अंतर

SSD और HDD में अंतर

SSD और HDD में अंतर (Difference Between SSD and HDD)

SSD और HDD सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस हैं जो तकनीकी तौर पर एक ही तरह कार्य करते है लेकिन इसकी विशेषताएं पूरी तरह से अलग होती है और अलग-अलग सामग्रियों का उपयोग करके अलग-अलग तरीके से निर्मित होते हैं। SSD का कार्य HDD के मुकाबले बहुत ज्यादा प्रभावी होता है|  इन मेमोरी उपकरणों का उपयोग एक सामान्य कार्य करने के लिए किया जाता है – जैसे की डेटा , फ़ाइलों, एप्लिकेशन को स्टोर करना और डिवाइस को बूट करना |

इस पोस्ट में हम जानेंगें-
  • SSD और HDD का तुलना चार्ट
  • SSD और HDD की परिभाषा
  • SSD और HDD में मुख्य अंतर
  • SSD और HDD के लाभ
  • SSD और HDD से नुकसान
  • निष्कर्ष

SSD और HDD का तुलना चार्ट

तुलना के लिए आधार
SSD
HDD
प्रदर्शनइसका प्रदर्शन बहुत श्रेष्ठ होता है |SSD की तुलना में यह मेडियम प्रदर्शन करता है
मजबूतीइसमें मजबूती ज्यादा होती है |यह कम मजबूत होता है |
बिजली की खपतकमज्यादा
एक्सेस टाइम100 माइक्रोसेकंड से भी छोटा।2.9 – 12 माइक्रोसेकंड
लागतमहंगासस्ती
डाटा ट्रांसफर रेटडेटा ट्रांसफर के लिए अच्छी गति प्रदान करता है।SSD से कम गति वाला होता है |
प्रारम्भ का समयस्टार्ट होने में कुछ मिलीसेकंड की जरूरत होती है।इसको स्टार्ट होने में SSD से कुछ सेकंड अधिक लगते है

SSD की परिभाषा

SSD (सॉलिड स्टेट ड्राइव) के विचार को 1978 में शुरू किया गया था और अर्धचालकों के साथ इसको लागू किया गया था। यह लगातार बिजली की आपूर्ति नहीं होने पर भी डेटा को स्टोर करता है। SSD  की गति HDD की तुलना में बहुत अधिक होती है क्योंकि यह उच्च IOPS पर डेटा फ़ंक्शन को पढ़ता और लिखता है (इनपुट-आउटपुट प्रति सेकंड)। इसमें किसी भी मूविंग पार्ट्स को शामिल नहीं किया गया है। प्रारम्भ में SSD का प्रयोग अस्थिर मेमोरी के रूप में किया गया था | उसके बाद SSD में डेटा को स्टोर करने के लिए उच्च गति वाले DRAM का उपयोग किया गया था। SSD कंपन और उच्च तापमान का विरोध करती है |     

SSD के घटक

SSD के मुख्य घटक कण्ट्रोल और मेमोरी हैं। नियंत्रक मुख्य प्रोसेसिंग इकाई का गठन करता है जो NAND मेमोरी तत्वों को होस्ट कंप्यूटर से जोड़ता है और फ़र्मवेयर स्तर कोड को निष्पादित करता है।

SSD का कार्य

इसका पहला ऑपरेशन होस्ट द्वारा किया जाता है जहां डेटा SSD नियंत्रक को भेजा जाता है। कंट्रोलर तय करता है कि डेटा को NAND मेमोरी में लिखना है या नहीं।  

HDD की परिभाषा

HDD (हार्ड डिस्क ड्राइव) को आईबीएम द्वारा 1956 में तैयार किया गया था और यह पहले की तकनीक है। यह एक रीड और राइट इलेक्ट्रोमैकेनिकल डिवाइस है जो अपने पार्ट्स को मूव करके काम करता है और डेटा को मैग्नेटिक रोटेटिंग प्लॉटर्स पर स्टोर करता है। फिर भी, HDD में चलते भागों के दोषो के साथ, यह बेहतर डेटा स्टोरेज तकनीक है। HDD में मोटर चालित स्पिंडल  और एक्ट्यूएटर और अन्य भागों का एक जटिल संगठन होता है  ताकि उच्च गति वाले चुम्बकीय डिस्क के ऊपर रिकॉर्डिंग हेड लगाया जा सके।

HDD के घटक

HDD के मुख्य भाग प्लॉटर और हेड होते हैं। प्लाटर एक मेग्नेटिक मटेरियल द्वारा कोटेड एक सर्कुलर डिस्क है जो डेटा को स्टोर करती है | ये प्लॉटर 5,400 से 7,200 रोटेशन प्रति मिनट की गति से घूम सकता हैं।

HDD का कार्य

एक प्लाटर (चुंबकीय डिस्क) को मोटर की सहायता से उच्च गति पर घुमाया जाता है। डेटा पढ़ने और लिखने के लिए आर्म का उपयोग करके हेड को उपयुक्त स्थान पर रखा जाता है। रीड ऑपरेशन के दौरान , हैड चुंबकीय मूल्य का पता लगाता है। लिखने के दौरान हैड चुंबकीय मूल्य को संशोधित करता है।

SSD और HDD में मुख्य अंतर

  • SSD का प्रदर्शन HDD से कहीं बेहतर है।
  • SSD,  HDD की तुलना में अधिक टिकाऊ और विफलता प्रतिरोधी उपयोग करता है।
  • छोटी फाइल्स के लिए SSD  का एक्सेस टाइम उत्कृष्ट होता है और डेटा ट्रांसफर दर 100 MB / s  से 600 MB / s के बीच हो सकती है। इसके विपरीत, SSD की तुलना में HDD का उपयोग एक्सेस टाइम में 10 गुना धीमा होता है। इसकी डाटा ट्रांसफर करने की रेट 140 ऍमबी/एस होती है , हालांकि  बड़ी फाइलें इसके प्रदर्शन को कम नहीं करती हैं।
  • SSD, HDD की तुलना में महंगा है और यह समान मात्रा में HDD की तुलना में कम संग्रहण क्षमता प्रदान करता है।

SSD से लाभ

  • यह बहुत तेज़ होता है |
  • यह कंपन शोर और गर्मी पैदा नहीं करता है।
  • आघात प्रतिरोधी
  • यह कम शक्ति का उपयोग करता है।

HDD से लाभ

  • यह आसानी से उपलब्ध हो जाती है |
  • बड़ी फ़ाइलों के साथ भी अच्छी तरह से काम करता है।
  • यह कम मात्रा में एक बड़ा भंडारण प्रदान करता है।

SSD से नुकसान

  • SSD में प्रयुक्त फ़्लैश मेमोरी कुछ लिखने के बाद बेकार हो जाती है।
  • फ्रेगमेंटेशन इश्यूज
  • इसकी लगता अधिक होती है |
  • HDD की तुलना में यह बड़ी फाइल्स को निश्चित रूप में उसकी जरुरत को कम कर देता है |

HDD से नुकसान

  • यह SSD की तुलना में धीमी।
  • यह अधिक गर्मी और कंपन पैदा करता है।
  • इसको बड़ी जगह चाहिये होती है ।

निष्कर्ष

SSD  (सॉलिड स्टेट डिस्क) एक अच्छा स्टोरेज माध्यम है जब उपयोगकर्ता अधिक विश्वसनीय, कुशल समाधान चाहता है जबकि HDD (हार्ड डिस्क ड्राइव) एक बेहतर विकल्प है जब प्रभावी भंडारण की आवश्यकता होती है।

Subject Wise Notes

error: Content is protected !!