Multimedia

Digital Font Techniques

Digital Font Techniques (डिजिटल फॉन्ट टेक्निक्स)

एक font resource traditional रूप से एक विशेष type face एवं size के कैरेक्टर्स का एक कलेक्शन होता है| यह अवधारणा तब काफी उपयोगी थी जब कोई विशेष type face एवं size के lead type की ट्रे को पकड़ता था या एक विशेष type face एवं size वाले बिटमैप डिजिटल फॉन्ट को परिभाषित किया जाता था| इस परिभाषा का महत्व तब कुछ कम हो जाता था जब इसे कैरेक्टर इमेजेस रिप्रेजेंट करने के लिए scalable आउटलाइन तकनीकों पर अप्लाई किया जाता था| एक डिजिटल Font रिसोर्स को सही तरीके से इस प्रकार परिभाषित किया जा सकता है: यह ग्राफिक कैरेक्टर का एक विशेष संग्रह है जिसमें एक कंप्यूटर सिस्टम द्वारा आवश्यक सूचनाएं जैसे विवरणात्मक कैरेक्टर पोजीशनिंग एवं कैरेक्टर शेप आदि सम्मिलित हों ताकि इनसे विशिष्ट टाइप की फैमिली और एक से अधिक type faces एवं type size को दर्शाया जा सके|

एक ट्रू टाइप या टाइप 1 फॉन्ट Victoria drawing का एक समूह होता है| इन्हें क्वालिटी के साथ कोई समझौता किए बिना स्केल किया जा सकता है प्रत्येक कैरेक्टर का वर्णन करने वाले वेक्टर को एक फाइल में स्टोर किया जाता है| जिसे हम Font का प्रयोग करने के लिए इस्तेमाल करेंगे PC प्लेटफार्म में ट्रू टाइप फाइल का एक्सटेंशन .tiff है और टाइप 1 फाइल्स में दो फाइल्स होती है .PFB और.PFM| इस अंतिम फाइल में मैट्रिक संबंधित सूचना होती है|

एक डिजिटल फॉन्ट बनाने के लिए हमें सिर्फ Shapes draw करनी है और उन्हें .ttf या .pfb और .pfm फाइल के रूप में एक्सपोर्ट करना है ऐसे बहुत से प्रोग्राम है जो हमें पहले भाग ड्राइंग में मदद करेंगे लेकिन दूसरे भाग के लिए विशेष सॉफ्टवेयर की जरूरत होगी| सौभाग्य से एक बहुत ही कॉमन प्रोग्राम कोरल ड्रा में एक Font एक्सपोर्ट फिल्टर शामिल होता है| इन ड्राइंग एप्लीकेशंस में जो टूल्स शामिल किए गए हैं| वह इस्तेमाल करने में आसान है और Font making प्रोग्राम में इस्तेमाल किए गए टूल्स की अपेक्षा अधिक पावरफुल है|


Related Post

Related Post




Computer Hindi Notes Android App