सूचना प्रौद्योगिकी कार्य, अनुप्रयोग और महत्व

जैसा कि हम सभी जानते है कि हाल के वर्षों में सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) ने सभी लोगों के ध्यान को आकर्षित किया है। और IT किसी भी संगठन (organization) का एक अभिन्न अंग हैं। व्यवसायों में उपयोगिता के अलावा, IT ने अन्य क्षेत्रों को भी बढ़ने में मदद की है, इस article में हम सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) के बारे में जानेगे साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) के कार्यो उसके अनुप्रयोगों (applications) और सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) की महत्वपूर्णता को भी जानेगे|

सूचना प्रौद्योगिकी ने पिछले कुछ वर्षों में लोकप्रियता हासिल की है। पिछले कुछ वर्षों में प्रौद्योगिकी (Technology) के उपयोग में वृद्धि हुई है जिससे अंततः सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) की मांग में वृद्धि हुई है। आजकल, आईटी विभाग (IT department) हर संगठन के लिए जरूरी है।

आईटी उद्योग (IT industry) ऐसा क्षेत्र नहीं था जिसने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया हो, बल्कि आज के समय में लोगो की धारणा बदल गई। अब लोग IT को करियर विकल्प के रूप में पसंद करते हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) के विकास का अध्ययन करने के लिए, इस ब्लॉग में शामिल हैं:

  1. सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) या IT क्या है?
  2. सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) के कार्य
  3. व्यवसाय में सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) क्यों महत्वपूर्ण है?
  4. सूचना प्रौद्योगिकी (Information technology) के अनुप्रयोग

Information Technology (IT) क्या है?

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) डेटा या सूचनाओं को संग्रहीत करने, पुनर्प्राप्त करने, साझा करने और हेरफेर करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग है। हम सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) को प्रशासनिक मुद्दों (administrative issues) का पता लगाने के लिए प्रौद्योगिकी (Technology) का एक आग्रह भी कह सकते हैं। वर्तमान समय में IT शब्द ने व्यापार और कंप्यूटिंग के क्षेत्र में लोकप्रियता हासिल की है।

आज, हर संगठन का अपना आईटी विभाग (IT department) होता है जो संगठन को सभी प्रकार के तकनीकी मुद्दों (technical issues) से निपटने में मदद करता है।

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) के कार्य

किसी संगठन के भीतर प्रदर्शन करने के लिए तीन व्यापक कार्य होते हैं, वो हैं:

1. शासन (Governance)

यह काम करने वाली इकाइयों के लिए परिचालन सीमाओं (operational boundaries) के निष्पादन (execution) और आईटी ढांचे (IT frameworks), इंजीनियरिंग और संगठनों (organizations) के लोगों के उपयोग का संकेत देता है।

यह पारंपरिक आईटी सुरक्षा (IT security) के साथ-साथ सूचना पुष्टि (information affirmation) के लिए भी आवश्यक है जिसके लिए आईटी कार्यालय (IT office) भी सक्षम है।

2. बुनियादी ढांचा ( Infrastructure)

यह एक आईटी प्रणाली ( IT system) के लिए आवश्यक सभी भौतिक घटकों (physical components) को संदर्भित करता है। इसमें संगठन की जरूरतों और आकार के अनुसार हार्डवेयर, नेटवर्क और सर्किटरी उपकरणों का उपयोग शामिल है।

3. कार्यक्षमता (Functionality)

यह शायद सबसे महत्वपूर्ण और व्यवहार्य कार्य है जो एक आईटी विभाग (IT department) करता है और यही कारण है कि एक आईटी विभाग (IT department) को एक संगठन में याद किया जाता है।

यह परिचालन अनुप्रयोगों (operational applications) को बनाने और बनाए रखने के लिए संदर्भित (refers) करता है|  इसमें संगठन से संबंधित इलेक्ट्रॉनिक डेटा को विकसित करना, सुरक्षित करना और संग्रहीत करना और संगठन के सभी कार्यात्मक क्षेत्रों में सॉफ्टवेयर और डेटा प्रबंधन के उपयोग में सहायता करना आदि शामिल है|

4. नेटवर्क आकस्मिकताएं (Network Contingencies)

न केवल संगठन के भीतर बल्कि बाहरी संस्थाओं पर भी जो संगठन की सेवाएं लेते हैं उनपर एक नेटवर्क विफलता के कई परिणाम हो सकते हैं- इसके अलावा,

यह बाहरी संस्थाओं (outside entities) को भी प्रभावित कर सकता है, यह स्थिति संगठन को उनकी सेवा करने में असमर्थ रूप में चित्रित कर सकती है और अंततः वे कंपनी में विश्वास खो सकते हैं।
इसलिए, आईटी विभाग क्या करता है कि यह एक संकट योजना (crisis plan) बनाता है जिसे सिस्टम के खराब होने पर लागू किया जा सकता है।
एक संगठनात्मक ढांचे के रखरखाव और व्यवस्था के माध्यम से, आईटी डिवीजन (IT division) को बाहरी विक्रेताओं (outside sellers) और उद्योग के विशेषज्ञों (industry specialists) के साथ कुशल संघों (manufacture proficient) का निर्माण करना चाहिए।
यह कार्यालय के प्रतिनिधियों को अपने दायित्वों को और अधिक कुशलता से निभाने में सक्षम बनाता है और साथ ही सबसे हालिया नवाचार (recent innovation) पर आगे रहता है जो उस संगठन के लिए उपयोगी हो सकता है जिसके लिए वे काम करते हैं।

5. अनुप्रयोग विकास (Application Development)

नियमित रूप से, संगठन आईटी डिवीजन के प्रमुख भाग को ऐसे एप्लिकेशन बनाने के रूप में देखते हैं जो इसकी मुख्य व्यावसायिक जरूरतों (center business needs) को पूरा करते हैं। सही अनुप्रयोग एक व्यवसाय को कल्पनाशील, अधिक लाभकारी, उत्पादक और अपने प्रतिद्वंद्वियों को आगे बढ़ाने की अनुमति देते हैं।

अन्य दृष्टिकोणों से, यह एक व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए आईटी डिवीजन (IT division) को तत्काल बनाता है।
अनुप्रयोगों (applications) को बनाने के लिए महत्वपूर्ण कार्य जो एक व्यवसाय को दूसरे व्यवसाय से अलग कर सकते हैं, इसके लिए डेवलपर्स, शोधकर्ताओं, इंटरफ़ेस डिजाइनरों, डेटाबेस प्रशासकों, विश्लेषकों और विभिन्न विशेषज्ञों के साथ एक आईटी कार्यालय (IT office) की आवश्यकता होती है।

6. संचार (Communication)

बहुत से लोग जानते हैं कि आईटी डिवीजन (IT division) एक व्यवसाय के अंदर पीसी गतिविधियों (PC activities) और अन्य डेटा प्रगति की उपलब्धि के लिए उत्तरदायी है।

इसके बावजूद, नए प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक संचार (electronic communication) अत्याधुनिक कार्यालय में मुख्य बन गए हैं, आईटी कार्यालय (IT office) संगठन पत्राचार (organization correspondence) के विशेष पक्ष में एक प्रमुख कार्य कर रहे हैं।
इसमें हाइलाइट पॉइंट-टू-पॉइंट फोन कॉल, कॉन्फ़्रेंस कॉल, वीडियो और वेब कॉन्फ़्रेंस शामिल हैं, साथ ही कम तात्कालिक (less immediate) प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक पत्राचार (electronic correspondence) जैसे संगठन ड्राइव (organization drives), ईमेल फ्रेमवर्क (email frameworks) और सुरक्षित कर्मचारी (secure workers) भी इसमें सम्मिलित है|
आईटी कार्यालय (IT office) को पूरी तरह से देखना चाहिए कि ये ढांचे कैसे काम करते हैं और किस तरह एक दूसरे के साथ सहयोग करते हैं|

7. कंपनी की वेबसाइट (Company Website)

कंपनी की वेबसाइट बनाने और बनाए रखने के लिए आईटी विभाग यदि पूरी तरह से नहीं तो आंशिक रूप से जिम्मेदार है। हम आंशिक रूप से इसलिए कह रहे हैं क्योंकि वेबसाइट पर प्रदर्शित सामग्री को ज्यादातर मार्केटिंग विभाग द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

आईटी विभाग (IT department) आमतौर पर कोड बनाता है और कार्यक्षमता का परीक्षण करने के लिए अन्य विभागों (department) के साथ काम करता है।
यह संकट की प्रतिक्रिया (crisis reaction) को अप्रत्याशित मुद्दों (unexpected issues) से व्यवसाय को ढालने का इरादा रखता है और पूरे संगठन की दक्षता और सफलतापूर्वक काम करने की क्षमता में लगातार सुधार करने का प्रयास करता है।

व्यवसायों के लिए सूचना प्रौद्योगिकी क्यों महत्वपूर्ण है?

सीधे शब्दों में कहें तो किसी संगठन का कामकाज आईटी विभाग (IT Department) के योगदान के बिना धीमी गति से क्रॉल हो जाएगा।

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) व्यापार जगत को लाभान्वित करती है और यह संगठनों को अधिक कुशलता से काम करने और उत्पादकता को अधिकतम करने की अनुमति देती है और इसी तरह, निम्नलिखित तरीके हैं जिनसे IT व्यवसाय में मदद करता है|

विकसित सूचना प्रौद्योगिकी (Developed Information Technology) उत्पादकता (productivity) को बढ़ाती है|

व्यवसाय में, लोग कम अवधि में अधिक कार्यों को पूरा करना चाहते हैं और यह तभी प्राप्त किया जा सकता है जब व्यवसाय में एक अच्छी तरह से विकसित सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) हो।

  • तेजी से संचार, इलेक्ट्रॉनिक भंडारण, और मूल्यवान अभिलेखों की सुरक्षा IT के द्वारा दिए जाने वाले फायदे हैं।
  • IT में विकास एक तरफ प्रतिस्पर्धी कारोबारी माहौल में नई मांगों से प्रेरित है तो दूसरी तरफ कंप्यूटर की प्रकृति में गहरा बदलाव है।
  • सूचना प्रौद्योगिकी ढांचे (Information Technology frameworks) यांत्रिक रूप से उन्नत गैजेट की तरह दिखते हैं जो प्रशासकों (administrators) को महत्वपूर्ण डेटा देने में मदद करते हैं और इसलिए वे इस डेटा का उपयोग अपने संगठन के कार्यों के संबंध में महत्वपूर्ण विकल्प पर समझौता करने के लिए करते हैं।
  • IT का संबंध पीसी अनुप्रयोगों (PC applications) से है, जिस पर व्यावहारिक रूप से हर कार्यस्थल जरूरतमंद है।

IT इलेक्ट्रॉनिक्स स्टोरेज सिस्टम (electronics storage systems) प्रदान करता है|

सूचना प्रौद्योगिकी ( (Information Technology) इलेक्ट्रॉनिक भंडारण प्रणालियों की सुविधा प्रदान करती है जिनका उपयोग कंपनियां अपने मूल्यवान रिकॉर्ड की सुरक्षा के लिए करती हैं। ग्राहक और रोगी फाइलों का सुरक्षित रखरखाव व्यवसाय की अखंडता के लिए महत्वपूर्ण है।

  • सूचना प्रौद्योगिकी में कोडिंग/प्रोग्रामिंग, डेटा संचार, डेटा रूपांतरण, भंडारण और पुनर्प्राप्ति, सिस्टम विश्लेषण और डिज़ाइन, और सिस्टम नियंत्रण जैसे उपकरणों, प्रक्रियाओं और कार्यप्रणाली का एक सेट शामिल है।
  • ये उन उपकरणों के साथ कार्यरत हैं जो जानकारी एकत्र करते हैं, संसाधित करते हैं और प्रस्तुत करते हैं।
  • जब से कंप्यूटर की शुरुआत हुई है, इसने व्यवसायों के पहलुओं को बदल दिया है। वे यह सुनिश्चित करने के लिए कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर का उपयोग करते हैं कि उनका व्यवसाय सुचारू रूप से चले।

IT सुरक्षा इंजीनियरिंग सिस्टम (IT security engineering systems)

स्टोरेज सिस्टम, उदाहरण के लिए, वर्चुअल वॉल्ट, किसी संगठन के अंदर कुछ क्लाइंट्स को रिकॉर्ड तक पहुंचने, निकालने, जोड़ने या बदलने की अनुमति देकर डेटा की सुरक्षा करते हैं।

  • IT सुरक्षा इंजीनियरिंग सिस्टम (IT security engineering systems) हमारे इलेक्ट्रॉनिक डेटा को हैक होने या तकनीकी आपदा के दौरान साफ (clear) होने से बचाते हैं।
  • इलेक्ट्रॉनिक सुरक्षा इंजीनियरिंग का मतलब है कि हमारे महत्वपूर्ण रिकॉर्ड अप्राप्य (unapproachable) रहेंगे।
  • डेटा नवाचार (Data innovation) हमारे कर्मचारियों की परेशानी को दूर करने के लिए कम्प्यूटरीकृत चक्र बनाकर हमारे संगठन की उत्पादकता में सुधार करता है।

इस प्रकार, हमारे प्रतिनिधियों को अलग-अलग चीजों पर एक शॉट (shot ) लेने की अनुमति है, जबकि पीसी उनकी रिपोर्ट चलाता है, प्रश्न बनाता है, कार्यों को ट्रैक करता है|

IT दूरस्थ कार्य को संभव बनाती है|

IT सिस्टम किसी संगठन के इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क को रिमोट एक्सेस देते हैं ताकि उनके कर्मचारी अपने घरों या किसी दूरस्थ स्थान से काम कर सकें। यह उपलब्धता संगठन की लाभप्रदता का निर्माण करने की अनुमति देती है क्योंकि कर्मचारी किसी भी मामले में, किसी भी स्थिति में, काम पूरा कर सकते हैं, जब वे वास्तव में कार्यस्थल पर नहीं होते हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग

यह तकनीक इतनी व्यापक है,कि इसका उपयोग केवल व्यवसायों तक ही सीमित नहीं है, IT के कुछ महत्वपूर्ण अनुप्रयोग समाज के अन्य क्षेत्रों में भी हैं। विभिन्न क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी (Technology) का लाभ उठाया जा रहा है और IT की भूमिका भी है, आइए विभिन्न क्षेत्रों में IT की भूमिका देखें।

सूचना प्रौद्योगिकी के अनुप्रयोग
Applications of Information Technology

1. शिक्षा (Education)

तकनीकी नवाचारों का उपयोग करते हुए, शिक्षक टैबलेट, सेल फोन, पीसी सहित इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से अभिभूत भविष्य के लिए अपनी समझ स्थापित कर सकते हैं, सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) सभी हाई स्कूल और कॉलेज छोड़ने वालों को भी रोकने में सहायता कर रही है।

2. वित्त (Finance)

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) के बिना, ऑनलाइन खरीदारी अकल्पनीय होगी, और बैंकों के लिए इन खरीद को सुरक्षित रखना अकल्पनीय होगा।

इसी तरह सूचना प्रौद्योगिकी ने किसी भी समय की तुलना में ऑनलाइन पैसे भेजना या प्राप्त करना तेज़ और आसान बना दिया है।

3. सुरक्षा (Security)

वेब पर किए गए अंतहीन आदान-प्रदान के साथ, वेब पर बहुत अधिक डेटा उपलब्ध है, उसे सुरक्षित रखना महत्वपूर्ण है।

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) आपकी ऑनलाइन जानकारी को सही चैनलों तक पहुंचने तक सुरक्षित रहने के लिए इसे व्यावहारिक बनाती है।

पासवर्ड और एन्क्रिप्शन का उपयोग करते हुए, सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) आपकी खुद की उन्नत जानकारी को छुपाती है, और इसे एक्सेस करने का एकमात्र तरीका उन कंपनियों के पास होता है, जिनके पास आपकी अनुमति है।

4. संचार (Communication)

सूचना प्रौद्योगिकी (Information Technology) के साथ, वैश्वीकरण (globalization) का विस्तार हुआ है। दुनिया को करीब लाया गया है, और ब्रह्मांड की अर्थव्यवस्था तेजी से एक अकेले निर्भर ढांचे (framework) में बदल रही है।

डेटा को दुनिया भर से तेजी से और प्रभावी ढंग से साझा किया जा सकता है, और लोग एक दूसरे के साथ विचार और डेटा साझा करते हैं।

5. रोजगार (Employment)

सूचना नवाचार (Information innovation) ने भी करियर के नए रास्ते खोले हैं। सॉफ़्टवेयर इंजीनियर, डेटा विश्लेषक, उपकरण और प्रोग्रामिंग डिज़ाइनर, और वेबसाइट डिज़ाइनर सभी डेटा नवाचार (Information innovation) के लिए अपनी ज़िम्मेदारियाँ देते हैं।

error: Content is protected !!