अंतर

प्रीपेड और पोस्टपेड सिम में अंतर 

प्रीपेड और पोस्टपेड सिम में अंतर
(Difference Between Prepaid SIM and Post paid SIM)

इंडिया में दो तरह की सिम प्रयोग की जाती है पहली Prepaid SIM होती है जबकि दूसरी Postpaid SIM होती है| देखने में भले ही दोनों एक जैसे लगते है लेकिन दोनों में बहुत फर्क है| एक तरफ प्रीपेड को आम लोगो को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है वहीं दूसरी तरफ पोस्टपेड का इस्तेमाल ज्यादातर बिजनेस करने वाले लोग करते हैं| इंडिया की बात करे तो ज्यादातर लोग प्रीपेड सिम यूज़ करना पसंद करते हैं क्योंकि इसमें काफी अच्छी सुविधा मिलती है| प्रीपेड सिम मे कंपनियों की कॉल, मैसेज, और इन्टरनेट की सर्विस प्राप्त करने से पहले हमे रीचार्ज करवाना पड़ता है, जबकि पोस्टपेड सिम मे आपको एक प्लान लेना होता है और इसका भुगतान आपको महीने के अंत में करना पड़ता है|

इस पोस्ट में आप जानेंगे-

  • प्रीपेड और पोस्टपेड सिम का तुलना चार्ट
  • प्रीपेड और पोस्टपेड सिम की परिभाषा
  • प्रीपेड और पोस्टपेड सिम मे मुख्य अंतर
  • निष्कर्ष

प्रीपेड और पोस्टपेड सिम का तुलना चार्ट

तुलना का आधार
प्रीपेड सिम
पोस्टपेड सिम
रिचार्जप्रीपेड सिम में आपको सबसे पहले रिचार्ज करवाना पड़ता हैं रिचार्ज के बाद आप कॉल्स , इंटरनेट और मैसेज का प्रयोग कर सकते है |पोस्टपेड सिम में आपको कॉल्स , इंटरनेट और मैसेज का प्रयोग करने के लिए पहले एक प्लान लेना पड़ता हैं और आपको प्रत्येक महीने के अंत में इसके बिल का भुगतान करना होता है |
लाभप्रीपेड सिम में आप जितने रूपये का रिचार्ज कराएँगे आप उसी का लाभ प्राप्त कर सकते है|पोस्टपेड सिम में जब चाहे और जितना चाहे, कॉल्स, इंटरनेट और मैसेज का लाभ ले सकते है, परन्तु आपको महीने के अंत में इसका भुगतान करना होता है |
प्लानप्रीपेड सिम के सभी प्लान बहुत सस्ते होते हैं, परन्तु आपको कॉल्स , इंटरनेट और मैसेज का प्रयोग एक तय सीमा के अन्दर करना होता है|पोस्टपेड सिम के प्लान बहुत ही महंगे होते हैं, परन्तु कॉल्स, इंटरनेट और मैसेज के प्रयोग तय सीमा निर्धारित नहीं की जाती है|
 बैलेंसप्रीपेड सिम का बैलेंस समाप्त होने पर आप किसी को भी कॉल और मैसेज नहीं कर सकते है |पोस्टपेड सिम में रिचार्ज करवाने की आवश्कता नहीं होती है, क्योंकि यह  अनलिमिटेड सर्विस प्रदान करता है, जिसका भुगतान बाद में करना होता है |
सस्ता या महंगाप्रीपेड सिम से अधिक कॉल करने पर कॉल हमे बहुत ही महंगी पड़ती है |पोस्टपेड सिम से अधिक कॉल करने पर हमे बहुत ही सस्ती पड़ती है |
इमरजेंसीबैलेंस ख़त्म होने पर 5-10 रुपये का इमरजेंसी बैलेंस आप उधार  ले सकते हैं|इसमें Emergency की tension नही रहती है, क्योकि monthly plan है, और balance बाद में करना होता है|
बिलइसमें बिल नही आता है| जितना balance होगा, उतना use कर सकते है|और इसमें बिल आता है| चाहे आप calls और internet use करो या नही, बस सीमित आएगा|

प्रीपेड सिम क्या हैं (What is Prepaid SIM)

प्रीपेड सिम के अंतर्गत कई कंपनियां आती हैं जैसे – Idea, Airtel, Vodafone, TATA DOCOMO, BSNL, Jio, Aircel आदि| इन सभी कंपनियों की कॉल, मैसेज, और इन्टरनेट की सर्विस प्राप्त करने से पहले हमे रीचार्ज करवाना पड़ता है, तभी आप इसमें प्राप्त सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते है| अथार्त आपको यदि किसी को कॉल या मैसेज करना होता है, तो आपको पहले कॉल और मैसेज करने का रिचार्ज करवाना आवश्यक है, आप इसमें इंटरनेट का भी प्रयोग कर सकते है, परन्तु इसके लिए आपको इंटरनेट का पैक करवाना पड़ेगा | प्रीपेड सिम के प्लान महंगे होते हैं| इसके अंतर्गत कई ऑफर्स भी आते हैं यूजर अपनी सुविधा के अनुसार इन सुविधाओं का लाभ लेता हैं|

पोस्टपेड सिम क्या हैं (What is Post Paid SIM)

पोस्टपेड सिम में आपको एक प्लान लेना होता है, वह पूरे महीने कार्य करता है, इसमें आप अपने प्लान के अनुसार कॉल, मैसेज और इंटरनेट का प्रयोग कर सकते है | इसका भुगतान आपको महीने के अंत में करना पड़ता है | प्रत्येक माह आपको कंपनी के द्वारा बिल दिया जाता है, जिसको एक तय समय सीमा के अंदर भुगतान करना पड़ता है | आप यदि भुगतान नहीं करते है, तो आपकी सारी सेवाओं बंद कर दी जाती है|

Win Rs. 50 PayTM Cash

प्रीपेड और पोस्टपेड सिम मे मुख्य अंतर

  1. रिचार्ज 

प्रीपेड सिम में पहले रिचार्ज करवाना पड़ता है इसके बाद ही आप इसकी सुविधा का लाभ ले सकते है जबकि पोस्टपेड में ऐसा नहीं है इसमें आप कॉल और इंटरनेट जैसी सुविधा का लाभ पहले ले सकते हैं और बाद मे भुगतान कर सकते है|

  1. वैलिडिटी

प्रीपेड में आप जो भी रिचार्ज करवाते हैं उसकी वैलिडिटी की कोई लिमिट नहीं होती है जबकि पोस्टपेड में रिचार्ज की वैलिडिटी मंथली या इयरली होती है| इसमें हर महीने या हर साल रिचार्ज करवाना पड़ता है|

  1. प्लान

इसमें आम आदमियों के लिए काफी सस्ते प्लान होते हैं और बिजनेसमैन लोगो के लिए प्लान मंहगे होते हैं| पोस्टपेड सिम में इसका उल्टा होता है इसमें सभी प्लान मंहगे होते हैं लेकिन यह बिजनेसमैन लोगो के लिए सस्ता पड़ जाता है क्योंकि बिजनेसमैन लोग ज्यादा कॉल और इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं|

  1. बेनिफिट

प्रीपेड सिम में यदि ज्यादा कॉल और इंटरनेट का उपयोग करते हैं तो इसमें कोई फायदा नहीं होता है जबकि पोस्टपेड में ज्यादा कॉल, मैसेज का उपयोग करने पर फायदा मिलता है| हालाकि इसमें इन्टरनेट यूज़ करने की लिमिट होती है जिससे ज्यादा इन्टरनेट यूज़ नहीं किया जा सकता है|

  1. पेमेंट

जहां तक प्रीपेड की बात करे तो इसमें पेमेंट करने के लिए क्रेडिट कार्ड की जरुरत नहीं पड़ती है जबकि पोस्टपेड में पेमेंट करने के लिए क्रेडिट कार्ड की जरुरत पड़ती है|

  1. बिल

इस प्रीपेड सिम में आपको किसी भी तरह का बिल पेमेंट नहीं करना पड़ता है जितना बैलेंस होगा आप उतना प्रयोग कर सकते हैं जबकि पोस्टपेड में आपको मंथली या इयरली बिल का भुगतान करना पड़ता है|

  1. एमरजेंसी लोन

इस प्रीपेड सिम में बैलेंस खत्म होने पर 5 से 10 रूपये का एमरजेंसी लोन लिया जा सकता है जबकि पोस्टपेड में बैलेंस खत्म होने का झंझट ही नहीं रहती है क्योंकि इसमें प्लान मंथली होते है जिनको बाद में भुगतान करना पड़ता है|

निष्कर्ष

प्रीपेड और पोस्टपेड में कौनसा अच्छा होता है? अगर इस बारे में बात की जाये, तो ज्यादा कॉल के लिए पोस्टपेड सही रहता है| और कम बात करने के लिए प्रीपेड का यूज कर सकते हैं|