाता है तो। पाइपलिंग से मल्टिपल मेसेज कमांड्स एक साथ भेज दिए जाते हैं। ESMTP, SMTP के आथेन्टिकेशन व सुरक्षा के बारे में भी सपोर्ट करता है। यह अन्‍य एन्‍हेंसमेन्‍ट ESMTP को और अधिक तुलनात्‍मक बनाते है ×400 के साथ, जिससे लेन पर उन पब्लिक कैरियर्स, कमर्शियल आनलाइन सर्विस और इन्‍टरनेट एक्‍सेस प्रोवाइडर्स के साथ मिलकर बिजनेस क्‍लाईंट/सर्वर ई-मेल सिस्‍टम से लिकिंग कि जा सके।

VPIM(Voice Profile for Internet Mail) यूनिवर्सल मैसेजिंग

जब यूनिवर्सल मैसेजिंग सर्विस को कैरियर्स द्वारा प्रदान किया जाता है तो साथ ही इसे इंटरनेट पर भी प्रदान किया जा सकता है। असंख्‍य मैसेजिंग सर्विस उपलब्ध है जिनसे मोबाइल यूजर एक इनबॉक्स में सभी मैसेज को इकट्ठा रखता है चाहे सोर्स कुछ भी हो या फिर कई उपकरण व सर्विसेस हो। इंटरनेट पर आधारित यूनिफाइड मैसेजिंग की सफलता स्टैंडर्ड्स पर निर्भर करती है जिससे अलग-अलग बेन्‍डर्स के प्रोडक्ट का उपयोग संभव है। VPIM इस कार्य को पूरा करता है|

VPIM से प्रोडक्ट्स इस लायक बनते है कि जिससे यूजर सरलता से मैसेज भेज और प्राप्त कर सकते हैं ई-मेल एड्रेस की जगह यूजर उनके नार्मल फोन नम्‍बर से जाना जाता है। एक वॉइस मेल यूजर्स उदाहरण के लिए, मैसेज रिकॉर्ड करता है और प्राप्तकर्ता का फोन नंबर इंटर करता है वॉइस मेल सिस्टम यह बताता है कि एड्रेस उसका इन्‍टरनल यूजर नहीं है और तब वह LDAP (लाईटवेट डायरेक्ट्री एक्सेस प्रोटोकॉल) की मदद से पब्लिक डायरेक्ट्री के लिए डायरेक्‍ट्ररी लुकअप परफॉर्म करता है जिससे उस ई-मेल एड्रेस को ढूंढा जाता है जो वॉइस मैसेज हैंण्‍डल करने के लिए आसान होता है। सिस्टम मैसेज को एक कॉमन MIME अटैचमेंट में बदलता है और वाइस मेल सिस्‍टम के लिए SMTP मेल ट्रांसपोर्ट के द्वारा भेजता है, जो कि इसे प्राप्तकर्ता को डिलीवर करता है।

वॉइस मैसेजिंग मशीन के बीच में कम्यूनिकेशन के लिए यह कॉमन एड्रेसिंग और ट्रांसपोर्ट मैकेनिज्‍म सुविधा प्रदान करता है उदाहरण के लिए, जो यूजर उनके आर्गेनाइजेशन के आउट साइड से वाइस मेल मैसेज प्राप्त करता है वह मैसेज कंपोज और रिप्लाय भेजने में सक्षम होगा, स्‍टेण्‍डर्ड विभिन्‍न तरह के मैसेसिंग वॉईज-मेल, ई-मेल व फैक्स के बीच में आसान इंटीग्रेशन भी प्रदान करता है। क्योंकि वॉइस मैसेज MIME अटैचमेंन्‍ट की तरह भेजा जाता है व सभी प्रकार के मैसेजिंग सिस्टम जैसे कन्वेन्‍शनल ई-मेल क्लाईंट इसको प्रोसेस कर सकते हैं ई-मेल क्लाइंट और मैसेजिंग सर्वर जो कि ऑडियो क्षमता में युक्त हैं, VPIM MIME मैसेज को बिना किसी वॉइस मेल सिस्टम पर भेजे या एक कंप्यूटर के ऑडियो प्लेयर एप्लीकेशन पर भेजे बिना डिकोड और प्ले कर सकते हैं।

सिलेबस के अनुसार नोट्स
DCA, PGDCA, O Level, ADCA, RSCIT, Data Entry Operator
यहाँ क्लिक करें