इन्टरनेट एंड वेब पेज डिजाइनिंग इन्टरनेट और ई-कॉमर्स

VPN क्या है ?

VPN क्‍या है ? (What is VPN)

VPN का पूरा नाम Virtual Private Network है, VPN एक नेटवर्क टेक्‍नोलॉजी है, जो पब्लिक नेटवर्क जैसे कि इंटरनेट या प्राइवेट नेटवर्क जैसे Wi-Fi पर एक सिक्योर कनेक्शन बनाता है| बड़े कॉर्पोरेशन, एजुकेशनल इंस्टिट्यूशन और गवर्नमेंट एजेंसीज VPN टेक्‍नोलॉजी का उपयोग सिक्योर कनेक्शन के लिए करते है|

VPN का सबसे महत्वपूर्ण काम एक तरह से नेटवर्क सुरक्षा प्रदान करना है, आप इन्टरनेट पर जो भी कार्य कर रहे होते है उन्हें VPN सिक्योर  करता है | इसके साथ ही आप VPN सर्विस की मदद से ब्लाक वेबसाइट को भी एक्सेस कर सकते है | कुछ वेबसाइट ऐसी है जिन्हें आप अपनी कंट्री में एक्सेस नही कर सकते उन सभी वेबसाइट को आप VPN Service की मदद से आसानी से एक्सेस कर पाएँगे | अब हम जानते है की VPN काम कैसे करता है?

VPN काम कैसे करता है ? (How to work VPN)

VPN हमारे महत्वपूर्ण डाटा को सुरक्षित रखता है। VPN को जब हम कनेक्ट करते है तब वह local network की तरह काम करता है। VPN का प्रयोग करने के लिए सॉफ्टवेयर मे Free Version और Paid Version दोनो है। इन सॉफ्टवेयर को हम Android smartphone और PC मे connect कर सकते है |

जब हम बिना VPN के मोबाइल में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, तो हमारा डिवाइस लोकल नेटवर्क पर काम करता है | जिससे हम किसी हैकर के द्वारा आसानी से हैक किए जा सकते हैं और इसके अलावा हम हमारे देश में ब्लाक हुई वेबसाइट भी ओपन नहीं कर पाते है,लेकिन जब आप अपनी डिवाइस को VPN से कनेक्ट करते हैं तो यहां एक स्पेशल नेटवर्क से कनेक्टेड हो जाते है. जिसकी मदद से आप अपने डाटा को सुरक्षित रूप से (Securely) कहीं भी भेज सकते हैं और किसी भी ब्लॉक वेबसाइट को ओपन कर सकते हैं|

जब डिवाइस VPN से कनेक्ट होता है और हम किसी ब्लॉक वेबसाइट को ओपन करते हैं तो VPN ब्लॉक वेबसाइट पर यूजर की रिक्वेस्ट भेजता है,और वेबसाइट का सारा डाटा आपके डिवाइस पर दिखा दिया जाता है | जब आपका डिवाइस वेबसाइट के सर्वर पर एक्सेस की रिक्वेस्ट भेजता है तो वहां किसी और IP एड्रेस से Tunneling करके डिवाइस की Information Send करता है जिससे वेबसाइट के सर्वर को देश बदलकर बेवकूफ बना दिया जाता है और आपकी डिवाइस में सारा डाटा दिखाई देता है|

यहाँ दो मुख्य टेक्‍नोलॉजी है, जिनसे VPN कनेक्‍शन क्रिएट किया जा सकता है, जिससे डाटा पब्लिक नेटवर्क पर सुरक्षित तरीके से ट्रांसमिट किया जाता है| यह है एन्क्रिप्शन और टनलिंग|

Encryption: Encryption एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें data या information को secret codes में convert कर दिया जाता है जिसे cipher text कहते है। Cipher text को आसानी से समझा नही जा सकता है इसे सिर्फ एक्सपर्ट ही समझ सकते है और जो original data या information होती है उसे हम plain text कहते है और उसे cipher text में encrypt कर दिया जाता है। Encryption का मुख्य उद्देश्य डिजिटल डेटा या इनफार्मेशन ( जो internet के माध्यम से transmit होता है) को सुरक्षित करना है।

Tunnelling: Tunnelling के द्वारा हम किसी एक नेटवर्क के डाटा को दूसरे नेटवर्क के द्वारा भेज सकते है अधिकतर इसका प्रयोग प्राइवेट नेटवर्क के डाटा को पब्लिक नेटवर्क के द्वारा भेजने के लिए किया जाता है | Tunnelling का अर्थ है, पब्लिक नेटवर्क पर एक ऐसा टनल क्रिएट करना जिसमें पूरे पैकट को अन्‍य पैकेट में पब्लिक नेटवर्क पर ट्रांसमिट किया जाता है| इसमें encapsulating प्रोटोकॉल इस तरह से चुना जाता है, कि डेटा पब्लिक नेटवर्क पर ट्रांसमिट होते समय अन्‍य कंप्‍यूटर या नेटवर्क डिवाइसेस इसे समझ न सकें|

VPN का प्रयोग कैसे करे ? (How to use VPN)

अब हम ने जान लिया है कि VPN क्‍या है अब जानते है कि VPN को यूज़ कैसे करते है।

  • अगर आप कम्‍प्‍यूटर मे VPN का इस्‍तेमाल करना चाहते है तो आप opera developer software को कम्‍प्‍यूटर मे install करे।
  • अब App को install होने के बाद open करे अब आप को उपर की side में menu का option देखेगा। उस पर click करे और setting पर click करे।
  • Setting पर click करने के बाद आपको privacy And security का option दिखेगा और अब उस पर click करे वहॉ आप को का VPN का option नज़र आयेगा आपको Enable VPN पर tick करना होगा
  • ऐसा करने से आपके opera Browser मे VPN Activate हो जाएगा और अब आप blocked website तक पहॅुच सकते है।
  • अब Browserके URL के पास VPN लिखा देख सकते है इस पर आप click करके  VPN को on/off  कर स‍कते है। और location भी change कर सकते है।

Best window VPN software For Computer

वैसे तो internet पर ऐसे कई सॉफ्टवेयर है जो VPN पर कार्य करते है लेकिन जो Best window VPN software है उनकी लिस्ट नीचे दी गई है |

  • Cyber Ghost
  • Hotspot shield
  • Finch VPN
  • ZPN connect
  • Wind Scribe
  • Open VPN
  • Total VPN
  • Tunnel Bear
  • Zen mate
  • Surf Easy

स्मार्ट फ़ोन/मोबाइल में  VPN कैसे सेट  करें ?

  • अगर आप Smartphone or mobile मे VPN सेट करना चाहते है। तो आप उसे आसानी से set कर सकते है। इसके लिए आपको अपने मोबाइल  में play-store and app-store से VPN को डाउनलोड  करना होगा और फिर उसे आप को Install करना होगा |
  • सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करने के बाद आप उसे ओपन करें,और आपनी मनचाही लोकेशन को सेट करे । उसके बाद connect option पर click करे।
  • Connect option पर click करने के बाद आपके Smartphone मे VPN activate हो जाएगा।

VPN के लाभ (Advantages of VPN)

  • VPN public connection को safely access करने में मदद करता है।
  • ये Online security को बढ़ा देता है।
  • यह आपकी उन वेबसाइट तक एक्सेस  करने मे मदद करता है  जिन वेबसाइट  तक हम पहॅुच नही पाते

VPN की हानियाँ ( Disdvantages of VPN)

  • ज्‍यादातर Reliable VPNs free नही होते है।
  • आपको अच्‍छे से Research करना होगा good connection speed के लिए।
  • सभी VPNs software को सही नही माना जा सकता।

 

 

%d bloggers like this: