Computer Knowledge in Hindi

Computer Knowledge in Hindi

आज की बदलती हुई दुनिया में टेक्नोलॉजी ने अपना एक अलग ही मुकाम हासिल कर लिया हैं हमारे चारो तरफ टेक्नोलॉजी की दुनिया फैली हुई हैं अब अगर बात टेक्नोलॉजी की हो तो भला कंप्यूटर कैसे पीछे रह सकता हैं कंप्यूटर अब एक ऐसा डिवाइस बन गया हैं जिसके बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं हम लोग सुबह से ले कर शाम तक, शाम से लेकर रात तक कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी से घिरे हुए हैं और इनका प्रतिदिन उपयोग करते हैं चाहे वह कंप्यूटर हो या लैपटॉप, मोबाइल हो या टेबलेट|

इसी के साथ स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूट, बैंक, रेलवे आदि के लिए भी कंप्यूटर एक महत्वपूर्ण विषय बन गया हैं इसलिए आपको कंप्यूटर के साथ साथ उससे जुडी हुई चीजो के बारे में भी मालूम होना अवशयक हैं इस पोस्ट के द्वारा हम आपको कंप्यूटर से जुडी हुई कुछ बेसिक जानकारी प्रदान करना चाहते हैं तो आइये जानते हैं Computer Knowledge हिंदी में  जो निम् हैं-


बेसिक कंप्यूटर नोट्स (Basic Computer Notes)

कंप्यूटर हार्डवेयर (Computer Hardware)

हार्डवेयर वे होते हैं जिन्हें हम देख सकते हैं और छु सकते हैं| कंप्यूटर पर कार्य करने के लिए हमारे पास हार्डवेयर का होना बहुत जरुरी हैं हार्डवेयर के बिना हम कंप्यूटर पर कोई काम नहीं कर सकते हैं जैसे – कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर, प्रिंटर ये हार्डवेयर कहलाते हैं तो अब आप समझ ही गए होंगे की हार्डवेयर कितना जरुरी होता हैं इस पोस्ट में हम इन्ही डिवाइस के बारे में चर्चा करेंगे-

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर (Computer Software)

सॉफ्टवेयर वे प्रोग्राम होते हैं जिनके द्वारा हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य कर सकते हैं बिना सॉफ्टवेयर के हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य नहीं कर सकते हैं वैसे तो कंप्यूटर में कई प्रकार के कंप्यूटर होते हैं लेकिन इस पोस्ट में हम उन सॉफ्टवेयर की चर्चा करेंगे जो महत्वपूर्ण हैं-

Number Systems of Computer (नंबर सिस्टम)

जब कंप्यूटर आये हुए थे तब कंप्यूटर पर सिर्फ गणनाए ही की जा सकती थी लेकिन धीरे धीरे कंप्यूटर में सुधार किया गया और आज कंप्यूटर का प्रयोग हर जगह किया जा रहा हैं हम कंप्यूटर को कई प्रकार के कमांड देते हैं पर कंप्यूटर हमारी भाषा को नहीं समझता हैं कंप्यूटर सिर्फ बाइनरी भाषा को समझता हैं जो 0 और 1 के रूप में होती हैं इस पोस्ट में आप नंबर सिस्टम से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करेंगे|

संचार (Communication)

Computer Virus and Antivirus (कंप्यूटर वायरस और एंटीवायरस)

कंप्यूटर में जहाँ नित नए नए अविष्कार हुए वही वायरस का भी अविष्कार हुआ| वायरस एक प्रोग्राम हैं 1986 में पहले वायरस के आने पर कंप्यूटर उपयोगकर्ता के मन में एक अलग ही भय पैदा कर दिया था लोगों को अपने डाटा और कंप्यूटर के ख़राब होने का दर लगा रहता हैं पर कुछ समय बाद ही वायरस को रोकने के लिए एंटीवायरस का आविष्कार हुआ जिससे लोगों को डाटा खोने और कंप्यूटर ख़राब होने की चिन्ताओ से छुटकारा मिल गया तो इस पोस्ट में हम कुछ वायरस और एंटीवायरस के बारे में जानेंगे-

Differences (अंतर)

कंप्यूटर से जुड़े हुए कुछ अंतर जिससे आप दो चीजों, शब्दों के बीच अच्छे से अंतर समझ सकते हैं जो निम्न हैं-

Internet (इन्टरनेट)

इंटरनेट दुनिया भर के लोगों के लिए रोजमर्रा की जिंदगी का एक तेजी से महत्वपूर्ण हिस्सा है। इन्टरनेट आज के समय में एक बहुत ही महत्वपूर्ण साधन बन गया हैं इन्टरनेट ने ही पूरी दुनिया को जोड़कर रखा हैं जिससे लोग आपस में जुड़ कर अपने विचारो, भावनाओं और सूचनाओ. का आदान प्रदान कर सकते हैं| तो इस पोस्ट में हम इन्टरनेट से जुडी कुछ बातों के बारे में जानेंगे-

     

    %d bloggers like this: