कंप्यूटर फंडामेंटल्स

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software)

Application-Software

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है (What is Application Software ?)

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software), कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर का एक उपवर्ग है जो यूजर द्वारा इच्छित काम को करने के लिए प्रयोग किया जाता हैं|अर्थात एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software) वे सॉफ्टवेयर होते हैं जो किसी एक विशेष कार्य को करने के लिए बनाए जाते हैं |

उदाहरण के लिए M.S. Office, Notepad, Media Player एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर हैं क्‍योंकि ये सभी किसी एक विशेष कार्य को करने के लिए बनाये जाते हैं। जैसे Media Player का कार्य विडियो एवं गानों को दिखाना हैं, तथा M.S. Office में आप सिर्फ ऑफिसियल कार्य कर सकते हैं तथा Notepad में आप केवल लिखने का कार्य ही कर सकते हों।

Application Software वे Software होते है जो User तथा Computer को जोड़ने का कार्य करते है|

Application Software Computer के लिए बहुत उपयोगी होते है यदि कंप्यूटर में कोई भी Application Software नहीं है तो हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य नहीं कर सकते है Application Software के बिना कंप्यूटर मात्र एक डिब्बा हैं| 

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के प्रकार (Types of Application Software)

एप्‍लीकेशन सॉफ्टवेयर को निम्‍नलिखित दो वर्गो में बॉंटा गया हैं –



  1. रेडीमेड सॉफ्टवेयर (Readymade Software)
  2. कस्टमाइज्ड सॉफ्टवेयर (Customized Software)

 

I. रेडीमेड सॉफ्टवेयर (Ready-made Software)

रेडीमेड सॉफ्टवेयर वे सॉफ्टवेयर होते हैं, जो बाजार में एक पैकेज (Package) के रूप में क्रय किये जा सकते हैं। इन सॉफ्टवेयर को निम्‍नलिखित प्रमुख उपवर्गो में रखा जा सकता हैं –

  1. डेटाबेस मैनेजमेन्‍ट सॉफ्टवेयर (Database Management Software)
  2. इलैक्‍ट्रानिक स्‍प्रेडशीट सॉफ्टवेयर (Electronic Spreadsheet Software)
  3. वर्ड-प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर (Word Processing Software)
  4.  डेस्‍कटॉप पब्लिशिग सॉफ्टवेयर (Desktop Publishing Software)
  5. एकान्‍उन्टिंग सॉफ्टवेयर (Accounting Software)
  6. कॉम्‍यूनिकेशन सॉफ्टवेयर (Communication Software)
  7. ग्राफिक्‍स सॉफ्टवेयर (Graphics Software)
  8. मल्‍टीमीडिया सॉफ्टवेयर (Multimedia Software)
  9. प्रेजेन्‍टेशन सॉफ्टवेयर (Presentation Software)

 

1.डेटाबेस मैनेजमेन्‍ट सॉफ्टवेयर (Database Management Software)

इस प्रकार के सॉफ्टवेयर का प्रयोग डेटा को स्‍टोर (Store), अपडेट (Update), मेन्‍टेन (Maintain) और मैनिपुलेट (Manipulate) करने के लिए किया जाता हैं। ये सॉफ्टवेयर डेटा को बाहरी तथा अनाधिकृत एक्‍सेसिंग (Unauthorised Accessing) से भी रोकते है तथा नेटवर्क के द्वारा डेटा की शेयरिंग (Sharing Of Data) की सुविधा भी प्रदान करते हैं। ये डेटा को लॉजिकल आर्डर (Logical Order) में व्‍यवस्थित रखते हैं तथा डेटा को एक्सिस (Access) एवं मैनीपुलेट (Manipulate) करने के लिए टूल्‍स (Tools) भी प्रदान करते हैं। कुछ डेटाबेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर में डेटा को क्‍वेरी (Query) के द्वारा एक्सिस एवं मैनीपुलेट (Manipulate) किया जाता हैं।

डेटाबेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर डेटा को काफी अधिक मात्रा में सरलता एवं सुचारू रूप से हैण्‍डल (Handle) कर सकते हैं तथा इसी कारणवश इस प्रकार के सॉफ्टवेयर का प्रयोग बड़ी-बड़ी संस्‍थाओं के द्वारा अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है।
उदाहरण के लिए, dBase, FoxPro, Access, Ingress, Oracle, Integra इत्‍यादि डेटाबेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर हैं।

2.इलैक्‍ट्रानिक स्‍प्रेडशीट सॉफ्टवेयर (Electronic Spreadsheet Software)

इलैक्‍ट्रानिक स्‍प्रेडशीट सॉफ्टवेयर का प्रयोग डेटा-एनालिसिस (Data Analysis) के लिए किया जाता हैं। ये डाटा को टैबुलर फॉर्म (Tabular Form) में व्‍यवस्थित करके, मैनीपुलेट (Manipulated) और एनालाइज (Analyze) करने की सुविधा प्रदान करता हैं।

स्‍प्रेडशीट (Spreadsheet) एक पेपर की शीट (Sheet) होती हैं, जो अनके पक्तियों (Rows) और कॉलम (Columns) में विभाजित होती हैं। स्‍प्रेडशीट कम्‍प्‍यूटर के द्वारा तैयार और प्रदर्शित की जाती हैं, इसीलिए इसे इलैक्‍ट्रानिक स्‍प्रेडशीट कहते हैं। इसमें डेटा को सेल्‍स (Cells) में व्‍यवस्थित किया जाता हैं। एक पंक्ति (Row) तथा एक कॉलम (Column) के समागम (Combination) को एक cell कहते हैं।

मूल रूप से , इलैक्‍ट्रानिक स्‍प्रेडशीट (Electronic Spreadsheet) , अकाउंट सम्‍बन्धित कार्यो के लिए प्रयोग में लाई जाती हैं, परन्‍तु आजकल इनका प्रयोग बजट (Budget) तैयार करने, फ्यूचर सेल (Future Sale) की भविष्‍यवाणी करने, परीक्षा की रिजल्टशीट (Result sheet) तैयार करने जैसे कार्यो के लिए किया जाता हैं। यह डेटा को ग्राफ (Graph) के रूप में दर्शानें की सुविधा भी प्रदान करता हैं, जिसके परिणामस्‍वरूप इनका प्रयोग सांख्यिकों अभिकल्‍पनों (Statistical Calculations) में भी किया जाता हैं। Lotus 1-2-3, Microsoft Excel,  Quattro Pro आदि इलैक्‍ट्रानिक स्‍प्रेडशीट के उदाहरण हैं।

3.वर्ड-प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर (Word Processing Software)

वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर का प्रयोग टैक्स्‍ट (Text) को प्रोसेस (Process) करने के लिए किया जाता हैं। इस सॉफ्टवेयर के द्वारा टैक्‍स्‍ट को इनपुट (Input), स्‍टोर (Store), एडिट (Edit), मैनीपुलेट (Manipulated) तथा प्रिन्‍ट (Print) भी किया जा सकता हैं। इन सॉफ्टवेयर में लिखे गये शब्‍दों की व्‍याकरण की जॉंच करना भी अति सरल होता हैं। इसमें आप टैक्‍स्‍ट के साइज और स्‍टाइल (Font Size and Style) को भी परिवर्तित किया जा सकता हैं। तथा फॉन्‍ट के रंग (Color) को भी इच्‍छानुसार बदला जा सकता हैं।

वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर का प्रयोग करके विभिन्‍न प्रकार के डाक्यूमेंट्स (Documents) जैसे, बायोडेटा, व्‍यापारिक पत्र, आवेदन, लीगल डॉक्‍यूमेंट (Legal Document), ऑर्गेनाइजेशनल चार्ट (Organisational Chart) इत्‍यादि बना सकते हैं। आधुनिक वर्ड-प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर, जैसे, MS-word के विभिन्‍न प्रकार की आकृतियाँ जैसे, वृत्‍त, आयत, लाइन इत्‍यादि सरलापूर्वक ड्रॉ (Draw) किए जा सकते हैं।

वर्ड-प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर को वर्ड-प्रोसेसर (Word Processor) भी कहा जाता हैं। WordStar, MS-Word, Word Perfect तथा Software वर्ड प्रोसेसर के कुछ प्रमुख उदाहरण हैं।

4. डेस्‍कटॉप पब्लिशिग सॉफ्टवेयर (Desktop Publishing Software)

डेस्‍कटॉप पब्लिशिंग सॉफ्टवेयर (DTP) का प्रयोग पब्लिशिंग इन्‍डस्‍ट्री (Publishing Industry) में किया जाता हैं। ये सॉफ्टवेयर टैक्‍स्‍ट के फॉर्मेट को कम्‍पोज (Compose) करने, पेज के लेआउट (Layout) का निर्धारण करने और ऑब्‍जेक्‍ट को ड्रॉ (Draw) करने की सुविधा प्रदान करता हैं।

DTP सॉफ्टवेयर ग्राफिक पैकेज (Graphic Package) से ग्राफिक ऑब्‍जेक्‍ट (Graphic Object) को ड्रा (Draw) करने जैसे, चार्ट (Chart), ग्राफ (Graph) और पिक्‍चर (Picture) को इम्‍पोर्ट (Import) करके, किसी भी डॉक्‍यूमेंट पेज इन्‍सर्ट (Insert) करने की सुविधा भी प्रदान करते हैं। आधुनिक DTP सॉफ्टवेयर में कैलेन्‍डर न्‍यूजलेटर, फ्लायर (Flyer), ब्रोशर (Brochure) इत्‍यादि फॉर्मेट अन्‍तनिर्मित होते हैं, जिन्‍हें प्रयोग कर किसी भी डॉक्‍यूमेंट में अति सरलता से सीधे-सीधे प्रयोग करके तैयार किया जा सकता हैं। Microsoft Publisher, PageMaker, Corel-Ventura इत्‍यादि प्रमुख DTP सॉफ्टवेयर के कुछ उदाहरण हैं।

5. एकान्‍उन्टिंग सॉफ्टवेयर (Accounting Software)

इस प्रकार के साफ्टवेयर पैकेज का उपयोग एकाउन्‍ट सम्‍बन्धि कार्यो को सम्‍पादित करने के लिए किया जाता हैं। ये सॉफ्टवेयर व्‍यापारिक संस्‍थाओं के लिए अति उपयोगी हैं। ये सॉफ्टवेयर निम्‍नलिखित सुविधाएँ प्रदान करते हैं-

  • इन्‍वेन्‍टरी कंट्रोल फैसिलिटी (Inventory Control Facility)
  • टैक्‍स प्‍लानर फैसिलिटी (Tax Planner Facility)
  • पे-रोल प्रोसेसिंग फैसिलिटी (Pay-Roll Processing Facility)
  • स्‍टॉक-कोटिंग फैसिलिटी (Stock Quoting Facility)
  • इनवॉइस क्रिएट करने की सुविधा (Facility of Creating Invoices)
  • डेटा को ग्राफ के माध्‍यम से दर्शाने की सुविधा (Facility of Representing Data with Graph)
  • Tally, Quicken इत्‍यादि एकाउन्टिंग सॉफ्टवेयर के कुछ प्रमुख उदाहरण हैं।

6. कॉम्‍यूनिकेशन सॉफ्टवेयर (Communication Software)

डेटा को एक कम्‍प्‍यूटर से दूसरे कम्‍प्‍यूटर पर भेजने के लिए कम्‍यूनिकेशन सॉफ्टवेयर (Communication Software) का उपयोग किया जाता हैं। उदाहरण के लिए, कम्‍प्‍यूटर फाइल को नोटबुक कम्‍प्‍यूटर (Note Book Computer) से डेस्‍कटॉप कम्‍प्‍यूटर (Desktop Computer) पर ट्रॉंसफर (Transfer) करने के Lap link नामक कम्‍यूनिकेशन सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता हैं।
Win Fax Pro 4.0 एक कम्‍प्‍यूनिकेशन सॉफ्टवेयर हैं।

7. ग्राफिक्‍स, मल्‍टीमीडिया और प्रेजेन्‍टेशन सॉफ्टवेयर (Graphics, Multimedia and Presentation Software)

वे सॉफ्टवेयर जो इनफॉरमेशन को पिक्‍चर (Picture) या ग्राफ (Graph) के रूप में प्रदर्शित करने के लिए प्रयोग किये जाते हैं उन्‍हें ग्राफिक्‍स सॉफ्टवेयर कहते हैं। ग्राफिक्‍स के द्वारा इन्‍फॉर्मेशन को समझना एवं समझाना, दोनों बड़े सरल हो जाते हैं। इसके माध्‍यम से 2-D एवं 3-D व्‍यू (View) भी आसानी से ड्रॉ (Draw) किए जा सकते हैं। Paintbrush, CorelDraw इत्‍यादि ग्रॉफिक सॉफ्टवेयर है।

8.मल्‍टीमीडिया सॉफ्टवेयर(Multimedia Software)

मल्‍टीमिडिया सॉफ्टवेयर के प्रयोग से किसी भी ग्राफिक्‍स को एनिमेट (Animate) किया जा सकता हैं। इस प्रकार के सॉफ्टवेयर की सहायता से साउण्‍ड (Sound) को क्रिएट (Create) तथा उसे किसी भी ऑब्‍जेक्‍ट से भी जोड़ा जा सकता हैं। इस प्रकार किसी भी ग्राफिक में एनीमेशन (Animation) तथा साउण्‍ड (Sound) डालकर उसे जीवंतता प्रदान करके अधिक सुन्‍दर एवं प्रभावशाली बनाया जा सकता हैं। Macromedia तथा Director मल्‍टीमीडिया सॉफ्टवेयर हैं।

9.प्रेजेन्‍टेशन सॉफ्टवेयर(Presentation Software)

प्रेजेन्‍टेशन सॉफ्टवेयर वे सॉफ्टवेयर होते हैं जो प्रस्‍तुति (Presentation) तैयार करने के लिए प्रयोग किये जाते हैं। प्रेजेन्‍टेशन के माध्‍यम से विचारों (Ideas) को प्रभावशाली रूप से प्रस्तुत किया जा सकता हैं। ग्राफिक सॉफ्टवेयर भी प्रेजेन्‍टेशन सॉफ्टवेयर के अन्‍तर्गत आते हैं।
PowerPoint और Haward Graphics प्रेजेन्‍टेशन सॉफ्टवेयर हैं।

II. कस्‍टमाइज्‍ड सॉफ्टवेयर (Customized Software)

इस प्रकार के सॉफ्टवेयर को यूजर के द्वारा निर्दिष्ट (Specified) आवश्‍यकताओं को पूरा करने के लिए विकसित किया गया हैं। भारतीय रेलवे आरक्षण तंत्र (Indian Railway Reservation System) के लिए प्रयुक्‍त सॉफ्टवेयर कस्‍टमाइज्‍ड सॉफ्टवेयर का उदाहरण हैं।
किसी एक संस्‍था या तंत्र के लिए लिखा गया कस्‍टमाइज्‍ड सॉफ्टवेयर का प्रयोग किसी दूसरी संस्‍था एवं तन्‍त्र के लिए नही किया जा सकता।

Application Software के उदाहरण 

 

सिलेबस के अनुसार नोट्स
DCA, PGDCA, O Level, ADCA, RSCIT, Data Entry Operator
यहाँ क्लिक करें