रोजगार, परीक्षा एवं कोर्स सम्बंधित

कंप्यूटर प्रोग्रामर

how to become computer programmer

कंप्यूटर प्रोग्रामर कौन होता है? (Who is Computer Programmer)

कंप्यूटर पर कार्य करने के लिए हमें विभिन्न प्रकार की application अर्थात application software की आवश्यकता होती है, जो कंप्यूटर पर कार्य करना आसान बनाते है, इस तरह के प्रोग्राम कंप्यूटर प्रोग्रामर के द्वारा लिखे जाते जाते है| अतः कहा जा सकता है कि कंप्यूटर प्रोग्रामर उस कोड को लिखते और परखते हैं, जो कंप्यूटर एप्लिकेशन और प्रोग्राम को कार्य करने की अनुमति देता है। कंप्यूटर प्रोग्रामर, सॉफ्टवेयर डेवलपर्स और इंजीनियरों के द्वारा डिज़ाइन किए गए सॉफ्टवेयर को सामान्य उपयोग में लाने के लिए उसका कोड में अनुवाद भी कर सकते हैं। वे किसी भी प्रोग्राम में या किसी वर्तमान में चलने वाली सॉफ्टवेयर में कुछ नए फीचर्स जोड़ सकते है और उस सॉफ्टवेयर को पहले से ज्यादा उपयोगी बना सकते है इसी के साथ, वे किसी कोड में गलतियों से भरी लाइनों को खोजने, उन्हें हल करने और कमियों का पता लगाने के लिए उस सॉफ्टवेयर का परीक्षण (test) भी कर सकते हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामर के लिए उपयोगी सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम्स (Key Skills for Computer Programmers)

  • लिनक्स
  • जावा
  • JAVA-SCRIPT
  • सी ++
  • ASP.NET
  • SQL
  • HTML
  • PHP
  • Visual Basic

कंप्यूटर प्रोग्रामर कैसे बनें (How to become Computer Programmer)

कंप्यूटर प्रोग्रामर बनने के लिए, आपके पास आमतौर पर कंप्यूटर विज्ञान या संबंधित क्षेत्र में स्नातक (graduation) की डिग्री होनी चाहिए। यदि आपके पास यह डिग्री है तो आप कंप्यूटर प्रोग्रामर बनने के योग्य है और कंपनी के द्वारा कंप्यूटर प्रोग्रामर के रूप में नियुक्त किए जा सकते है।

इससे भी महत्वपूर्ण बात, एक कंप्यूटर प्रोग्रामर की नौकरी का दृष्टिकोण कई प्रोग्रामिंग भाषाओं में उनकी दक्षता पर निर्भर करता है। स्नातक अध्ययन आपको गतिशील (dynamic), वस्तु-उन्मुख (object oriented) और कार्यात्मक भाषा (functional language) सीखने का अवसर प्रदान करता है। कॉलेजो में होने वाले विभिन्न प्रोग्राम जैसे internship, project work, workshop, seminar इत्यादि छात्रों को प्रयोगात्मक ज्ञान (practical knowledge) प्रदान करते है।

बड़े स्तर के पदों को प्राप्त करने के लिए, आपको मास्टर डिग्री की आवश्यकता हो सकती है। संगठनात्मक रणनीति (organizational strategy) को आकार देने और लागू करने के लिए आवश्यक कौशल के साथ छात्रों को स्नातक कार्यक्रम अक्सर तकनीकी और व्यापार-उन्मुख (business oriented) कार्यों से जोड़ते हैं।



कंप्यूटर प्रोग्रामर बनने के लिए पात्रता या मास्टर डिग्री पूरी तरह से ऑनलाइन प्राप्त कर सकते है। ऑनलाइन कार्यक्रम के माध्यम से छात्र व्याख्यान (online lecture) देखने और अपने स्वयं के शेड्यूल पर पर कार्य पूर्ण कर सकते है जिससे वे काम करने के योग्य बन सकते है और अपने करियर को आगे बड़ा सकते हैं या बदल सकते हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामर को अपनी नौकरी में सफल होने के लिए कठिन कौशल की आवश्यकता होती है। जब छात्र पूर्णता कुशल होते है तो कंपनी ऐसे छात्रों को अपनी कंपनी में कंप्यूटर प्रोग्रामर के रूप में चयनित कर सकती है ।

यदि आप एक स्नातक छात्र हैं, तो आपको एक इंटर्नशिप पर विचार करना चाहिए। इंटर्नशिप छात्रों को एक प्रोग्रामर के रूप में काम करने की वास्तविकताओं के बारे में जानने का अवसर प्रदान करता है। ये आपके पेशेवर नेटवर्क को विकसित करने में भी आपकी मदद कर सकते हैं, जिससे भविष्य में छात्रों को लाभ मिलता है और आसानी से छात्र किसी अच्छी कंपनी के द्वारा चयनित भी किए जा सकते है।

सॉफ्टवेयर डेवलपर जैसी भूमिकाओं पर कार्य करने के लिए आमतौर पर कम से कम कई वर्षों के कार्य अनुभव की आवश्यकता होती है। अपने रिज्यूमे और अनुशंसा पत्रों के अलावा, प्रोग्रामर अपने काम का एक पोर्टफोलियो बनाने से भी लाभ उठा सकते हैं। एक पोर्टफोलियो कंपनी के नियोक्ताओं को यह निर्धारित करने की अनुमति देता है कि क्या आपके पास किसी विशेष भूमिका को लेने के लिए आवश्यक कौशल हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग करियर के प्रकार (Types of Computer Programming Careers)

एक कंप्यूटर प्रोग्रामर का शिक्षा स्तर उनके करियर का रास्ता तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उदाहरण के लिए, केवल एक सहयोगी डिग्री वाले व्यक्ति आमतौर पर केवल प्रवेश स्तर की भूमिकाओं को प्राप्त करते हैं, जैसे वेब डेवलपर या कंप्यूटर सपोर्ट विशेषज्ञ।

एक स्नातक की डिग्री आपको अधिक पेशेवर (professional) अवसरों के लिए योग्य बनाती है। अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद, आप कंप्यूटर प्रोग्रामर, कंप्यूटर नेटवर्क आर्किटेक्ट, डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर या यहां तक ​​कि सॉफ्टवेयर डेवलपर जैसे पदों को प्राप्त सकते हैं। इन जैसी भूमिकाओं के लिए आमतौर पर कई वर्षों के अनुभव (professional experience) या कई प्रोग्रामिंग भाषाओं के ज्ञान कीआवश्यकता होती है।

अंत में, एक मास्टर की डिग्री आपको सूचना प्रौद्योगिकी में सबसे आकर्षक और बड़े स्तर की नौकरियों (senior level jobs) के अवसर प्रदान करती है। अधिकांश कंप्यूटर और सूचना प्रणाली प्रबंधकों (information systems manager) ने संगठनात्मक विकास (organizational development) और परियोजना प्रबंधन (project management) जैसे विषयों में स्नातक (graduation) पूरा कर ली होती है, जो उन्हें टीमों और विभागों का नेतृत्व करने के योग्य बनता है। कंप्यूटर वैज्ञानिक, इसके विपरीत, अक्सर अकादमिक या निजी क्षेत्र (academic or the private sector) में शोध कार्य करने और छात्रों से कराने के लिए डेटा संग्रह और विश्लेषण (data collection and analysis) में मास्टर स्तर की कक्षाएं लेते हैं।

वेब डेवलपर (Web Developer)

वेब डेवलपर वेबसाइट बनाते हैं। बे अक्सर इंटरनेट पर जारी की जाने वाली एक साइट को तैयार करते है व्यक्तिगत पृष्ठों (individual pages) को डिज़ाइन करते हैं, और सुनिश्चित करते है कि साइट पर वह वेबसाइट सही तरीके से कार्य करे| इनके लिए अपनी साइटों के लिए कोड लिखने के लिए प्रोग्रामिंग भाषाओं, जैसे HTML और XML की समझ की आवश्यकता होती है। अधिकांश कंपनी के नियोक्ता कम से कम एक सहयोगी की डिग्री के साथ उम्मीदवारों को नियुक्त करना पसंद करते हैं।

कंप्यूटर प्रोग्रामर (Computer Programmer)

कंप्यूटर प्रोग्रामर कोड लिखते हैं ताकि एप्लिकेशन और प्रोग्राम कार्यों को कर सके। उदाहरण के लिए, एक प्रोग्रामर सोशल नेटवर्किंग साइट के लिए कोड लिख सकता है और उसका परीक्षण (test) कर सकता है जो लोगो के लिए इंटरनेट और नेटवर्क के माध्यम से अपने परिचितों से जुड़ने की सुविधा प्रदान करता है। कई प्रोग्रामिंग भाषाओं को आने के अलावा, अधिकांश प्रोग्रामर स्नातक (graduation) की डिग्री रखते हैं।

डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर (Database Administrator)

डेटाबेस प्रशासक (database administrator) डाटा को स्टोर करने, उसे व्यवस्थित करने अर्थात मैनेज करने और विशेष डेटा तक पहुंच प्रदान करने के लिए सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं। एक स्वास्थ्य सेवा कंपनी (health services company) के लिए काम करने वाला एक प्रशासक (administrator) यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर सकता है, कि डॉक्टर और नर्स मरीज की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकें। डेटाबेस प्रशासक (database administrator) आमतौर पर एक स्नातक की डिग्री रखते हैं, हालांकि कुछ बड़े पदों पर कार्य करने के लिए इनको मास्टर्स अर्थात मास्टर डिग्री की आवश्यकता हो सकती है।

सॉफ़्टवेयर डेवलपर (Software Developer)

सॉफ्टवेयर डेवलपर्स कंप्यूटर प्रोग्राम और एप्लिकेशन डिज़ाइन करते हैं। वे उपयोगकर्ता की जरूरतों के आधार पर मौजूदा कंप्यूटर प्रोग्राम बौर application को भी अपडेट कर सकते हैं। जबकि कुछ डेवलपर्स स्वतंत्र रूप से काम करते हैं, कुछ बड़ी कंपनियों में कोडर और सूचना प्रौद्योगिकी पेशेवर (information technology professionals) टीमों का प्रबंधन करते हैं। इन पदों पर कार्य करने के लिए कम से कम स्नातक की डिग्री की आवश्यकता होती है।

कंप्यूटर या सूचना प्रणाली प्रबंधक (Computer/Information System Manager)

कंप्यूटर और सूचना प्रणाली प्रबंधक अपने संगठन (organization) में कंप्यूटर से संबंधित कार्यों (activities) की देखरेख करते हैं। वे एक विभाग का नेतृत्व (lead) कर सकते हैं या मुख्य नेतृत्व अधिकारी (senior leader) जैसे बड़े पद की भूमिकाओं को निभा सकते हैं।

सिलेबस के अनुसार नोट्स
DCA, PGDCA, O Level, ADCA, RSCIT, Data Entry Operator
यहाँ क्लिक करें