लैपटॉप का इतिहास

History of Laptop

आपने कई प्रकार के कंप्यूटर और लैपटॉप चलाये होंगे, लैपटॉप का विकास बहुत तीव्र गति से हो रहा है| आज कल जो लैपटॉप बाजार में उपलब्ध हैं उनकी तकनीक बहुत ही शानदार है, अभी के लैपटॉप का वजन एक तरफ बहुत कम होता है वहीँ दूसरी तरफ इसकी स्पीड कई अच्छे कंप्यूटर से भी तेज होती है| इस लेख में हम जानेंगे की लैपटॉप का इतिहास (History of Laptop) क्या है| इस लेख में हम 1975 से लेकर 2007 तक के लैपटॉप के इतिहास (Laptop history) के बारे में जानेंगे|

आपने कई प्रकार के कंप्यूटर और लैपटॉप चलाये होंगे, लैपटॉप का विकास बहुत तीव्र गति से हो रहा है| आज कल जो लैपटॉप बाजार में उपलब्ध हैं उनकी तकनीक बहुत ही शानदार है, अभी के लैपटॉप का वजन एक तरफ बहुत कम होता है वहीँ दूसरी तरफ इसकी स्पीड कई अच्छे कंप्यूटर से भी तेज होती है| इस लेख में हम जानेंगे की लैपटॉप का इतिहास (History of Laptop) क्या है| इस लेख में हम 1975 से लेकर 2007 तक के लैपटॉप के इतिहास (Laptop history) के बारे में जानेंगे|

Year 1975

सितंबर 1975 में IBM-5100 पोर्टेबल (ले जाने योग्य) कंप्यूटर को लांच किया गया। जिसे IBM Company द्वारा बनाया गया था। IBM का यह सबसे पहला Production कंप्यूटर था। इसका वजन 55-पाउंड था, जो पहले के अन्य कंप्यूटर की तुलना में बहुत हल्का और अधिक पोर्टेबल था। 1973 में IBM ने SCAMP (Special Computer APL Machine Portable) नाम का एक Prototype तैयार किया जिसे IBM पालो ऑल्टो साइंटिफिक सेंटर में विकसित किया गया था। इस Protype के तहत ही IBM-5100 को बनाया गया। इस लैपटॉप के साथ ही Portable computer को बनाने की शुरुआत हो चुकी थी।

Year 1976

बात उस समय की है जब अमेरिका के मशहूर Computer Scientist Alan Kay एक बार जब कैलिफोर्निया की Xerox PARC (Palo Alto Research Center) में काम कर रहे थे, तब उनके मन में लैपटॉप कंप्यूटर को बनाने का विचार आया, इसे Dynabook नाम दिया गया। उन्होंने Dynabook के कम से कम 10 प्रोटोटाइप तैयार किये। इसे Xerox Note taker नाम दिया गया था।

Alan kay के इस शोध में Xerox Note taker को एक team ने develop किया था जिसमें Adele Goldberg, Douglas Fairbairn, and Larry Tesler शामिल थे। Dynabook Inc. एक जापानी पर्सनल कंप्यूटर निर्माता है जिसकी ownership वर्तमान में Sharp Corporation के पास है। Dynabook नाम के Toshiba laptops को विकसित किया जिसने laptop एवं mobile solution के लिए एक महत्वपूर्ण series शुरू की।

1979

1979 में मशहूर ब्रिटिश Designer William Grant Moggridge ने पहले laptop Computer GRiD कम्पास को डिजाइन किया, जो उस समय का सबसे पोर्टेबल कंप्यूटर और लैपटॉप कंप्यूटर था, जिसे आसानी से कहीं भी ले जा सकते थे। ज्यादा शक्तिशाली, एवं वजन कम होने के कारण सबसे पहले NASA ने 1980 के दशक की शुरुआत में अपने एक अंतरिक्ष यान Project में GRiD कम्पास का इस्तेमाल किया। इसकी सफलता के बाद विशेष सैनिक बलों ने भी इसका इस्तेमाल युद्ध मे paratroopers के रूप में किया।

Year 1981

3 अप्रैल 1981 को Osborne corporation द्वारा “Osborne-I” पोर्टेबल कंप्यूटर को लॉन्च किया गया। यह ऐसा पहला portable Laptop था जो व्यावसायिक रूप से सफल रहा। इसका वजन 24.5 पौंड (11.1 किलो) था, एवं इसमें 5″ का Display Screen दिया गया था।


इस Laptop को on करने के लिए ऑन-बोर्ड बैटरी नहीं होती थी। इसे operate करने के लिए Wall Socket की जरूरत पड़ती थी, जिससे इस पोर्टेबल को चालू करने के लिये Electricity की Supply की जाती थी। हम इसे पोर्टेबल डिवाइस बोल सकते हैं, क्योंकि की-बोर्ड बंद होने पर इसे हाथ से उठाकर कहीं भी ले जाया जा सकता है।

Epson HX-20 जिसे HC-20 के नाम से भी जाना जाता है।इसका आविष्कार जुलाई 1980-81 में Yukio Yokozawa द्वारा किया गया था, जिन्होंने जापानी कंपनी सीको की एक शाखा सुवा सेकोशा के लिए काम किया था। यह कंपनी आविष्कार के लिए पेटेंट प्राप्त कर रही थी। इसे जुलाई 1982 में जापान में HC-20 और उत्तरी अमेरिका में Epson HX-20 नाम से बड़े पैमाने पर रिलीज़ किया गया था। इस लैपटॉप की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि यह बहुत ज्यादा Portable था जिसकी वजह से इसे आसानी से एक स्थान दे दूसरे स्थान पर ले जाया जा सकता था।

Year 1983

1983 में संयुक्त राज्य अमेरिका ने TRS-80 मॉडल 100 पोर्टेबल कंप्यूटर को Launch किया। यह एक नोटबुक-शैली के कंप्यूटरों में से एक था। इसमें बैटरी से चलने वाला एक पूरा System होता था जिसमें एक कीबोर्ड और एक LCD डिस्प्ले लगा होता था, जिसकी size एक Notebook के बराबर होती थी। TRS-80 मॉडल 100 Portable कंप्यूटर को मूल रूप से क्योसेरा द्वारा बनाया गया था, लेकिन बाद में इसके अधिकार Radio Shake को बेच दिए गए।

Year 1984-1986

Europe की Commodore International Company ने जनवरी 1984 में CommodoreSX-64 को launch किया, जो एक Full Color Display की सुविधा वाला सबसे पहला पोर्टेबल कंप्यूटर था। इसका वजन लगभग 20 पाउंड था। 2 अप्रैल 1986 में IBM ने अपना पहला लैपटॉप, PC Convertible जारी किया। इसका वजन 12-पाउंड था। जिससे यह 15-पाउंड से कम का पहला लैपटॉप बन गया। इसे 3½ इंच Floppy Disk format में बनाया गया था। आधुनिक laptops की तरह ही इसमें भी battery से चलने की क्षमता थी और ये बाँकी laptops की तुलना में अधिक शक्तिशाली था।

Year 1987

सन 1987 में HP Hewlett Packard ने “Vectra” Portable CS Laptop launch किया। इसकी capacity इतनी थी कि यह 1.44 MB, Diskette का use करने में सक्षम था, तथा इस लैपटॉप में 3 ½ इंच फ्लॉपी डिस्क ड्राइव की सुविधा दी गई थी।

इन Portable Laptops की facilities को देखते हुए 1987 में ही अमेरिकी वायु सेना के request पर सेना के maintenance के लिए RPF Act, 1957 के तहत एक Guideline जारी की गई। इसमें सेना के लिए 200,000 से अधिक लैपटॉप खरीदे जाने थे। इन Laptops को बनाने का काम Zenith Data Systems (ZDS)को दिया गया था। जो कि Microcomputer बनाने वाली एक Famous Company थी। अमेरिकी वायु सेना के द्वारा इतनी ज्यादा संख्या में Laptop खरीदे जाने के कारण Portable Computers अर्थात Laptops की popularity और भी ज्यादा बढ़ गई।


Year 1988

1988 में अमेरिका की एक Information Technology कंपनी Compaq ने अपना पहला Portable Computer Compaq SLT/286 launch किया।

Compaq SLT Series, Compaq कंपनी द्वारा बनाए गए Laptop Computers की एक ऐसी Series थी जिसमें यूज़र्स को पहले के laptops की तुलना में ज्यादा Features दिए गए थे। Compaq कंपनी ने इस series में लैपटॉप के दो मॉडल तैयार किए गए थे। पहला मॉडल था SLT/286 जिसे 17 अक्टूबर, 1988 को जारी किया गया था। इसकी खासियत यह थी कि लैपटॉप के बाँकी Models की तुलना में इसकी Battery Life ज्यादा बेहतर थी। इसकी सबसे मुख्य विशेषता यह थी कि इसकी Display Quality बहुत अच्छी थी इस वजह से ये laptop काफी हद तक success रहा।

Compaq कंपनी ने इसी series का दूसरा मॉडल, SLT 386s/20, 1990 में launch किया गया था, इसे 386SX 20MHz माइक्रोप्रोसेसर के साथ Design किया गया था। इसकी Speed 50% अधिक थी। यह VGA Graphics और एक Internal Hard Drive की सुविधा वाला पहला बैटरी से चलने वाला लैपटॉप था।

Year 1989

1989 में Macintosh Portable launch किया गया। जिसे Apple Computer, Inc. द्वारा डिज़ाइन किया गया था। यह बैटरी से चलने वाला पहला Macintosh Portable था, इसके वजन की बात की जाए तो इसका वजन लगभग 7.3kg था। इस Laptop में कुछ कमियां होने के कारण यह सफल नहीं रहा। इसमें एक Black & White स्क्रीन display की गई थी जो काफी महँगी थी। और इसकी सबसे बड़ी कमी यह थी कि Low Brightness को वजह से users को Data को Read करने में परेशानी होती थी।

इन कमियों में सुधार करने के लिए Apple ने Backlight Feature वाला Macintosh Portable (model M5126) लांच किया। स्क्रीन की प्रदर्शन क्षमता तो बेहतर हो गई लेकिन इससे Battery Life में बहुत ज्यादा कमी आ गई। Battery Life को बढ़ाने के लिए Macintosh Portable में महंगी SRAM मेमोरी का उपयोग किया। लेकिन बाद में नये Backlight Portable को इस प्रकार से design किया गया जिसमें कम खर्चे वाली SRAM का use किया गया, जिससे इस Portable की कीमत कुछ हद तक कम जरूर हो गई, लेकिन इसे high quality के लिए design किया गया था जिससे इसकी कीमत और वजन ज्यादा था। Macintosh पोर्टेबल लैपटॉप की इन्हीं कमियों की वजह से इस पोर्टेबल को अक्टूबर 1991 में बंद कर दिया गया था।

इसी क्रम में जापान की NEC Telecommunication engineering team ने 1989 में NEC UltraLite को लॉन्च किया। इसका वजन 5 पाउंड से कम था।

मीडिया में इस Notebook size के Portable को काफी सफलता मिली क्योंकि media में छोटे लेखों को लिखने के लिए इसी प्रकार के notebook size के portable को जरूरत थी। लेकिन मीडिया के अलावा ज्यादातर users ने इसे पसंद नहीं किया जिसके 2 सबसे बड़े करण यह थे कि एक तो इसमे Hard Drive की कमी थी और दूसरा यह कि इसमें लगाया गया processor बहुत ही slow था।

Year 1992

विश्व की दो Famous कंपनियां, माइक्रोसॉफ्ट और इंटेल ने मिलकर Portable laptops बनाने के लिए काम शुरू किया। इन दोनों कंपनियों ने नए software और Hardware को मिलाकर high performance वाले laptop बनाये जो Commercial फील्ड में बहुत ज्यादा उपयोगी सिद्ध हुए।

पुराने कंप्यूटर्स में सबसे बड़ी परेशानी यह थी कि उनका वजन अधिक होने के कारण लोग उनको यात्रा के दौरान नहीं ले जा सकते थे। लेकिन इन high performance और light weight वाले लैपटॉप्स की वजह से commercial fields में कार्यों को करना आसान हो गया।

1992 में, Italian company “Olivetti” ने सबसे पहले ऐसे laptop को बनाया जिसमें touchpad का उपयोग किया जा सकता था। इसमें अलग से mouse को connect करने की आवश्यकता नहीं होती है।
टचपैड का उपयोग माउस पॉइंटर को control करने के लिए किया जाता है, जिसे cursor भी कहा जाता है। जब हमें display पर किसी Item को सेलेक्ट करना होता है या उसे दर्शाना होता है, तो Touchpad की सहायता से mouse pointer या cursor से उस item का चयन कर सकते हैं।

Year 1994

1994-95 में ThinkPad 775-CD को लांच किया गया, जिसे IBM Corporation द्वारा ThinkPad 700-सीरीज के Model के रूप में बाजार में पेश किया गया गया। यह एक नोटबुक कंप्यूटर था|
इसमें Integrated CD ROM drive का उपयोग किया गया था। जिसकी सहायता से किसी Compact Disk के डेटा को read किया जा सकता था। Integrated सीडी-रोम ड्राइव की facilityवाला यह पहला लैपटॉप था।
1998 के अंत तक ThinkPad लैपटॉप की यह series Market में काफी सफल रही।

Year 2002

2002 में जापान की Toshiba कंपनी ने Toshiba Protégé series में Toshiba Portege-2000 लैपटॉप को लांच किया। इस laptop का सबसे ज्यादा use Commercial Fields में किया गया। portege लैपटॉप में ऐसी नई techniques का use किया गया जो कि इससे पहले किसी भी लैपटॉप कंपनी ने नहीं किया था। लैपटॉप और मोबाइल solutions में यह सीरीज सफल रही क्योंकि ये laptops वजन में भी काफी हल्के थे और इनको आसानी से कहीं भी ले जा सकते थे। इस series में भी Integrated CD ROM drive की सुविधा provide की गई थी।

Protégés को portability औऱ बेहतर प्रदर्शन के लिये डिज़ाइन किया गया था। इस series की सबसे मुख्य विशेषता यह रही कि इसने अपने सभी models में सबसे ज्यादा ध्यान Laptops की Battery Life पर दिया जिससे यह बहुत ज्यादा सफल रहा। इसके अलावा, Protégé लाइन में models के Structure को ऐसे design किया गया था जो लैपटॉप को ज्यादा मज़बूत और Stable बनाता है।
इसी series में Toshiba ने 2003 में Toshiba Portege M100 लॉन्च किया, जो एक स्लिम डीवीडी-रोम ड्राइव की सुविधा वाला पहला लैपटॉप है।

Year 2007

ताईवान की Multinational Computer-Mobile हार्डवेयर & इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी ASUS ने अक्टूबर 2007 में Eee PC 701 जारी किया, जो पहला Netbook लैपटॉप था। यह सामान्य लैपटॉप्स की अपेक्षा अधिक क्षमता वाला लैपटॉप था। नेटबुक ऐसे लैपटॉप होते हैं जो आकार में छोटे और वायरलेस संचार के लिए अधिक उपयुक्त होते हैं। इसमें एक 7 इंच स्क्रीन, एक इंटेल सेलेरॉन-एम प्रोसेसर, और एक 4 जीबी SDHC स्टोरेज डिस्क उपयोग किया गया। ये लैपटॉप कम वजन, कम लागत और High Processor की वजह से जाने जाते थे। कुछ समय तक इन लैपटॉप्स की demand market में बहुत ज्यादा रही, लेकिन बढ़ती टेक्नोलॉजी की वजह से इससे भी कम कीमत और कम वजन वाले Tablets और Ultrabooks को लॉन्च किया गया। Users की रुचि Tablets और Ultrabook में ज्यादा होने के कारण ASUS की Eee PC series की बिक्री में गिरावट आई।

जनवरी 2013 में, ASUS ने अपनी Eee PC-Series का Production बन्द कर दिया। बाद में उन्होंने 2015 में Ebook Series की रिलीज के साथ Laptops की नई series को फिर से शुरू किया।

error: Content is protected !!