VB.Net

Introduction of Visual Basic.Net

Introduction of Visual Basic.Net

Computer के विकास मे third generation मे कई नई languages की खोज की गई। जिनमे COBOL,FOTRAN etc. महत्वपूर्ण हैं। उस समय develop की गई सभी language उन लोगों के लिए काफी कठिन थी जो की प्रोग्रामिंग सीखना चाहते थे। इस समस्या को दूर करने के लिए Denis Ritchi और Thomas Kurtz ने 1964 मे एक नई language develop की जिसे ही BASIC (Beginners All Purpose Symbolic Instruction Code) के नाम से जाना जाता है। यह language उन सभी लोगों के लिए काफी सरल थी जो की programming मे नए थे या उसे सीखना चाहते थे। उस समय यह language Command Based Interface Applications बनाने मे use होती थी। Microsoft Corporationके आने के बाद इसका प्रयोग DOS operating system के programsबनाने की लिए किया गया।


Microsoft के Windows Operating Systemके आने के बाद Windows programming के लिए BASIC का visual version बनाया गया जिसे की Visual Basic नाम दिया गया। इसमे windows programming के लिए सभी tools provide किए गए और कई नए coding features जोड़े गए। 1991 मे इसका पहला version Visual Basic 1.0 releaseकिया गया। इसके बाद Visual Basic 2.0,3.0,4.0,5.0 और अंत मेVisual Basic 6.0 को 1998 मे release किया गया।

VB6 बहुत ही popular version था। इसके बाद Microsoft नेprogramming मे काफी परिवर्तन करते हुये .Net framework नाम से 2002 मे नई programming technology releaseकी। जिसमे windows और web से जुड़े बहुत से बदलाव किए गए। इसके बाद Visual Basic को .Net के साथ जोड़ते हुये 2003 मे .Net 1.1 के साथ visual studio 2003 मे Visual Basic.Net को release किया गया। इसमे VB6 के features के साथ कई नए features जोड़े गए। इसके बाद .Net के नए versions के साथ की इसमे कई नए features जोड़ दिये गए हैं। इसमे निम्नलिखित features पाये जाते है।

Features of Visual Basic.Net

  1. Programming for GUI: इसका प्रयोग Graphical User Interface के लिए किया जाता है। यह language Windows operating system के लिए Windows Applications, Websites etc. बनाने की सुविधा देता है।
  2. Integrated Development Environment: यह language Visual Studio का प्रयोग करते हुये Integrated Development Environmentप्रदान करता है जिसका प्रयोग GUI के लिए प्रोग्राम बनाने मे होता है। यह कई विंडो प्रदान करता है जो programs बनाने मे मदद करती है। जैसे –properties window, toolbox etc.
  3. User Interface Design: यह language user interface को design करने की सुविधा देती है। इसमे windows के लिए form डिज़ाइन करने के लिए Windows form Designer होता है जो की Toolbox की सहायता से UI design करने मे सहायता करता है।
  4. Rapid Application Development: VB.Net Rapid application Development को support करता है। इसमे user को सभी codes नहीं लिखने पड़ते। यह automatically बहुत सी coding कर देती है। जैसे form Design, events के code automatic आ जाते है।
  5. Object Oriented Programming: VB.Net Object Oriented language है। यह OOPs के सभी features को support करती है।
  6. Auto Complete: VB.Net का code editor auto complete की सुविधा देता है। इसके code editor मे code लिखते समय codes को यह automatic पूरा कर देती है जिससे user का समय बच जाता है।
  7. Auto Quick Information: इस feature के कारण code लिखते समय user function library को बिना ओपन किए ही  methods के Syntax, properties का description, variable declaration etc. को एक पीली strip मे tip के रूप मे दिखा देती है। इसे auto quick info कहते है।
  8. Auto List of Members: इसमे object का नाम लिखने के बाद dot लगते ही उसके सभी members (property और methods) की list display हो जाती है जिसमे user किसी भी member को select कर सकता है।
  9. Auto Syntax Check: इसका code editor automatically syntax error को check कर तुरंत error दिखाता है।
  10. Auto Compile: यह programs को automatically compile कर error दिखाता है। इसमे logical errors को छोड़कर सभी errors दिखाई देती है।
  11. Auto Help: इसमे error आने पर यह help देकर उसे सुधारने मे भी मदद करता है। जैसे integer के integ लिखने पर यह “Change Integ to Integer” message दिखाता है।
  12. Help System: यह online और offline दोनों प्रकार से help प्रदान करती है। यह internet से online और MSDN के द्वारा offline help प्रदान करता है।

 


Latest update on Whatsapp




Download our Android App

Computer Hindi Notes Android App