System Analysis and Design

What is System

इस पोस्ट में हम जानेगे की सिस्टम क्या है ,और इसकी विशेषताए क्या है ?

System

सिस्टम साधारण घटकों(components) का समूह है ,जो किसी निश्चित उद्देश्य को पूरा करने के लिए आपस में कम्यूनिकेट करते है| सिस्टम कई घटकों (components) से मिलकर बना होता है तथा सभी घटकों का अपना -अपना कार्य होता है |ये सभी घटक आपस में मिलकर, निश्चित उद्देश्य को पूरा करते है|

Example: कंप्यूटर एक सिस्टम का उदाहरण है जो कई घटकों से मिलकर बना होता है, जैसे Keyboard, Mouse, Monitor, C.P.U आदि सभी कंप्यूटर के घटक है जो आपस में जुड़े हुए है तथा यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को आउटपुट के रूप में स्क्रीन पर प्रदर्शित करते है |
“A System is a collection of elements or componets that are organized for a common purpose.”

सिस्टम की विशेषताए (characteristics of system)

1. Organization(संगठन)
2. Interaction (परस्पर क्रिया)
3. Interdependence(निर्भरता)
4. Integration(एकीकरण )
5. Central objective(केंद्रीय उद्देश्य )


  1. Organization:-किसी संगठन का तात्पर्य एक संरचना एवं उसके बीच के सम्बन्ध से है | किसी भी संगठन में बहुत से घटक होते है जो किसी कार्य को पूर्ण करते है |जैसे एक व्यापारिक प्रणाली में एक मुख्य प्रबंधक या मालिक होता है उससे नीचे प्रबंधक, कर्मचारी मजदूर आदि होते है यह सभी संरचनात्मक रूप से एक दुसरे से जुड़े होते है उसी तरह सिस्टम में भी एक से ज्यादा घटक होते है जो मिलकर किसी कार्य को करते है |
  2. Interaction: – Interaction का अर्थ है की प्रणाली के घटक एक दूसरे से जुड़कर एक कार्य पूर्ण करते है |
    Example: – कंप्यूटर सिस्टम में सी.पी.यू. कीबोर्ड से जुड़ा होता है, कीबोर्ड से प्राप्त इनपुट के आधार पर सी.पी.यू. कार्य करता है सिस्टम में घटक एक दूसरे से जुड़कर कार्य को पूर्ण करते है |
  3. Interdependence:-एक सिस्टम के सभी घटक एक दूसरे पर निर्भर होते है एक के बिना दूसरे का काम पूरा नहीं हो सकता |
  4. Integration:-प्रणाली के विविध घटकों के बीच समन्वय होता है | सिस्टम के सभी घटकों के बीच सही तालमेल सिस्टम की सफलता के लिए आवश्यक है ,प्रणाली के घटक अलग –अलग कार्य करते हुए भी एक दूसरे से जुड़ कर बड़े कार्य को पूर्ण करते है ,उसे प्रणाली की integration कहा जा सकता है |
  5. Central objective:-कोई भी प्रणाली किसी एक कार्य या लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बनाईं जाती है | किसी प्रणाली में उसका लक्ष्य स्पष्ट एवं वास्तविक होने चाहिए |हमेशा लक्ष्य की प्राप्ति पूर्णतः नहीं हो सकती है ,लेकिन प्रणाली इस तरह से डिजाईन की जाती है की लक्ष्य की पूर्ण प्राप्ति हो इसके लिए प्रणाली के सभी घटकों को उद्देश्य या लक्ष्य की सही जानकारी होना आवश्यक है| प्रणाली में बहुत से भाग या उपभाग होते है ,जिनके प्रत्येक के अलग–अलग लक्ष्य हो सकते है ,लेकिन उन सभी का एक मुख्य उद्देश्य प्रणाली के मूल या मुख्य लक्ष्य को पूरा करना है किसी प्रणाली की सफलता उसके मुख्या लक्ष्य की प्राप्ति से मापी जाती है|

Related Post

Related Post




Computer Hindi Notes Android App