USSD क्या होता है? प्रयोग, लाभ और हानियाँ

USSD क्या है (What is USSD)?

USSD का मतलब अनस्ट्रक्चर्ड सप्लीमेंट्री सर्विस डेटा (Unstructured Supplementary Service Data) है। इसे “फ़ीचर कोड (Feature Codes)” या “त्वरित कोड (Quick Codes)” के रूप में भी जाना जाता है, USSD मोबाइल संचार के लिए Global System (GSM) के आधार पर सेलुलर नेटवर्क में उपयोग किया जाने वाला एक messaging protocol है।

USSD आपको डेटा कनेक्शन और बिना किसी SMS खर्च के  छोटे डेटा पैकेज (small data packages) भेजने की अनुमति देता है। यह आमतौर पर छोटे अनुरोध (short requests) और आदेश (commands) भेजने के लिए उपयोग किया जाता है, और इन संदेशों में अधिकतम 182 characters (डेटा के 16 बिट) हो सकते हैं। USSD ऑडियो (audio), वीडियो (video) या छवियों (images) जैसे मल्टीमीडिया संदेशों (MMS) को सपोर्ट नहीं करता।

MMS के विपरीत, जिसे एक व्यक्ति से दूसरेव्यक्ति (Person-to-Person (P2P)) या एक एप्लिकेशन से किसी व्यक्ति (Application-to-Person (A2P)) को भेजा जा सकता है, USSD संदेश हमेशा एक नेटवर्क एंटिटी से दूसरी नेटवर्क एंटिटी को  भेजे जाते हैं, जैसे कि होम लोकेशन रजिस्टर (Home Location Register (HLR)), मोबाइल स्विचिंग सेंटर (Mobile Switching Center (MSC)), शोर्ट मेसेज सर्विस सेंटर (Short Message Service Center (SMSC)), या एक dedicated USSD application। दूसरा endpoint  कोई मोबाइल फोन, कोई एप्लिकेशन या कोई IoT डिवाइस हो सकता है।

जबकि SMS  SMSC से  ट्रांसमिट होता है, SMSC  संदेशों को संग्रहीत (store) करता है और उन्हें प्राप्तकर्ता (recipient) को भेजता है, USSD  transmissions  में दो नेटवर्क संस्थाओं (network entities) के बीच एक खुला सत्र (open session) बनाने के लिए USSD गेटवे का उपयोग करता है, जिससे real-time communications और त्वरित संदेश (Instant Messaging (IM)) सेवाओं की अनुमति मिलती है।

USSD का उपयोग किस लिए किया जाता है?
Use of USSD?

सामान्यतः  USSD का उपयोग  प्रीपेड फोन पर बैलेंस की जांच करने में, पासवर्ड को रीसेट करने में  या कॉलबैक शुरू करने में किया जाता है। हालाँकि, cellular Internet of Things (IoT) ने USSD के लिए सभी प्रकार के नए ऍप्लिकेशन्स के द्वार खोल दिए है। कुछ निर्माता SMS को पूरी तरह से बदलने के लिए USSD का भी उपयोग करते हैं।

IoT डिवाइसो पर सेंसर (sensors) से विशेष जानकारी प्राप्त करने के लिए USSD अच्छी तरह से काम करता है। एक एप्लिकेशन के माध्यम से विभिन्न व्यवसायों द्वारा USSD का उपयोग तापमान (temperature), स्थान (location), संसाधन खपत (resource consumption) और अन्य स्थितियों के अपडेट निर्धारित करने के लिए किया जा सकता हैं। कोई भी टेक्स्ट-आधारित डेटा (text-based data) जिसे आपका डिवाइस कैप्चर कर सकता है, आप USSD के माध्यम से संचारित (ट्रांसमिट) कर सकते हैं।


इसके अतिरिक्त, कुछ व्यवसाय मोबाइल उपकरणों पर आउटबाउंड मार्केटिंग संदेशों (outbound marketing messages) को आगे बढ़ाने के लिए USSD का उपयोग करते हैं।

USSD मैसेज फॉर्मेट (USSD message format)

USSD संदेश हमेशा एक तारक (asterisk) चिह्न से शुरू होते हैं, और फिर डिजिट्स होते हैं, और पाउंड चिह्न (pound sign) के साथ समाप्त होते हैं। संख्याएं एक कोड का प्रतिनिधित्व करती हैं जिनका उपयोग नेटवर्क द्वारा किसी विशेष इकाई (entity) के साथ संबंध स्थापित करने के लिए किया जाता है और विभिन्न मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर (Mobile Network Operators (MNOs) विभिन्न कोड का उपयोग करते हैं।

उदाहरण के तौर पर, किसी डिवाइस के स्थान (device’s location) का अनुरोध करने के लिए USSD संदेश (USSD message) कुछ इस तरह दिख सकता है: *999#। फिर नेटवर्क, नेटवर्क के HLR से जानकारी प्राप्त करेगा और इसे उपयोगकर्ता को वापस भेज देगा।

जब कोई उपयोगकर्ता USSD संचार (USSD communication) शुरू करता है, तो पहला reply अक्सर उन्हें एक मेनू के साथ प्रस्तुत होगा, जो उपयोगकर्ता को सूचना का अनुरोध करने या आदेश जारी करने के लिए विशिष्ट कोड (specific codes) भेजने का निर्देश देता है।

USSD के लाभ (Advantages of USSD)

USSD एक पुरानी सेलुलर तकनीक (cellular technology) है, लेकिन ऐसे कई कारण है जिनकी बजह से  IoT निर्माता इसकी और आकर्षित हुए-

कम खर्चे वाला डेटा प्रसारण (Low-cost data transmissions)


USSD प्रभावी रूप से आपको डेटा शुल्क को बायपास करने देता है। और इस संचार प्रोटोकॉल के माध्यम से प्रसारण को SMS के रूप में नहीं गिना जाता है। आप डेटा दरों (data rates) का भुगतान किए बिना उपकरणों को चालू और बंद करने या सेटिंग बदलने जैसे सरल आदेश (command) जारी करने के लिए USSD का उपयोग कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त, यह आपको महंगे रोमिंग शुल्क ( costly roaming charges) से बचाता है। USSD संचार (USSD communications) हमेशा होम नेटवर्क (home network) के माध्यम से रूट किया जाता है, तब भी जब आप रोमिंग में हों। लेकिन चूंकि आप डेटा कनेक्शन के लिए नेटवर्क का उपयोग नहीं कर रहे हैं, इसलिए आप सामान्य रोमिंग डेटा दरों के अधीन नहीं होते हैं। आपकी डिवाइस जिस नेटवर्क पर “visit” कर रही है, उसे अभी भी आपके USSD संदेशों (USSD messages) को आपके होम नेटवर्क के माध्यम से भेजना है, लेकिन लागत हमेशा MMS  माध्यम से  संदेश भेजने के लिए आपके द्वारा भुगतान की जाने वाली लागत से काफी कम होगी। 

कम बिजली की खपत (Low power consumption) 

चूंकि USSD नेटवर्क डेटा कनेक्शन का उपयोग नहीं करता, इसलिए USSD संदेशों को transmit करने के लिए काफी कम बिजली का उपयोग करता है। इसके बजाय, यह नेटवर्क के वॉयस चैनल के माध्यम से टेक्स्ट-आधारित (Text-based) संदेश भेजता है। IoT में, बैटरी महत्वपूर्ण होती है, और USSD आपके डिवाइस की बैटरी लाइफ को बढ़ाने का एक प्रभावी तरीका हो सकता हैखासकर यदि आपका डिवाइस अपने पूरे जीवनचक्र में बहुत सारे सन्देश भेजता या प्राप्त करता है।

वैश्विक कवरेज (Global coverage) 

2G सेल्युलर नेटवर्क वर्तमान में मोबाइल कनेक्शन के लिए सबसे व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली तकनीक नहीं रही हैं – लेकिन उनके पास दुनिया भर में तीन दशकों का इन्फ्रास्ट्रक्चर है। चूंकि ये नेटवर्क GSM मानकों का उपयोग करते हैं, इसलिए आप इनमें से किसी पर भी USSD का लाभ उठा सकते हैं।

USSD के नुकसान (Disadvantages of USSD)

जबकि USSD IoT निर्माताओं को बहुत सारे लाभ प्रदान करता है, इसमें कुछ महत्वपूर्ण कमियां भी हैं। USSD का उपयोग करने के पहले, आप USSD से जुडी इन कमजोरियों पर विचार जरुर करना चाहिए| 

सीमित डेटा थ्रूपुट

16 bit की data-limit के साथ बेशक USSD का उपयोग करने पर कोई डेटा शुल्क नहीं लगता है और भले ही 16 बिट, 182 कैरेक्टर ट्रांसमिशन आपके एप्लिकेशन के लिए पर्याप्त हों, पर यह भी याद रखना महत्वपूर्ण है कि USSD आपके डिवाइस पर ओवर-द-एयर (OTA) अपडेट को पुश करने जैसी चीजों के लिए उपयोगी नहीं है। और जाहिर है, यदि आपका डिवाइस ऑडियो, वीडियो या किसी भी प्रकार की छवियों को रिकॉर्ड करता है, तो USSD के साथ आप इनको ट्रांसमिट नहीं कर पायेगे|

ये भविष्य में ज्यादा उपयोगी नहीं है (It’s not future-proof)

GSM नेटवर्क लंबे समय तक कार्यरत रह, लेकिन दुनिया भर में  cellular carries अपने 2G और यहां तक ​​कि 3G नेटवर्क को और अधिक उन्नत तकनीकों (more advanced technologies) के लिए अपने आवृत्ति बैंड (frequency bands) का पुन: उपयोग करने के लिए सूर्यास्त की प्रक्रिया में हैं। अगले कुछ वर्षों में भी, 2G कवरेज मैप में गिरावट जारी रहेगी, और ऐसे कम ही देश होंगे जहां लोग USSD जैसी GSM तकनीक का लाभ उठा सकते हैं।

error: Content is protected !!